India Open 2019: सिंधु-श्रीकांत पर भारत का दारोमदार, इंतानोन-जुईरुई ली-एक्सलेसन भी दावेदार

साइना नेहवाल पेट में तकलीफ के कारण इस टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले रही हैं. टूर्नामेंट में कुल 292 खिलाड़ी उतरेंगे.

India Open 2019: सिंधु-श्रीकांत पर भारत का दारोमदार, इंतानोन-जुईरुई ली-एक्सलेसन भी दावेदार
ओलंपिक चैंपियन चीन की जुईरुई ली इंडिया ओपन से एक दिन पहले अभ्यास करती हुईं. (फोटो: PTI)

नई दिल्ली: भारत का सबसे बड़ा बैडमिंटन टूर्नामेंट इंडिया ओपन (India Open 2019) मंगलवार से शुरू हो रहा है. साढ़े तीन लाख डॉलर इनामी राशि वाले इस टूर्नामेंट में भारत की उम्मीदें पीवी सिंधु (PV Sindhu) और किदांबी श्रीकांत (Kidambi Srikanth) पर लगी हुई हैं. सिंधु और श्रीकांत यह टूर्नामेंट पहले भी जीत चुके हैं. समीर वर्मा पहले खिताब की तलाश में उतरेंगे. साइना नेहवाल पेट में तकलीफ के कारण इस टूर्नामेंट में नहीं खेलेंगी. टूर्नामेंट का फाइनल रविवार (31 मार्च) को खेला जाएगा. यह टूर्नामेंट इंदिरा गांधी स्टेडियम कॉम्पलेक्स के केडी जाधव हॉल में होगा. 

इंडिया ओपन (India Open), एचएसबीसी बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड टूर 500 टूर्नामेंट की सीरीज का हिस्सा है. इस साल इस टूर्नामेंट 13 देशों के 292 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं. ओलंपिक रजत पदक विजेता सिंधु को इसके महिला सिंगल्स में शीर्ष वरीयता दी गई है. उन्होंने पिछले साल दिसंबर में विश्व टूर फाइनल्स का खिताब जीता था. उन्हें खिताब जीतने का प्रबल दावेदार माना जा रहा है. उन्हें टूर्नामेंट में जापान की खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी का भी फायदा मिलने की उम्मीद है. हालांकि, थाईलैंड की पूर्व विश्व चैंपियन रातचानोक इंतानोन (Ratchanok Intanon) और चीन की जुईरुई ली (Xuerui LI),  ही बिंगजाओ समेत कई खिलाड़ी ऐसी हैं, जो सिंधु का रास्ता रोकने में सक्षम है. 

यह भी पढ़ें: मुक्केबाज विजेंदर सिंह की आंख पर लगी चोट, अमेरिका में गंवाना पड़ा ये बड़ा मौका

2017 में खिताब जीत चुकी हैं पीवी सिंधु
पीवी सिंधु ने 2017 में इंडिया ओपन का खिताब जीता था. वे पिछले साल भी इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचने में कामयाब रही थीं. इस बार वे अपने अभियान की शुरुआत हमवतन मुग्धा आग्रे के खिलाफ करेंगी. क्वार्टर फाइनल में उनकी भिड़ंत डेनमार्क की मिया ब्लिकफेल्ट से हो सकती है. अगर वे आगे बढ़ती हैं तो उन्हें चीन की बिंगजाओ का भी सामना करना पड़ सकता है. 

2017 में ही चैंपियन रह चुके हैं एक्सेलसन
डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसन को पुरुष सिंगल्स में पहली वरीयता दी गई है. वे 2017 में यह खिताब जीत चुके हैं. इसके अलावा वे दो बार उपविजेता भी रह चुके हैं. वे एक बार फिर खिताब जीतने के दावेदार हैं. यह टूर्नामेंट तीसरी  वरीयता प्राप्तत श्रीकांत के लिए काफी महत्वपूर्ण है. वे पिछले 17 महीने से खिताब जीतने में नाकाम रहे हैं. गत चैंपियन चीन के शी युकी के हटने के बाद श्रीकांत और एक्सेलसन का रास्ता और आसान हो गया है. श्रीकांत 2015 में यह खिताब जीत चुके हैं. 26 साल के श्रीकांत अपने अभियान की शुरुआत हॉन्गकॉन्ग के वोंग विंग की विन्सेंट के खिलाफ करेंगे. इसके बाद उन्हें हमवतन भारतीय समीर वर्मा या बी साई प्रणीत का सामना करना पड़ सकता है. 

यह भी पढ़ें: IPL 2019: हम ऋषभ पंत का सम्मान करते हैं, पर सिर्फ उन पर फोकस नहीं कर रहे: फ्लेमिंग

समीर, शुभंकर और कश्यप भी उतरेंगे
विश्व टूर फाइनल्स के सेमीफाइनल में पहुंचे पांचवीं वरीय समीर अपने अभियान की शुरुआत डेनमार्क के रासमस गेम्के के खिलाफ करेंगे. साई प्रणीत का सामना क्वालीफायर से होगा. पुरुष सिंगल्स में आरएमवी गुरुसाईदत्त, एचएस प्रणय, शुभंकर डे, अजय जयराम और पारुपल्ली कश्यप भी उतरेंगे. 

रंकीरेड्डी-शेट्टी की जोड़ी टूर्नामेंट से हटी
पुरुष डबल्स में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी टूर्नामेंट से हट गई है. शेट्टी कंधे की चोट से उबरने में नाकाम रहे हैं. अब मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी की जोड़ी भारतीय चुनौती की अगुआई करेगी. इस जोड़ी को छठी वरीयता दी गई है. अर्जुन एमआर और रामचंद्रन श्लोक तथा अरुण जार्ज और संयम शुक्ला की जोड़ी भी भारत का प्रतिनिधित्व करेगी. महिला डबल्स में अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी तथा मेघना जक्कमपुडी और पूर्विशा एस राम की जोड़ी मैदान में होगी. मिक्स्ड डबल्स में प्रणव जैरी चोपड़ा और सिक्की से उम्मीदें होंगी.