U19 World Cup: यशस्वी जायसवाल का एक और कमाल, ऐसा करने वाले पहले खिलाड़ी बने

ICC U19 Cricket World Cup: भारतीय टीम आज आईसीसी अंडर-19 वर्ल्ड कप के फाइनल में बांग्लादेश से खेल रही है. 

U19 World Cup: यशस्वी जायसवाल का एक और कमाल, ऐसा करने वाले पहले खिलाड़ी बने

नई दिल्ली: शानदार फॉर्म में चल रहे यशस्वी जायसवाल ने आईसीसी अंडर-19 विश्व कप (ICC U19 World Cup 2020) में अपने 400 रन पूरे कर लिए हैं. उन्होंने रविवार को बांग्लादेश के खिलाफ फाइनल मुकाबले में 88 रन की बेहतरीन पारी खेली. वे ऐसे पहले खिलाड़ी हैं, जिसने मौजूदा अंडर-19 विश्व कप  (ICC U19 Cricket World Cup) में 400 रन का आंकड़ा छुआ है. कोई और बल्लेबाज 300 रन भी नहीं बना सका है. 

यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) ने बांग्लादेश के खिलाफ फाइनल मुकाबले में 88 रन की पारी खेली. उन्होंने 121 गेंद की अपनी पारी में 8 चौके और 1 छक्का जमाया. यह टूर्नामेंट में उनका चौथा अर्धशतक है. उन्होंने इससे पहले पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल में 105 रन की नाबाद पारी खेली थी. टूर्नामेंट में उनका न्यूनतम स्कोर 29 (नाबाद) है, जो उन्होंने जापान के खिलाफ बनाया था. 

यह भी पढ़ें: U19 World Cup Final: 21 रन के लिए 7 विकेट गंवा बैठा भारत, 180 का स्कोर भी नहीं बना सका

यशस्वी जायसवाल ने पूरे टूर्नामेंट (U19 Cricket World Cup) में छह मैच खेले. उन्होंने छह पारियों में 200 की औसत से 400 रन बनाए. उनका सर्वोच्च स्कोर 105 रन रहा. यशस्वी टूर्नामेंट में सिर्फ दो बार आउट हुए. वे फाइनल के अलावा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आउट हुए थे. तब वे 62 रन की पारी खेलकर पैवेलियन लौटे थे. 

यह भी पढ़ें: Bushfire Bash: लारा-पोंटिंग के बाद सायमंड्स की तूफानी पारी, 1 रन से हारी युवी की टीम

यशस्वी जायसवाल के पास अंडर-19 विश्व कप के फाइनल में शतक लगाने वाला तीसरा भारतीय बनने का मौका था, जिसे वे नहीं भुना पाए. उन्मुक्त चंद (Unmukt Chand) और मंजोत कालरा (Manjot Kalra) ऐसा कर चुके हैं. उन्मुक्त चंद ने 2012 में खेले गए फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 111 रन बनाए थे. भारत ने यह मैच छह विकेट से जीता था. इसके छह साल बाद 2018 में मंजोत कालरा ने अंडर-19 विश्व कप के फाइनल में शतकीय पारी खेली. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही 101 रन की नाबाद पारी खेली थी. भारत ने यह मैच आठ विकेट से जीता था. 

भारतीय टीम आईसीसी अंडर-19 विश्व कप ( U19 World Cup) के इतिहास में आठवीं बार फाइनल में पहुंची है. उसने चार बार खिताबी जीत हासिल की है, जबकि तीन बार हार का सामना करना पड़ा है. आठवीं बार का नतीजा आना बाकी है. अंडर-19 विश्व कप 13वीं बार खेला जा रहा है. इसकी शुरुआत 1988 में हुई थी.