Zee Rozgar Samachar

जानिए, आशीष नेहरा ने क्यों ईशांत के साथ भारत के पेसर्स की तारीफ के बांधे पुल

 आशीष नेहरा का कहना है कि उन्हें ईशांत को भारतीय आक्रमण की अगुवाई करते देख अच्छा लगा

जानिए, आशीष नेहरा ने क्यों ईशांत के साथ भारत के पेसर्स की तारीफ के बांधे पुल
आशीष नेहरा भारतीय तेज गेंदबाजों के प्रदर्शन से काफी खुश हैं. (फाइल फोटो)

मुंबई : टीम इंडिया के इंग्लैंड दौरे की टेस्ट सीरीज के दौरान पहले टेस्ट में भारत के गेंदबाजी के प्रदर्शन की तारीफ हो रही है. एक समय में दूसरी पारी में भारत के गेंदबाजों ने इंग्लैंड के 87 रन पर ही 7 विकेट गिरा दिए थे. हालाकि इंग्लैंड ने फिर 180 रन बनाकर टीम इंडिया को 194 रनों का लक्ष्य दिया जिसे भारतीय बल्लेबाज हासिल नहीं कर सके और टीम ने 162 रनों पर आउट होकर यह मैच गंवा दिया. 

भारत के पूर्व तेज गेंदबाज आशीष नेहरा का मानना है कि भारत के पास मजबूत तेज गेंदबाजी आक्रमण है और ईशांत शर्मा को पहले टेस्ट में इसकी अगुवाई करते देखकर अच्छा लगा. ईशांत ने बर्मिंघम में पहले टेस्ट में सात विकेट लिेए हालांकि भारत को 31 रन से पराजय झेलनी पड़ी. 

अब 6-7 पेसर्स हैं भारत के पास
नेहरा ने कहा, ‘‘हमारे पास कई विकल्प है लेकिन सबसे अहम बात गुणवत्ता है. हमारे पास छह सात तेज गेंदबाज हैं और एक या दो पीछे भी है जो बेहतरीन हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘पहले टेस्ट में हमने 20 विकेट लिेए और ईशांत शर्मा जैसे अनुभवी गेंदबाज को अगुवाई करते देखकर अच्छा लगा.’’

नेहरा ने कहा, ‘‘मोहम्मद शमी चोटिल था और वापसी करना आसान नहीं होता लेकिन उसने शानदार गेंदबाजी की. उमेश यादव काफी प्रतिभाशाली है. जसप्रीत बुमराह ने अच्छा प्रदर्शन किया है और वनडे में भुवनेश्वर कुमार नंबर एक गेंदबाज है.’’ 

सैनी सिराज भी कम नहीं 
उन्होंने कहा, ‘‘नवदीप सैनी और मोहम्मद सिराज भी पीछे नहीं है. दोनों भारत ए टीम का हिस्सा रहे हैं और मैने रायल चैलेंजर्स बेंगलूर के साथ भी उन्हें देखा है. दोनों काफी प्रतिभाशाली हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पास इस दौरे पर काफी अनुभवी गेंदबाजी आक्रमण है.’’ नेहरा ने कहा कि हरफनमौला हार्दिक पंड्या गेंदबाज के तौर पर निखरे हें लेकिन अभी भी उन्हें सहारे की जरूरत है. उन्होंने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि वह टेस्ट या टी20 या वनडे में पांचवें गेंदबाज के रूप में उतरता है तो उसे सहारे की जरूरत होती है. वह दस ओवर लगातार निरंतरता के साथ गेंदबाजी नहीं कर सकता. उसके प्रदर्शन में सुधार की जरूरत है.’’ 

दूसरे टेस्ट में निराश किया टीम इंडिया ने
दूसरे टेस्ट का हाल कुछ दूसरा रहा. बारिश के कारण दूसरे दिन केवल 35.2 ओवर का ही खेल हो सका था जिसमें टीम इंडिया की पहली पारी केवल 107 रन पर सिमट गई थी. हालात का लाभ उठाते हुए जेम्स एंडरसन ने  इंग्लैंड की ओर से सबसे ज्यादा पांच विकेट  लिए. उनके लॉर्ड्स में 99 टेस्ट विकेट हो गए हैं. पहली पारी में भारत की ओर से सबसे ज्यादा रन रविचंद्रन अश्विन ने बनाए. उन्होंने 29 रनों की पारी खेली. उनके बाद सबसे ज्यादा 23 रन कप्तान विराट कोहली (23) रन बनाए.

वहीं मैच के तीसरे दिन हालात काफी बदल गए लंच तक 89 रनों पर 4 विकेट गंवाने वाली इंग्लैंड ने चाय तक 5 विकेट 230 रन बनाए फिर 81 ओवर तक 6 विकेट पर 257 रन बनाकर 250 रनों की बढ़त ले ली थी. दिन के दूसरे और तीसरे सत्र में भारतीय गेंदबाज विकेट के लिए तरसते दिखे. 

पहले दिन बारिश ने मैच होने नहीं दिया
मैच का पहला दिन बारिश की भेंट चढ़ गया था और बिना एक भी गेंद फेंके रद्द कर दिया गया था. एंडरसन ने 20 रन देकर पांच विकेट लिए. क्रिस वोक्स को दो सफलताएं मिलीं. स्टुअर्ट ब्रॉड और सैम कुरैन को एक-एक विकेट मिला. इस मैच में सब कुछ इंग्लैंड के पक्ष में हुआ सिवाए फील्डिंग के. इंग्लैंड के फील्डर अगर आए मौकों को लपक लेते तो टीम इंडिया काफी पहले ही आउट हो गई होती.

(इनपुट भाषा)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.