close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सहवाग का ट्वीट- मुझे सिलेक्टर बनना है, फैंस मजेदार अंदाज में बोले- क्या आपके पास 3D क्वालिटी है?

वीरू के इस ट्वीट पर फैंस ने भी मजेदार अंदाज में जवाब दे रहे हैं.

सहवाग का ट्वीट- मुझे सिलेक्टर बनना है, फैंस मजेदार अंदाज में बोले- क्या आपके पास 3D क्वालिटी है?
वीरू के इस ट्वीट पर कुछ इस तरह के मजेदार जवाब आ रहे हैं.

नई दिल्ली: भारतीय टीम के पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए चुटीले अंदाज में अपनी हाजिरजवाबी के लिए भी जाने जाते हैं. दुनियाभर में वीरू के नाम से मशहूर इस खिलाड़ी ने सोमवार (12) अगस्त को एक ट्विटर पर टीम इंडिया का सिलेक्टर बनने की इच्छा जाहिर की. इस पर उनके फैंस ने भी मजेदार अंदाज में जवाब दिए.

सहवाग ने ट्वीट में लिखा, ''मुझे सिलेक्टर बनना है...कौन मुझे मौका देगा?'' इस पर मजेदार रिप्लाई देते हुए एक यूजर ने लिखा, ''आप चयनकर्ता बनने के योग्य नहीं हैं. आपका प्रदर्शन काफी अच्छा है. चयनकर्ता के लिए कमजोर प्रदर्शन करना पड़ता है.''

वहीं, सहवाग के ट्विट पर रिप्लाई में एक फैन ने पूछा, '' क्या आपके 3D क्वालिटी है?'' दरअसल, भारतीय वर्ल्ड कप टीम की घोषणा के समय चयनकर्ताओं ने विजय शंकर को थ्री डायमेंशन (3D) यानी बैटिंग, बॉलिंग और फील्डिंग के लिए बेहतर खिलाड़ी बताया था. इस पर तंज कसते हुए रायडू ने ट्विटर पर लिखा, ''वर्ल्ड कप देखने के लिए थ्री डी चश्मे के सेट का ऑर्डर दिया है.''  

साथ ही एक अन्य फैन ट्वीट करते हैं, ''कोच बन जाओ फिर खिलाड़ियों का चयन करते रहना.''  

इसके अलावा सहवाग ने सोमवार को ट्विटर पर 2011 में आज ही के दिन हुई एक घटना के बारे में बताया और ऐसा करते हुए उन्होंने महान वैज्ञानिक आर्यभट को श्रद्धांजलि भी दी. महान आर्यभट ने ही शून्य की खोज की थी. भारत ने 2011 में इंग्लैंड का दौरा किया था और इस सीरीज में मेजबान टीम ने 4-0 से क्लीन स्वीप किया था. इस दौरे पर बर्मिघम में हुए तीसरे टेस्ट मैच की दोनों परियों में सहवाग बिना कोई रन बनाए पवेलियन लौट गए थे. पहली पारी में उन्हें स्टुअर्ट ब्रॉड ने आउट किया था जबकि दूसरी पारी में उनका विकेट जेम्स एंडरसन को मिला.

वीरेंद्र सहवाग ने उड़ाया खुद का मजाक, जब महान गणितज्ञ आर्यभट्ट को किया याद

इस घटना को याद करते हुए सहवाग ने ट्वीट किया, "आज के दिन आठ साल पहले, मैं बर्मिघम में इंग्लैंड के खिलाफ दो बार शून्य पर आउट हुआ था यह सब तब हुआ जब मैं दो दिन का सफर तय करने के बाद इंग्लैंड पहुंचा और फिर 188 ओवर फील्डिंग की. आर्यभट्ट को श्रद्धांजलि. यदि असफल होने का प्रतिशत जीरो हो तो आप क्या करेंगे? अगर आपने जान लिया है तो ऐसा करें."

उस मैच में भारतीय टीम पहली पारी में 224 और दूसरी पारी में 244 रन बनाए थे जबकि मेजबान टीम ने पहली पारी में सात विकेट के नुकसान पर 710 रन जड़े थे. इंग्लैंड ने मैच पारी और 242 रनों से अपने नाम किया.

आपको बता दें कि वीरेंद्र सहवाग ने 2015 में क्रिकेट से संन्यास लिया. उन्होंने भारत के लिए 104 टेस्ट 251 वनडे और 19 टी-20 मैच खेले.