IPL-12: रोहित शर्मा ने तोड़ा धोनी का तिलिस्म, IPL के चारों खिताब धोनी को हराकर जीते
topStorieshindi

IPL-12: रोहित शर्मा ने तोड़ा धोनी का तिलिस्म, IPL के चारों खिताब धोनी को हराकर जीते

रोहित शर्मा आईपीएल के सबसे सफल कप्तान बन गए हैं. वहीं, एमएस धोनी के नाम पांच फाइनल हारने का रिकॉर्ड दर्ज हो गया है. 

IPL-12: रोहित शर्मा ने तोड़ा धोनी का तिलिस्म, IPL के चारों खिताब धोनी को हराकर जीते

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट में जब भी कप्तानी की बात आती है तो सबसे पहले महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) का नाम आता है. धोनी को ना सिर्फ चतुर कप्तान माना जाता है, बल्कि उन्हें ‘कैप्टन कूल’ का रुतबा भी हासिल है. लेकिन धीरे-धीरे एक और नाम उभरा है, जिन्हें नया ‘कैप्टन कूल’ कहा जा रहा है. यह नाम रोहित शर्मा (Rohit Sharma) का है. उन्होंने रविवार को मुंबई (Mumbai Indians) को आईपीएल का खिताब दिलाया. इसके साथ ही वे आईपीएल इतिहास के सबसे सफल कप्तान बन गए हैं. 

आईपीएल में सिर्फ एक टीम ऐसी है, जिसने चार बार खिताब जीता है. यह टीम मुंबई है. दिलचस्प बात यह है कि मुंबई ने आईपीएल शुरू होने के शुरुआती पांच साल में एक भी खिताब नहीं जीता था. लेकिन इसके बाद उसने अगले सात साल में चार खिताब (2013, 2015, 2017, 2019) अपने नाम कर लिए. कोई शक नहीं कि मुंबई के इस करिश्माई प्रदर्शन का श्रेय उसके कप्तान रोहित शर्मा को जाता है. 

यह भी पढ़ें: सचिन तेंदुलकर बोले- हालात की बेहतर समझ रोहित को विशेष कप्तान बनाती है

मुंबई इंडियंस ने आईपीएल के चारों खिताब रोहित शर्मा की कप्तानी में जीते हैं. आईपीएल की और कोई टीम या कप्तान चार खिताब नहीं जीत सका है. चेन्नई तीन खिताब (2010, 2011, 2018) के साथ दूसरे नंबर पर है. चेन्नई ने तीनों खिताब धोनी की कप्तानी में जीते हैं. दो-दो खिताब कोलकाता और हैदराबाद की टीमों ने जीते हैं. एक खिताब राजस्थान की टीम ने जीता है. कप्तानों की बात करें तो कोलकाता ने गौतम गंभीर की कप्तानी में दोनों खिताब जीते हैं. रोहित शर्मा, एमएस धोनी और गौतम गंभीर के अलावा कोई भी कप्तान दो खिताब नहीं जीत सका है. 

मुंबई ने पहला खिताब 2013 में जीता था. तब उसने फाइनल में चेन्नई की टीम को हराया था. इसके बाद वह 2015 में चैंपियन बनी. इस साल भी उसने फाइनल में चेन्नई को ही हराया. इन दोनों ही फाइनल में रोहित शर्मा मुंबई और धोनी चेन्नई के कप्तान थे. इसके बाद मुंबई ने 2017 में खिताब जीता. इस बार उसने फाइनल में पुणे सुपरजाएंट्स को हराया. इस बार भी मुंबई के कप्तान रोहित थे और विरोधी टीम में एमएस धोनी थे. हालांकि, इस बार कप्तान धोनी नहीं, स्टीवन स्मिथ थे. मुंबई ने अब चौथी बार धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई को हराकर खिताब जीत लिया है. 

यह भी पढ़ें: बेटियों को घर से बाहर खेलने नहीं जाने देते अफरीदी, कहा- नारीवादी लोग जो चाहें, कह सकते हैं

एमएस धोनी के नाम पांच फाइनल हारने का रिकॉर्ड भी दर्ज हो गया है. चेन्नई की टीम 2008, 2010, 2013, 2015 और 2019 का फाइनल हारी है. धोनी 2008 से ही चेन्नई के कप्तान हैं. जाहिर है, वे चेन्नई जब भी फाइनल हारी, उसके कप्तान एमएस धोनी ही थे. 

Trending news