close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

BCCI पर भड़के सौरव गांगुली, कहा- अब भगवान ही भारतीय क्रिकेट की मदद करे

हरभजन सिंह भी अपने पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के पक्ष में उतर आए हैं. उन्होंने कहा कि भगवान ही भारतीय क्रिकेट को बचाए. 

BCCI पर भड़के सौरव गांगुली, कहा- अब भगवान ही भारतीय क्रिकेट की मदद करे
सौरव गांगुली. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण, कभी भारतीय क्रिकेट के ‘फैब फोर’ कहे जाते थे. करीब एक दशक तक इन चारों ने ही भारतीय बल्लेबाजी का संभाले रखा और दुनिया में अपनी धाक बनाई. लेकिन अब यही चारों बीसीसीआई (BCCI) से मिली नोटिस के जवाब दे रहे हैं. इन चारों पर ही हितों के टकराव के आरोप लग रहे हैं. एक दिन पहले ही राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को ऐसी ही नोटिस भेजे जाने की खबर आई. इससे पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) बेहद गुस्से में हैं. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि हितों का टकराव... तो अब भारतीय क्रिकेट में नया फैशन बन गया है. 

सौरव गांगुली ने हितों के टकराव के मुद्दे पर राहुल द्रविड़ को नोटिस भेजने के मामले में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई ) को आड़े हाथ लिया है. उन्होंने अपनी निराशा ट्वीट कर जारी की. गांगुली ने अपने पोस्ट में कहा, ‘भारतीय क्रिकेट में नया फैशन... हितों का टकराव... खबरों में बने रहने का सबसे अच्छा तरीका.. भगवान भारतीय क्रिकेट की मदद करे... अब द्रविड़ को हितों के टकराव के मुद्दे पर BCCI के एथिक्स ऑफिसर ने नोटिस भेजा है.’ राहुल द्रविड़ को हाल ही में नेशनल क्रिकेट अकादमी (NCA) का प्रमुख बनाया गया है. 

 

बीसीसीआई (BCCI) द्वारा दिग्गज क्रिकेटरों के साथ किए जा रहे इस बर्ताव से ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह भी खुश नहीं है. उन्होंने भी ट्वीट कर इस मामले पर अपनी निराशा जाहिर की. उन्होंने लिखा, ‘सचमुच?? पता नहीं यह कहां जा रहा है. अगर ऐसा ही रहा तो आप भारतीय क्रिकेट में अच्छे लोग नहीं रख सकेंगे. ऐसे लीजेंड को नोटिस भेजना उनका अपमान करने जैसा है. क्रिकेट को ऐसे बेहतर लोगों की सर्विस की जरूरत है. सही में, भगवान ही भारतीय क्रिकेट को बचाए. 

यह भी पढ़ें: नो बॉल की गलतियां रोकने के लिए ICC का बड़ा फैसला, अब टीवी अंपायर करेंगे फैसला

बता दें कि एनसीए (NCA) के प्रमुख राहुल द्रविड़ को BCCI के एथिक्स अधिकारी डीके जैन की ओर से भेजे गए नोटिस में हितों के टकराव के मुद्दे पर सफाई मांगी गई है. जैन ने यह फैसला मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ (MPCA) के सदस्य संजीव गुप्ता द्वारा की गई शिकायत के बाद लिया. MPCA के आजीवन सदस्य गुप्ता ने पहले भी सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस. लक्ष्मण के खिलाफ भी हितों के टकराव की शिकायत की थी. द्रविड़ को 16 अगस्त तक अपना जवाब दाखिल करना होगा.

संजीव गुप्ता ने अपनी शिकायत में कहा है कि द्रविड़ जो हाल ही में NCA के निदेशक नियुक्त किए गए हैं वह इंडिया सीमेंट्स के उपाध्यक्ष भी हैं. इस कंपनी के पास इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) चेन्नई सुपर किंग्स का मालिकाना हक भी है. ऐसे में यह हितों के टकराव का मामला बनता है.