BREAKING NEWS

World Cup: भारत-पाक मैच के टिकट के लिए आए 4 लाख आवेदन, स्टेडियम में आ सकते हैं सिर्फ 25 हजार दर्शक

पुलवामा हमले के बाद बहिष्कार की मांग के बीच 16 जून को होने वाले भारत-पाक मैच का जलवा प्रशंसकों के बीच बरकरार है.

World Cup: भारत-पाक मैच के टिकट के लिए आए 4 लाख आवेदन, स्टेडियम में आ सकते हैं सिर्फ 25 हजार दर्शक
भारत बनाम पाकिस्तान के टिकटों के आवेदकों की संख्या 400000 से अधिक है जो काफी बड़ी संख्या है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट विश्व कप में होने वाले मैच के बहिष्कार की मांग के बीच मैनचेस्टर में 16 जून को होने वाले इस मैच का जलवा प्रशंसकों के बीच बरकरार है. ओल्ड ट्रैफर्ड में 25000 दर्शकों की क्षमता के बावजूद टिकटों के लिए 4,00,000 से अधिक लोगों ने आवेदन किया है.

हरभजन सिंह जैसे शीर्ष भारतीय क्रिकेटरों ने पाकिस्तान के खिलाफ राउंड रोबिन मुकाबले के बहिष्कार की मांग की है जबकि चेतन चौहान जैसे अनुभवी चाहते हैं कि भारत पूरे टूर्नामेंट के बहिष्कार की धमकी देकर आईसीसी पर दबाव बनाए. बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले में 40 जवानों के शहीद होने के बाद पाकिस्तान के साथ खेल रिश्ते खत्म करने की मांग कर रहे हैं.

वर्ल्डकप 2019 में पाकिस्तान को बैन करवाने की तैयारी, आईसीसी पर दबाव डालेगा BCCI
आईसीसी विश्व कप के टूर्नामेंट निदेशक स्टीव एलवर्थी ने लंदन में प्रचार कार्यक्रम के दौरान बताया कि भारत और पाकिस्तान के बीच ग्रुप चरण में होने वाले मैच के टिकटों की मांग इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले मैच और लॉर्ड्स में होने वाले फाइनल से भी अधिक है.

WION Global Summit: पाकिस्तान से खेलने पर बोले लक्ष्मण- यह वक्त सेना के साथ खड़े होने का है
ईएसपीएन क्रिकइंफो ने एलवर्थी के हवाले से कहा, ‘‘इस मैच (भारत बनाम पाकिस्तान) के टिकटों के आवेदकों की संख्या 400000 से अधिक है जो काफी बड़ी संख्या है. स्टेडियम में सिर्फ 25000 दर्शक आ सकते हैं. इसलिए काफी लोग निराश होंगे.’’

एलवर्थी ने बताया कि इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाले मुकाबले के लिए 230000 से 240000 लोगों ने आवेदन किया है जबकि फाइनल के लिए आवेदन करने वालों की संख्या 260000 से 270000 के बीच है.

(इनपुट-भाषा)

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.