INDvsAUS: टीम इंडिया की हार पर बोले कोहली- हजम नहीं हो रहा अंतिम ओवरों में इतने मौके गंवाना

भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी के कुछ ओवरों में कई कैच छोड़े. विकेटकीपर ऋषभ पंत ने भी स्टंपिंग का मौका गंवाया. 

INDvsAUS: टीम इंडिया की हार पर बोले कोहली- हजम नहीं हो रहा अंतिम ओवरों में इतने मौके गंवाना
विराट कोहली मोहाली में खेले गए चौथे वनडे में महज सात रन बनाकर आउट हो गए. (फोटो: PTI)

मोहाली: भारतीय क्रिकेट टीम रविवार को 358 रन का विशाल स्कोर बनाने के बाद भी हार गई. ऑस्ट्रेलिया ने मेजबान भारत (India vs Australia) को चार विकेट से हराया. इसके साथ ही उसने पांच मैचों की सीरीज 2-2 से बराबर कर ली. हार के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा कि मैच में मौके गंवाने को लेकर चिंता जताई. उन्होंने कहा कि टीम ने आखिरी के कुछ ओवरों में पांच मौके गंवाए. किसी भी अच्छी टीम के लिए ऐसी बात पचाना मुश्किल है. 

विराट कोहली ने मैच के बाद कहा, ‘विकेट पूरे समय अच्छा था, लेकिन पिछले दोनों मैचों में ओस के कारण परेशानी हुई.  लेकिन यह कोई बहाना नहीं है. अंतिम कुछ ओवरों में पांच मौके गंवाने की बात पचाना मुश्किल है. एशटन (टर्नर) ने शानदार पारी खेली. (पीटर) हैंड्सकॉम्ब ने शानदार पारी खेली और (उस्मान) ख्वाजा ने पारी को संभाले रखा.’ भारतीय टीम ने आखिरी के कुछ ओवरों में कई कैच छोड़े. शिखर धवन ने आसान कैच टपकाया तो विकेटकीपर ऋषभ पंत ने भी स्टंपिंग का मौका गंवाया. 

यह भी पढ़ें: INDvsAUS: एश्टन ​टर्नर ने टर्न किया गेम, भारत की हार में पहली बार हुई ये 5 चीजें

मौके चूकने के बारे में कोहली ने कहा, ‘स्टंपिंग का मौके अहम होते हैं. हम मैदान पर थोड़े सुस्त पड़ गए थे. डीआरएस पर फैसला हैरानी भरा था, इसमें जरा भी निरंतरता नहीं थी. यह अब हर मैच में चर्चा का विषय बन गया है. यह परेशानी भरा बन सकता है, हमें अपना सर्वश्रेष्ठ करना होगा. हमने इस ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ दो हैरानी भरे मैच खेले. इससे निश्चित रूप से दुख होगा.’ ओस की भूमिका पर उन्होंने कहा, ‘पिछले मैच में हमें बताया गया था कि इस पर ओस होगी. उनकी टीम काफी बेहतर खेली, यह स्वीकार करना होगा. उन्होंने सही जगह हिट किया और अपनी रणनीति का बेहतर क्रियान्वयन किया. हम पहले बल्लेबाजी करना चाहते थे, इसमें कोई संदेह नहीं था.’

वहीं ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान एरॉन फिंच ने कहा, ‘उस्मान और हैंड्सकॉम्ब के बीच भागीदारी अहम रही. पीटर हैंड्सकॉम्ब के लिए पहला शतक जड़ना शानदार रहा. मुझे लगता है कि हमने ऑस्ट्रेलिया में 300 रन के लक्ष्य का पीछा किया था, हमने यहां भी यही प्रक्रिया अपनाने की कोशिश की. इसमें कोई असंमजस नहीं था, हम जानते थे कि हम इसे प्रति ओवर 10-12 होने पर भी हासिल कर सकते थे.’ 

यह भी पढ़ें: INDvsAUS: अपने एक्शन की वजह से मुश्किल में घिर सकते हैं जसप्रीत बुमराह

एरॉन फिंच ने कहा, ‘मुझे लगता है कि यह खिलाड़ियों के मौके को हासिल करने के बारे में था. एश्टन अपना दूसरा मैच खेल रहे थे और इस तरह की पारी खेलना शानदार है. पीटर अपना 16वां या 17वां मैच खेल रहा है. उस्मान भी वापसी कर रहा है. इन खिलाड़ियों द्वारा मौके का फायदा उठाना शानदार रहा.’ आस्ट्रेलियाई पारी के शतकवीर पीटर हैंड्सकॉम्ब (117 रन) ने अपनी टीम के सीरीज में बराबरी करने के बाद कहा, ‘यह शानदार अहसास है. मेरी भूमिका इसे जहां तक संभव हो, अंत तक ले जाने की कोशिश करने की थी जो काफी विशेष थी. उज्जी (उस्मान ख्वाजा) और मैं ज्यादा बात नहीं करते हैं. हम एक दूसरे को अपना खेल खेलने देते हैं.’ 

ओस के कारण बल्लेबाजी पर पड़ने वाले असर पर पीटर हैंड्सकॉम्ब ने कहा, ‘जब ओस पड़नी शुरू हुई तो हमने नोटिस किया कि गेंद इतनी ज्यादा स्पिन नहीं हो रही थी जिससे हमें अपना नैसर्गिक खेल खेलने में मदद मिली. मैक्सी (ग्लेन मैक्सवेल) ने आज अच्छी भूमिका निभाई और मुझ पर से दबाव ले लिया. एश्टन टर्नर शानदार खिलाड़ी है, हमने बिग बैश लीग में देखा कि उसने कितना बढ़िया प्रदर्शन किया. उसका आत्मविश्वास इससे बढ़ेगा ही.’ एश्टन टर्नर को मैन आफ द मैच चुना गया. 

(भाषा)