10 साल बाद क्यों हारी कीवी टीम, बताया खुद कप्तान ने

विलियमसन ने यहां कहा कि भारत ने टी20 श्रृंखला के पहले मैच में उनकी टीम को हर जगह पछाड़ दिया.

10 साल बाद क्यों हारी कीवी टीम, बताया खुद कप्तान ने
केन विलियमसन को हार्दिक पांड्या ने अपनी पहली ही गेंद पर आउट कर दिया. photo : IANS

नयी दिल्ली : न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने यहां कहा कि भारत ने टी-20 श्रृंखला के पहले मैच में उनकी टीम को हर स्तर पर पछाड़ दिया. इसके साथ ही उन्होंने खिलाड़ियों द्वारा छोड़े गये कैचों पर भी निराशा व्यक्त की. मेजबान भारत ने बुधवार को इस मैच में न्यूजीलैंड को 53 रन से शिकस्त देकर सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली. विलियमसन ने कहा, ‘‘तैयारियों के हिसाब से हमारे लिये मुश्किल हालात थे, लेकिन अनुभव को देखते हुये हम इसका बहाना नहीं बना सकते.’

टी-20 के इतिहास में पहली बार भारत की टीम ने न्यूजीलैंड की टीम को हराया. 2007 में दोनों टीमें पहली बार आमने सामने आई थीं.  उन्होंने कहा, ‘जब आप भारत आते है और शाम में खेलते है, तो ज्यादातर मैदानों पर आपको ओस से जूझना पड़ता है. खिलाड़ियों को इसका अनुभव है. मैं कोई बहाना नहीं बनाना चाहता, हम बहुत खराब खेले और शानदार भारतीय टीम ने हर विभाग में हमें पछाड़ दिया.’ न्यूजीलैंड ने भारतीय पारी के दौरान तीन कैच टपकाए, जिसमें सलामी बल्लेबाजों शिखर धवन और रोहित शर्मा का कैच भी शामिल है और दोनों बल्लेबाजों ने इसका फायदा उठाते हुये शानदार हाफ सेंचुरी लगाने के साथ रिकार्ड साझेदारी भी की.

युवराज ने नेहरा की विदाई पर लिखा भावुक कर देने वाला ये बड़ा मैसेज

विलियम्सन ने कहा, ‘जैसा की मैने बताया कि हम हर विभाग में पिछड़ गये. इसमें फील्डिंग भी शामिल है. हमें कई बार अपने फील्डिंग पर गर्व होता है, लेकिन टी-20 क्रिकेट में और बेहतर करना होगा. छूटे कैचों ने मैच पर बड़ा असर डाला, दोनों बल्लेबाजों ने बड़े स्कोर किये और भारतीय टीम 200 रन से ज्यादा स्कोर करने में कामयाब रही जो इस मैदान के लिये काफी बड़ा था.’ विलियमसन ने भारतीय तेज गेंदबाज जोड़ी भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह की तारीफ करते हुये उन्हें विश्व का सबसे शानदार गेंदबाज बताया.

VIDEO : आखिरी मैच में देखिए नेहरा की शानदार फील्डिंग, कोहली भी हो गए हैरान

उन्होंने कहा, ‘वे दोनों अच्छे गेंदबाज हैं. मैच में उन्हें शानदार शुरुआत मिला, जिससे हमारी मुश्किले बढ़ गयी. गेंद स्विंग हो रही थी और पिच से तेज गेंदबाजों को थोड़ी मदद मिल रही थी. उनके आक्रमक रवैये से हमें डिफेंसिव रवैया अपनाना पड़ा क्योंकि उन्होंने हमे दवाब में ला दिया था.’