close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जुनून ऐसा की मां की मौत भी नहीं रोक पाई कदम और आज बना दिया क्रिकेट का नया रिकॉर्ड

अल्जारी ने कहा कि मेरा काम सिर्फ विकेट लेना ही नहीं बल्कि टीम को जीत दिलाना भी है. उन्होंने कहा कि मैं हमेंशा टीम के जीतने के बाद ही जश्न मानाता हूं.

जुनून ऐसा की मां की मौत भी नहीं रोक पाई कदम और आज बना दिया क्रिकेट का नया रिकॉर्ड
अल्जारी ने इस मैच में 43 रन देकर 4 विकेट अपने नाम किए और अपनी टीम को जीत दिलाई. (फोटो साभारः ट्विटर)

नई दिल्लीः वेस्टइंडीज के गेंदबाज अल्जारी जोसेफ ने अपनी घातक गेंदबाजी के दम पर कम स्कोर होने कर भी अपनी टीम को जीत दिला दी.  शनिवार को हुए मैच में कमजोर बल्लेबाजी के बाद भी मुम्बई ने हैदराबाद को 40 रनों से हराया. टीम को जीत दिलाने में केरेबियाई गेंदबाज अल्जारी जोसेफ का प्रमुख रोल रहा. जोसेफ ने 14 रन देकर 6 विकेट झटके. जोसेफ के इस प्रदर्शन के बाद वे आईपीएल में सबसे बेहतर गेंदबाजी करने वाले गेंदबाज बन गए हैं.

हार के लिए कोच नहीं, कप्तानों को दोषी मानता है पूर्व कप्तान, कहा- कप्तान लें सही फैसले

अल्जारी जोसेफ क्रिकेट के प्रति बहुत जुनूनी हैं. उनके क्रिकेट के जुनून को इस बात से समझा जा सकता है कि फरवरी माह में इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच टेस्ट सीरीज खेली जानी थी और अल्जारी अपनी मां के निधन के बावजूद टीम में शामिल हुए और मैदान में उतरे. अल्जारी अपनी टीम और देश के लिए अपने गम को भुला कर एक मिसाल कायम करते हुए खेले. बता दें कि अल्जारी की मां का निधन मैच से एक दिन पूर्व हुआ था. अल्जारी ने इस मैच में 43 रन देकर 4 विकेट अपने नाम किए और अपनी टीम को जीत दिलाई.

मतदाताओं में जागरूकता लाने के लिए IPL का इस्तेमाल करेगा चुनाव आयोग

टीम के जीतने के बाद जश्न मानाता हूं
शनिवार के मैच में मैन ऑफ द मैच रहे अल्जारी को विकेट लेने के बाद जश्न मनाना पसंद नहीं है. उनसे जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैं कभी भी विकेट लेने के बाद जश्न नहीं मनाता. मेरा ध्यान हमेंशा अपने काम पर रहता है और मेरी कोशिश रहती है कि मै अपनी गेंदबाजी से टीम को जीत दिलाउं. अल्जारी ने कहा कि मेरा काम सिर्फ विकेट लेना ही नहीं बल्कि टीम को जीत दिलाना भी है. उन्होंने कहा कि मैं हमेंशा टीम के जीतने के बाद ही जश्न मानाता हूं.  शनिवार को अल्जारी मुम्बई के लिए एक हीरो साबित हुए. मुम्बई ने अपनी पारी में केवल 136 रन ही बनाए थे और उसका यह मैच जीतना नामुमकिन का प्रतीत हो रहा था, लेकिन किसी को मालुम नहीं था कि मलिंगा की जगह टीम में आकर आईपीएल में पदार्पण करने वाला यह गेंदबाज पहले दिन ही क्रिकेट का नया रिकार्ड बना देगा.