• 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    354बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    89कांग्रेस+

  • अन्य

    99अन्य

विराट और धोनी की तारीफ की इयान चैपल ने, कई दिग्गजों से ऐसे की तुलना

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल का मानना है कि एमएस धोनी अब भी दुनिया के बेस्ट वनडे फिनिशर है, वहीं विराट सचिन तेंदुलकर से आगे निकल जाएंगे. 

विराट और धोनी की तारीफ की इयान चैपल ने, कई दिग्गजों से ऐसे की तुलना
विराट कोहली और एमएस धोनी इस समय दुनिया के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों में गिने जाते हैं.

नई दिल्ली: हाल में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में इतिहास रचते हुए टेस्ट और वनडे सीरीज जीती. वनडे सीरीज में टीम इंडिया के लिए पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने लंबे समय बाद अपनी बल्लेबाजी की लय वापस हासिल करते हुए वे फिनिशर की भूमिका में भी नजर आए. धोनी के ‘फिनिशिंग टच’ के बारे में आलोचकों ने पिछले कुछ समय में कई सवाल उठाते रहे हैं. वहीं ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल अब भी विश्व कप विजेता पूर्व कप्तान को 50 ओवर के प्रारूप में ‘सर्वश्रेष्ठ फिनिशर’ मानते हैं. वहीं चैपल का मानना है कि टीम इंडिया के वर्तमान कप्तान विराट कोहली भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड भी तोड़ सकते हैं.

धोनी को हाल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनकी विजयी पारियों के लिये ‘मैन आफ द सीरीज’ चुना गया था. इससे भारत ने ऑस्ट्रेलिया में पहली वनडे सीरीज अपने नाम की. चैपल ने पूर्व भारतीय कप्तान की सूझबूझ और इतने लंबे समय तक खेलने के जज्बे को सलाम किया. चैपल ने एक वेबसाइट में अपने कॉलम में लिखा, ‘‘किसी के पास भी उनकी तरह मैच को फिनिश करके जीत दिलाने वाली सूझबूझ नहीं है. कई बार मैंने सोचा, ‘‘इस बार उन्होंने थोड़ा देर से शाट लगाया’’, लेकिन थोड़ी देर में हैरान हुआ कि उन्होंने दो ताकतवर शाट लगाकर भारत को रोमांचक जीत दिला दी.’’ 

Ian Chappell

चैपल ने कहा, ‘‘वे बाहर से जिस तरह के शांत चित्त दिखते हैं, वह कोई भ्रम नहीं है क्योंकि ऐसे हालात में वे जिस तरह से खुद को बदलते हैं, वह इस बात का सबूत है कि उनका दिमाग ऐसी परिस्थिति में बेहतरीन ढंग से काम करता है.’’ 

धोनी ने बेवन को भी पीछे छोड़ा
माइकल बेवन को खेल के महान सूत्रधारों में से एक माना जाता है, उनसे तुलना करते हुए चैपल ने कहा कि धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के छठे नंबर के इस बल्लेबाज को पीछे छोड़ दिया है. उन्होंने लिखा, ‘‘बेवन मैच का अंत चौके से करते थे, लेकिन धोनी छक्के से करते हैं. जहां तक विकेटों के बीच में दौड़कर रन लेने की बात है तो आप निश्चित रूप से बेवन को सबसे पहले मानेंगे लेकिन 37 साल की उम्र में भी धोनी खेल में सबसे तेज रन लेने वाले खिलाड़ियों में शामिल हैं.’’

चैपल ने कहा, ‘‘बल्लों में सुधार की अनुमति देने और टी20 क्रिकट में खेलने के फायदे से, आंकड़ों के हिसाब से धोनी बेवन से बेहतर है. इसमें कोई बहस नहीं हो सकती कि धोनी सर्वश्रेष्ठ वनडे फिनिशर हैं.’’ पिछले कुछ समय में आलोचकों ने धोनी की धीमी पारियों की आलोचना की थी लेकिन इस खिलाड़ी ने एडीलेड में गगनचुंबी छक्का जड़कर उन सभी को चुप कर दिया. 

ऐसे की विराट की तारीफ
सर्वश्रेष्ठ वनडे बल्लेबाज की बहस के संबंध में चैपल को लगता है कि विराट कोहली महान खिलाड़ी विव रिचर्ड्स, सचिन तेंदुलकर और एबी डिविलियर्स को पीछे छोड़ देंगे और अपने करियर का अंत ‘एकदिवसीय मैचों के सर डोनाल्ड ब्रैडमैन’ के तौर पर करेंगे. उन्होंने लिखा, ‘‘कोहली अपनी वनडे बल्लेबाजी के तरीके से मुझे रिचर्ड्स की याद दिलाते हैं, वे शानदार शाट लगाते हैं और कई पारंपरिक स्ट्रोक्स पर निर्भर होते हैं. अगर वे इसी मौजूदा रन गति से खेलना जारी रखेंगे तो वे तेंदुलकर के कुल शतकों को पार कर लेंगे और इस लिटिल माटर से करीब 20 शतक आगे रहेंगे.’’ उन्होंने लिखा, ‘‘अगर वे इन शानदार उपलब्धियों को हासिल करने के करीब भी पहुंच जाते हैं तो इसमें कोई शक नहीं कि वे वनडे बल्लेबाजों के सर डोनल्ड ब्रैडमैन बन जाएंगे.’’