close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लसिथ मलिंगा के नाम दर्ज है ऐसा रिकॉर्ड, जो किसी भी बॉलर का हो सकता है सपना

लसिथ मलिंगा 26 जुलाई को अपना आखिरी वनडे इंटरनेशनल मैच खेलेंगे. 

लसिथ मलिंगा के नाम दर्ज है ऐसा रिकॉर्ड, जो किसी भी बॉलर का हो सकता है सपना
मलिंगा के एक्शन पर कई लोग हमेशा से ही सवाल उठाते रहे थे, लेकिन उनका एक्शन पूरी तरह से लीगल था.(फोटो :PTI)

नई दिल्ली: श्रीलंका के मशहूर तेज गेंदाबाज लसिथ मलिंगा (Lasith Malinga) ने संन्यास की घोषणा कर दी. इस के साथ ही इंटरनेशनल क्रिकेट में एक युग की समाप्ति हो गई. मलिंगा को यार्करमैन कहा जाता था. उनकी यार्कर इतनी सटीक थीं कि डेथ ओवर्स में बल्लेबाज उन्हें खुल कर नहीं खेल पाते थे. उनकी यार्कर में स्लो यार्कर, वाइड यार्कर जैसी विविधता बल्लेबाज को पूरी तरह से बांध कर रख देती थी. एक अजीब से एक्शन के कारण कई बार मलिंगा पर सवाल उठे. लेकिन जांच के बाद उनका एक्शन लीगल ही साबित हुआ. इसके बाद भी उनके एक्शन पर सवाल उठाए जाते रहे. इसके बाद भी मलिंगा ने क्रिकेट के दुनिया में खास मुकाम हासिल किया और कई रिकॉर्ड्स भी अपने नाम किए, जिनमें एक बहुत खास है. 

क्या है वह खास रिकॉर्ड
मलिंगा दुनिया के एकमात्र गेंदबाज हैं जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में लगातार चार गेंदों पर चार विकेट लिए हैं. यह उपलब्धि मलिंगा ने कहीं और नहीं बल्कि 2007 के विश्व कप में हासिल की थी. उन्होंने उस टूर्नामेंट के सुपर 8  मैच में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ लगातार चार गेंदों पर चार विकेट लिए थे. इसके बावजूद वे अपनी टीम को जीत नहीं दिला सके थे. मलिंगा ने शॉन पोलक, एंड्रयू हॉल, जैक कालिस और मखाया नतिनी को एक के बाद एक आउट किया था और अपनी टीम को जीत के नजदीक भी ले आए थे लेकिन अंततः मैच दक्षिण अफ्रीका के नाम रहा. 

यह भी पढ़ें: सबसे घातक बॉलर ने किया संन्यास का ऐलान, राहत की सांस लेंगे दुनियाभर के बैट्समैन

कैसे लिए थे वो चार विकेट
इस मैच में श्रीलंका की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 209 रन बनाए थे. दक्षिण अफ्रीका के लिए कार्ल लैंग्वेल्ट ने इस पारी में 5 विकेट लिए थे. इसके जवाब में दक्षिण अफ्रीका की टीम भी जैक कालिस की शानदार बैटिंग के कारण जीत के पास पहुंच गई थी. 44.4 ओवर तक टीम के 5 विकेट पर 206 रन बन भी गए थे. यहां से टीम को जीत के लिए केवल 5 रन चाहिए थे. तभी मलिंगा का जादू चल गया. मलिंगा ने पहले शॉन पोलक को स्लोअर बॉल पर बोल्ड किया. इसके बाद एंड्रयू हॉल को उन्होंने शानदार यार्कर पर थरंगा के हाथों लपकवाया. फिर 47वें ओवर की पहली ही गेंद पर जैक कालिस को संगकारा से विकेट के पीछे कैच दिलाकर मलिंगा ने अपनी हैट्रिक पूरी की. मलिंगा यहीं नहीं रुके और अगली गेंद पर एक बेहतरीन यार्कर पर मखाया नतिनी को भी बोल्ड कर इतिहास रच दिया. 

मलिंगा ने 225 वनडे मैचों में 29.02 के औसत से कुल 335 विकेट लिए हैं वे श्रीलंका के लिए सबसे ज्यादा वनडे विकेट लेने वाले बॉलर्स में तीसरे नंबर के गेंदबाज हैं. इसके अलावा 30 टेस्ट मैचों में मलिंगा ने 33.15 के औसतसे 101 विकेट लिए हैं. उन्होंने दो बार विश्व कप में हैट्रिक लेने की उपलब्धि हासिल की है.