प्रो कबड्डी लीग: तेलुगू टाइटंस की लगातार पांचवीं हार, पटना पाइरेट्स 43-36 से जीता

अपने पहले मैच में तमिल थावाइवाज को हराकर विजयी आगाज करने वाली इस टीम ने इसके बाद अपना लय पूरी तरह खो दिया और इसी का नतीजा है कि उसे एक के बाद एक लगातार पांच बार मुंह की खानी पड़ी है.

प्रो कबड्डी लीग: तेलुगू टाइटंस की लगातार पांचवीं हार, पटना पाइरेट्स 43-36 से जीता
पटना ने चार ऑल आउट अंक हासिल किए जबकि टाइटंस को दो ऑल आउट अंक मिले. (PHOTO : ProKabaddi/Twitter)

हैदराबाद: प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के स्टार रेडर राहुल चौधरी के नेतृत्व वाली टीम तेलुगू टाइटंस का सीजन-5 में हार का सिलसिला बदस्तूर जारी है. गुरुवार (3 अगस्त) को उसे मौजूदा विजेता पटना पाइरेट्स ने लगातार पांचवीं हार पर मजबूर किया. गाचीबावली स्टेडियम में खेले गए इस मैच में पटना ने टाइंटस को 36-43 से हराया. अपने पहले मैच में तमिल थावाइवाज को हराकर विजयी आगाज करने वाली इस टीम ने इसके बाद अपना लय पूरी तरह खो दिया और इसी का नतीजा है कि उसे एक के बाद एक लगातार पांच बार मुंह की खानी पड़ी है. एक बार फिर टाइटंस की टीम की हार का कारण कप्तान पर अति आत्मनिर्भरता रही. राहुल ने अकेले 12 अंक लिए जबकि उनका कोई और साथी उनके साथ खड़ा नहीं रहा. वहीं पटना की तरफ से कप्तान प्रदीप नरवाल ने 12, मोनू गोयट ने 10 अंक लिए.

पटना ने अच्छी शुरुआत की और पहले दो मिनट में ही 3-0 की बढ़त ले ली. तीसरे मिनट में निलेश सालुंके ने टाइंटस के लिए सफल रेड मारते हुए उसका खाता खोला. यहां से टाइंटस ने कुछ अंक लेकर स्कोर 6-6 से बराबर कर लिया, लेकिन मौजूदा विजेता पटना ने इसी बीच 12-10 की बढ़त ले ली, लेकिन टाइंटस एक बार फिर बराबरी करने में कामयाब रहे और स्कोर 12-12 कर लिया. लेकिन यहां से पटना ने अपने बेहतरीन खेल दिखाया और हाफटाइम में 23-16 की बढ़त के साथ गई.

दूसरे हाफ में टाइंटस अगले छह मिनट में सिर्फ एक अंक ले पाई थी जबकि पटना ने नौ अंक लेकर उस पर भारी दबाव बना दिया था. 32-17 से आगे चल रही पटना 23- 40 के मजबूत स्कोर के साथ आगे बढ़ रही थी तभी टाइंटस ने लगातार अंक लेने शुरू किए. लेकिन अंत में उसकी मेहनत जाया गई क्योंकि वह इस हार के अंतर को ही कम कर सकी लेकिन हार को टाल नहीं सकी. रेड से पटना ने 22 और टाइटंस ने 20 अंक लिए. टैकल से पटना ने 13 अंक जोड़े तो टाइटंस ने 10 अंक. पटना ने चार ऑल आउट अंक हासिल किए जबकि टाइटंस को दो ऑल आउट अंक मिले. दोनों टीमों ने चार-चार अतिरिक्त अंक अपने खाते में डाले.