Breaking News

INDvsWI: 6 साल पहले 250 रुपए के लिए खेलते थे सैनी, गंभीर ने पहचाना, विराट ने कराया डेब्यू

हरियाणा के नवदीप सैनी भारत के लिए टी20 मैच खेलने वाले 80वें खिलाड़ी बन गए हैं. 

INDvsWI: 6 साल पहले 250 रुपए के लिए खेलते थे सैनी, गंभीर ने पहचाना, विराट ने कराया डेब्यू
करनाल के नवदीप सैनी घरेलू क्रिकेट में दिल्ली के लिए खेलते हैं. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: भारत ने विश्व कप की नाकामी भुलाकर क्रिकेट वर्ल्ड में अपने नए अभियान की शुरुआत कर दी है. इसके साथ ही भारत को एक नया इंटरनेशनल क्रिकेटर मिल गया है. भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शनिवार (3 अगस्त) को वेस्टइंडीज के खिलाफ टी20 मुकाबले में टॉस जीता. उन्होंने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग करने का निर्णय लिया. साथ ही घोषणा की कि इस मैच में नवदीप सैनी भी खेल रहे हैं. यह नवदीप सैनी का किसी भी तरह का पहला इंटरनेशनल मैच (टी20, वनडे और टेस्ट) है. इसके साथ ही नवदीप भारत के लिए टी20 मैच खेलने वाले 80वें खिलाड़ी बन गए हैं. 

26 साल के नवदीप आईसीसी विश्व कप के लिए भारतीय टीम के रिजर्व गेंदबाज चुने गए थे. इससे पहले वे आईपीएल में बेहतरीन गेंदबाजी कर चर्चा में आए थे. हालांकि, इस गेंदबाज का क्रिकेट करियर ज्यादा बड़ा नहीं है. हरियाणा के नवदीप छह साल पहले टेनिस बॉल से शौकिया क्रिकेट खेलते थे. वे अच्छे गेंदबाज थे और इस कारण कई टीमें उन्हें अपनी ओर से खेलने के लिए प्रति मैच 250 से 500 रुपए तक देती थीं. वह तो एक दिन गौतम गंभीर की नजर इस गेंदबाज पर पड़ गई और उनकी किस्मत बदल गई. 

नवदीप सैनी ने दिसंबर 2013 में रोशनआरा क्रिकेट मैदान पर दिल्ली की रणजी टीम के अभ्यास सत्र से पहले कभी लाल गेंद से गेंदबाजी नहीं की थी. गौतम गंभीर ने उन्हें देखा और चयनकर्ताओं से उन्हें दिल्ली की टीम में शामिल करने को कहा. नवदीप, जो करनाल के थे, उन्हें शुरू में दिल्ली के चयनकर्ता अपनी टीम में शामिल नहीं करना चाहते थे. लेकिन गंभीर के प्रयासों से नवदीप को दिल्ली की टीम में जगह मिल गई. इसके बाद इस गेंदबाज ने पीछे मुड़कर नहीं देखा. 

नवदीप सैनी का करियर करीब छह साल का है. इस दौरान उन्होंने 43 फर्स्ट क्लास, 41 लिस्ट ए और 34 टी20 मैच खेले. उन्होंने इस साल आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू की ओर से बेहतरीन प्रदर्शन किया था. आईपीएल में विराट कोहली ही उनके कप्तान थे. कोहली ने उन्हें करीब से देखा और उनका हौसला बढ़ाया. नवदीप सैनी विश्व कप के दौरान भारतीय टीम का हिस्सा नहीं थे. इसके बावजूद वे टीम इंडिया के साथ रहे. भारतीय चयनकर्ताओं ने सैनी को रिजर्व गेंदबाज के तौर पर चुना था.