close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

टेनिस खिलाड़ी और राष्ट्रीय चैंपियनशिप नाडा के दायरे में, 20 खिलाड़ियों के नमूने लिए गए

नाडा ने इस साल टूर्नामेंट के दौरान और उससे बाहर अंतरराष्ट्रीय सर्किट पर भी भारतीय खिलाड़ियों के टेस्ट किए.

टेनिस खिलाड़ी और राष्ट्रीय चैंपियनशिप नाडा के दायरे में, 20  खिलाड़ियों के नमूने लिए गए
नाडा प्रमुख नवीन अग्रवाल ने कहा, हमने इस साल नई व्यवस्था बनाई है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:  राष्ट्रीय डोपिंग निरोधक एजेंसी (नाडा) ने अपना दायरा व्यापक करते हुए पहली बार यहां राष्ट्रीय टेनिस चैंपियनशिप के दौरान 20 टेनिस खिलाड़ियों के नमूने एकत्र किए. शीर्ष वरीयता प्राप्त अर्जुन काढे, सिद्धांत बांठिया, इशाक इकबाल और पूर्व अंडर 14 चैम्पियन अजय मलिक समेत कई खिलाड़ियों के खून और मूत्र के नमूने लिए गए. 

नाडा प्रमुख नवीन अग्रवाल ने कहा, ''हमने इस साल नई व्यवस्था बनाई है जिसमें सभी खेलों में जोखिम का आकलन किया गया. हमने उसके आधार पर तय किया कि किन टूर्नामेंटों में टेस्ट करना है और यह टूर्नामेंट उसमें शामिल है.'' 

नाडा ने इस साल टूर्नामेंट के दौरान और उससे बाहर अंतरराष्ट्रीय सर्किट पर भी भारतीय खिलाड़ियों के टेस्ट किए. एशियाई खेलों की कांस्य पदक विजेता अंकिता रैना और पुरुष युगल खिलाड़ी युकी भांबरी ने इसकी पुष्टि की कि नाडा ने उनसे ठिकाने का ब्यौरा देने को कहा है.

अंकिता ने कहा, ''मुझे एशियाई खेलों से पहले ओर बाद में छह सप्ताह का कार्यक्रम दिया गया था. वाडा भी साल में दो तीन बार चेक करता है.'' 

युकी ने कहा, ''मैंने नाडा अधिकारियों को टूर्नामेंट के दौरान और बाद में नमूने दिए हैं. एटीपी सर्किट पर यह नियमित होता है.'' एआईटीए महासचिव हिरण्यमय चटर्जी ने कहा कि नाडा इस साल काफी सक्रिय हो गया है.

यह पूछने पर कि क्या महासंघ कोचों को जागरुक बनाने में अधिक सक्रिय होगा, उन्होंने कहा, ''हमारे पास डाक्टर वेस पेस जैसे अनुभवी डाक्टर है जो कोचों और खिलाड़ियों को मार्गदर्शन देते हैं.''