close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

विश्व कप 2015: जिम्बाब्वे को 20 रन से हराकर पाकिस्तान ने चखा जीत का स्वाद

विश्व कप क्रिकेट के पूल बी के मैच में आज पाकिस्तान ने जिम्बाब्वे को 20 रन से हरा दिया। इससे पहले पाकिस्तान ने 7 विकेट पर 235 रन बनाए।

विश्व कप 2015: जिम्बाब्वे को 20 रन से हराकर पाकिस्तान ने चखा जीत का स्वाद

ब्रिस्बेन : वहाब रियाज के आलराउंड खेल और मोहम्मद इरफान की अच्छी गेंदबाजी से पाकिस्तान ने बल्लेबाजों के एक और लचर प्रदर्शन के बावजूद रविवार को यहां जिम्बाब्वे को उतार चढ़ाव वाले मैच में 20 रन से हराकर विश्व कप 2015 में अपनी पहली जीत दर्ज की। भारत और वेस्टइंडीज से करारी हार झेलनी वाली पाकिस्तान की टीम एक बार जिम्बाब्वे के हाथों भी शर्मसार होने की स्थिति में दिख रही थी क्योंकि उसके बल्लेबाज सात विकेट पर 235 रन ही बना पाये थे।

मैच का ताजा हाल जानने के लिए लाइव स्कोर कार्ड पर क्लिक करें-

LIVE SCORE CARD

इस स्कोर तक भी वह कप्तान मिसबाह उल हक (121 गेंदों पर 73 रन) और वहाब रियाज (46 गेंदों पर नाबाद 54 रन) की बदौलत पहुंच पायी थी। रियाज ने इसके बाद गेंदबाजी में भी कमाल दिखाया और 45 रन देकर चार विकेट लिये। उन्हें इरफान का अच्छा साथ मिला जिन्होंने 30 रन के एवज में चार विकेट चटकाये। जिम्बाब्वे के सामने बड़ा लक्ष्य नहीं था लेकिन 30 से 40वें ओवर के बीच पांच विकेट गंवाने से वह बैकफुट पर चला गया और आखिर में 49.4 ओवर में 215 रन पर आउट हो गया। उसकी तरफ से ब्रेंडन टेलर ने सर्वाधिक 50 रन बनाये।

पाकिस्तान की यह टूर्नामेंट में पहली जीत है जिससे वह पूल बी की तालिका में सबसे निचले स्थान से कुछ ऊपर चढ़ने में सफल रहा। जिम्बाब्वे को चौथे मैच में तीसरी हार का सामना करना पड़ा। जिम्बाब्वे के सामने कम लक्ष्य होने के कारण सारा दारोमदार पाकिस्तान के गेंदबाजों पर था। इरफान ने दोनों सलामी बल्लेबाजों चामू चिभाभा (नौ) और सिकंदर रजा (आठ) को सातवें ओवर तक पवेलियन भेज दिया। टेलर ने इसके बाद हैमिल्टन मासकाद्जा (29) और सीन विलियम्स (33) के साथ अगले दो विकेटों के लिये क्रमश: 52 और 54 रन की दो अर्धशतकीय साझेदारियां की। इरफान ने मासकाद्जा को आउट किया। मिसबाह ने उनका शानदार कैच लपका।

इससे पहले पाकिस्तान ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी के लिये उतरे पाकिस्तान की शुरूआत अच्छी नहीं रही। उसके सलामी बल्लेबाज नासिर जमशेद (एक) और अहमद शहजाद (शून्य) पहले पांच ओवर में ही पवेलियन लौट गये और तब स्कोर केवल चार रन था। धीमी गति के रन बनाने के लिये अक्सर आलोचकों के निशाने पर रहे मिसबाह ने इसके बाद एक छोर संभाले रखा। उन्होंने हारिस सोहेल (44 गेंदों पर 27) के साथ 54 और उमर अकमल (42 गेंदों पर 33 रन) के साथ 69 रन की दो अर्धशतकीय साझेदारियां की। लेकिन रन बेहद धीमी गति से बन रहे थे और पाकिस्तान यहां तक कि जिम्बाब्वे के खराब क्षेत्ररक्षक का फायदा भी नहीं उठा पाया। रियाज के क्रीज पर आने के बाद ही रन गति में तेजी आयी।

उन्होंने अपनी पारी में छह चौके और एक छक्का लगाया। उनसे पहले शोएब मकसूद ने 21 रन बनाये लेकिन शाहिद अफरीदी ने फिर से निराश किया। वह बिना खाता खोले पवेलियन लौटे और इस तरह से विश्व कप में अपने जन्मदिन पर शून्य पर आउट होने वाले दूसरे बल्लेबाज बने। जिम्बाब्वे की तरफ से टेंडाई चतारा सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 35 रन देकर तीन विकेट लिये। अपने दस ओवरों में से उन्होंने दो मेडन ओवर किये। बायें हाथ के स्पिनर सीन विलियम्स ने दस ओवर में 48 रन देकर दो विकेट लिये। पाकिस्तान की पारी में कुल पांच ओवर मेडन गये।