close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

IND vs WI: दूसरे वनडे में टीम इंडिया को कड़ी चुनौती देने को तैयार वेस्टइंडीज

त्रिनिदाद में टीम इंडिया वेस्टइंडीज के साथ सीरीज का दूसरा वनडे मैच खेलेगी. 

IND vs WI: दूसरे वनडे में टीम इंडिया को कड़ी चुनौती देने को तैयार वेस्टइंडीज
भारत और वेस्टइंडीज के बीच दूसरा वनडे मैच त्रिनिदाद में पोर्ट ऑफ स्पेन के क्वींस पार्क में होगा. (फोटो : फाइल)

नई दिल्ली: पहला वनडे बारिश में धुलने के बाद  भारत और वेस्टइंडीज (India vs West Indies) के बीच खेली जाने वाली तीन मैचों की वनडे सीरीज का दूसरा मुकाबला रविवार को यहां के पोर्ट ऑफ स्पेन के क्वींस पार्क ओवल मैदान में खेला जाएगा. पहला वनडे मैच बारिश के कारण रद्द कर दिया गया था जिसमें केवल पहली पारी के 13 ओवर ही फेंके जा सके थे. टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली का इरादा टी-20 सीरीज में क्लीन स्वीप करने के बाद अब वनडे सीरीज में भी जीत हासिल करने का है. 

टी-20 सीरीज जीत से भारत के हौसले बुलंद
विश्व कप की हार को भुलाते हुए टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज को तीन टी-20 मैचों की सीरीज में 3-0 से हराया है और दौरे की सबसे बड़ी चुनौती को बखूबी पार किया है. वनडे सीरीज में वेस्टइंडीज की टीम उतनी ताकतवर नहीं मानी जाती है, लेकिन विश्व कप में उसने कई मैचों का रुख पलटा है और कई नजदीकी मुकाबले भी गंवाए हैं. टीम बेशक पिछले साल भारत दौरे पर आई वेस्टइंडीज टीम से मजबूत ही है.  यही वजह होगी कि विराट कोहली इस सीरीज को हलके में नहीं सकेंगे. 

यह भी पढ़ें: IND vs WI: क्रिस गेल नहीं खेल पाएंगे अपने घरेलू मैदान पर आखिरी मैच

ज्यादा बदलाव की गुंजाइश कम ही है विराट के पास लेकिन...
वनडे में भारत की स्पिन जोड़ी कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल ने वापसी की है, लेकिन पहले वनडे में केवल कुलदीप को मौका दिया गया था. वहीं क्रुणाल पांड्या के स्थान पर केदार जाधव वनडे टीम में आए हैं. पहले मैच में भारत के बल्लेबाजों को परखने का मौका विराट और टीम प्रबंधन को बिलुकल नहीं मिला था. विराट के पास टीम में बदलाव करने के ज्यादा और मजबूत कारण नहीं है. फिर भी एक दो बदलाव तय हैं. 

नंबर चार पर होंगी सबकी निगाहें
इस बार भी सबकी निगाहें नंबर चार के बल्लेबाज पर होंगी. सबसे बड़ी समस्या नंबर-4 बल्लेबाजी क्रम है. टीम के पास इस नंबर के लिए इस समय चार बल्लेबाज- केएल राहुल, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, ऋषभ पंत और केदार जाधव हैं. पहले मैच में विराट ने पंत के साथ अय्यर और जाधव को मौका दिया था. देखना होगा कि वे नंबर चार पर वे किसे उतारेंगे. पंत ने आखिरी टी-20 मैच में अर्धशतक भी जमाया था. ऐसे में वनडे में भी यह उम्मीद की जा सकती कि है कि पंत नंबर-4 पर खेलेंगे.

यह भी पढ़ें: IND vs WI: टेस्ट सीरीज के लिए वेस्टइंडीज टीम का ऐलान, क्रिस गेल को नहीं मिली जगह

मिडिल ऑर्डर को मजबूती की जरूरत
भारत की एक और समस्या उसका कमजोर मिडिल ऑर्डर रहा है. इस सीरीज में हार्दिक पांड्या और महेंद्र सिंह धोनी भी नहीं हैं जो कई बार टीम को संभालते दिखे हैं. ऐसे में अय्यर, पांडे और जाधव के पास अपने आप को मध्य क्रम के मजबूत बल्लेबाज के तौर पर स्थापित करने के लिए इस सीरीज से बेहतर मौका नहीं मिल सकता. पांडे ने हालांकि टी-20 में निराश किया था. तीनों का एक साथ खेलना संभव नहीं हैं. विराट एक बार फिर अय्यर को मौका दे सकते हैं. 

बॉलिंग में लेने होंगे कुछ फैसले
गेंदबाजी में चहल और कुलदीप में से कौन अंदर होगा, इस पर कोहली को माथापच्ची करनी होगी क्योंकि विराट जहां चहल पर भरोसा करते हैं, वहीं कुलदीप ने पहले मैच में गेल को आउट कर एक बार फिर अपनी अहमियत जता दी है. रवींद्र जडेजा को दूसरे वनडे में भी मौका दिया जा सकता है. वहीं, तेज गेंदबाजी में कोहली तीन प्रमुख गेंदबाजों - भुवनेश्वर, सैनी और शमी के साथ के जा सकते हैं. खलील ने पहले मैच में तीन ओवरों में 27 रन दिए थे.

विंडीज के पास भी कम नहीं चुनौतियां
विंडीज टीम में भी कुछ बदलाव हुए हैं. वनडे प्रारूप में कप्तानी जेसन होल्डर के जिम्मे है. केरन पोलार्ड टीम में नहीं हैं जबकि रोस्टन चेज, क्रिस गेल, केमार रोच और शाई होप टीम में आए हैं. गेल पहले मैच में केवल चार रन के निजी स्कोर पर कुलदीप यादव के शिकार बने थे. ऐसे में गेल को स्पिन के खिलाफ संभल कर रहना होगा. वहीं ईवान लुईस बढ़िया फॉर्म में हैं और वे इसे जारी रखने की पूरी कोशिश करेंगे. वैसे भी लुईस का भारत के खिलाफ अच्छा रिकॉर्ड है. वे लय में आ जाएं तो भारत के लिए मुश्किलें खड़ी कर देते हैं. टीम की बल्लेबाजी का दारोमदार होप, गेल, शिमरन हेटमायेर, इविन लुइस पर मुख्य रूप से होगा. इन चारों के ऊपर टीम के टॉप ऑर्डर को संभालने की जिम्मेदारी होगी. मिडिल और लोअर ऑर्डर में कप्तान होल्डर और कार्लोस ब्रैथवेट को बड़ी भूमिका निभानी होगी. विराट की तरह होल्डर भी अपनी टीम में बड़े बदलाव करने के मूड में नहीं होंगे.

टीमें (संभावित) :
भारत : विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन,  श्रेयस अय्यर, रवींद्र जडेजा, केदार जाधव, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, मनीष पांडे, ऋषभ पंत, लोकेश राहुल, खलील अहमद, युजवेंद्र चहल, नवदीप सैनी.

वेस्टइंडीज : जेसन होल्डर (कप्तान), फैबियान एलेन, कार्लोस ब्रैथेवट, जॉन कैम्पबेल, रोस्टन चेस, शेल्डन कॉट्रेल, क्रिस गेल, शिमरन हेटमायर, शाई होप, इवान लुइस, कीमो पॉल, निकोलस पूरन, केमार रोच, ओशाने थॉमस.