VIDEO : जब 8वीं बार विंबलडन चैंपियन बने रोजर फेडरर की आंखों से बहने लगे आंसू

स्विट्जरलैंड के सुपरस्टार रोजर फेडरर ने रविवार को चोट से जूझ रहे मारिन सिलिच को सीधे सेटों में हराकर रिकॉर्ड आठवीं बार विंबलडन का पुरुष एकल खिताब जीता और इस दौरान टूर्नामेंट के सबसे अधिक उम्र के चैंपियन बने.

VIDEO : जब 8वीं बार विंबलडन चैंपियन बने रोजर फेडरर की आंखों से बहने लगे आंसू
8वीं बार विंबलडन चैंपियन बने रोजर फेडरर (PIC : TWITTER)

नई दिल्ली : स्विट्जरलैंड के सुपरस्टार रोजर फेडरर ने रविवार को चोट से जूझ रहे मारिन सिलिच को सीधे सेटों में हराकर रिकॉर्ड आठवीं बार विंबलडन का पुरुष एकल खिताब जीता और इस दौरान टूर्नामेंट के सबसे अधिक उम्र के चैंपियन बने.

फाइनल के दौरान जूझते हुए सिलिच एक बार मैच के बीच में ही रुआंसे हो गए थे. मैच के बाद फेडरर भी खुशी से रोने लगे.

फेडरर ने 35 साल की उम्र में सिलिच को 6-3 6-1 6-4 से हराकर 19वां ग्रैंडस्लैम खिताब जीता. वह आधुनिक युग में विंबडलन के सबसे उम्रदराज विजेता हैं. उन्होंने आर्थर ऐश के रिकार्ड को तोड़ा जो 1976 में खिताबी जीत के दौरान लगभग 32 साल के थे.

स्विट्जरलैंड के इस सुपरस्टार के 11वें विंबलडन और 29वें मेजर फाइनल को हालांकि सिलिच के कारण भी याद रखा जाएगा तो दूसरे सेट में 3-0 से पिछड़ने के बाद रोने लगे थे.

अमेरिकी ओपन 2014 चैंपियन सातवें वरीय क्रोएशिया के सिलिच खिताब जीतने का अपना सपना टूटते हुए देख लगातार रो रहे थे और उन्होंने इस दौरान अपने सिर को तौलिये में छिपा लिया.

दूसरे सेट के अंत में वह अपने बाएं पैर में पट्टी बांधकर खेले लेकिन इसके बावजूद फेडरर को 1976 में ब्योन बर्ग के बाद टूर्नामेंट में एक भी सेट गंवाए बिना खिताब जीतने वाला पहला खिलाड़ी बनने से नहीं रोक पाए.

इस मुकाबले का गवाह बनने के लिए रायल बाक्स में प्रिंस विलियम और उनकी पत्नी केट के अलावा अभिनेता ह्यू ग्रांट और ब्रेडली कूपर भी मौजूद थे. इसके साथ ही इस मुकाबले को देखने के लिए फेडरर की पत्नी और उनके ट्वींस भी आए हुए थे.  

सिलिच को पहले सेट के चौथे गेम में पहला ब्रेक प्वाइंट मिला जिसे फेडरर ने बचा लिया और फिर विरोधी खिलाड़ी को कोई मौका नहीं दिया. फेडरर ने अगले गेम में सिलिच की सर्विस तोड़ी और इस दौरान क्रोएशियाई खिलाड़ी कोर्ट पर बुरी तरह गिर भी गया.

फेडरर ने नौवें गेम में सिलिच के डबल फाल्ट से एक बार फिर उनकी सर्विस तोड़कर पहला सेट 6-3 से जीता. स्विस सुपरस्टार ने इसके बाद 3-0 की बढ़त बनाई जिसके बाद सिलिच रुआंसे और दर्द से परेशान दिखे. इसके बाद उनके ट्रेनर और डॉक्टर को बुलाया गया.

फेडरर ने मैच दोबारा शुरू होने पर बढ़त 4-1 की और सिर्फ 6-1 से सेट जीता. सिलिच ने मेडिकल टाइमआउट लिया और अपने बायें पैर में पट्टी बांधकर और पेनकिलर खाकर खेले.

सिलिच दूसरे सेट तक दो ही ऐस लगा पाए थे जबकि पिछले छह दौर में उन्होंने 130 ऐस से अपने विरोधियों को परेशान किया था.

फेडरर ने तीसरे सेट में 4-3 पर सिलिच की सर्विस तोड़ी और फिर सेट जीतकर मुकाबला एक घंटे और 41 मिनट में अपने नाम किया.