कबड्डी को 2024 ओलंपिक में शामिल कराने की कोशिश करेगी सरकार, जानिए क्या हैं चुनौतियां
X

कबड्डी को 2024 ओलंपिक में शामिल कराने की कोशिश करेगी सरकार, जानिए क्या हैं चुनौतियां

Kabaddi: खेल मंत्री किरन रिजिजू ने कहा है कि सरकार कबड्डी को 2024 ओलंपिक में शामिल कराने का पूरा प्रयास करेगी. 

कबड्डी को 2024 ओलंपिक में शामिल कराने की कोशिश करेगी सरकार, जानिए क्या हैं चुनौतियां

नई दिल्ली: वैसे तो देश में सबसे लोकप्रिय खेल क्रिकेट है, लेकिन पिछले कुछ सालों में क्रिकेट के अलावा भी अन्य खेलों में भी भारतीय खेल प्रेमियों के दिलचस्पी बढ़ी है. इनमें पूरी तरह से देसी खेल माना जाने वाला खेल कबड्डी भी शामिल है. कबड्डी काफी समय से एशियाई खेलों का हिस्सा रहा है, लेकिन अभ कबड्डी प्रेमियों के लिए अच्छी खबर है. केंद्रीय खेल एवं युवा कल्याण मंत्री किरण रिजिजू (Kiren Rijiju) ने कहा है कि सरकार कोशिश करेगी कि कबड्डी को 2024 के ओलंपिक खेलों में शामिल कर लिया जाए.

काफी उत्साहित है कबड्डी की प्रगति पर खेल मंत्री
2024 के ओलंपिक खेल पेरिस में होने हैं. रिजिजू ने कहा कि खेल मंत्री के तौर पर वे काफी  उत्साहित हैं और घरेलू खेलों को प्रोत्साहित करने के बारे में सोचते रहते हैं. इस मामले में कबड्डी की सफलता सबसे सटीक उदाहरण है. खेलमंत्री को लगता है कि भारत में जिस तरह की खेल संस्कृति के बारे में सरकार ने सोचा था अब वह वास्तविकता बन रही है. उन्होंने कहा कि अब सरकार निश्चित तौर पर कबड्डी को अगले ओलंपिक का हिस्सा बनाने के बारे में गभीरता से सोचेगी. उन्हें यकीन है कि एक अरब से ज्यादा लोगों वाले ताकतवर देश के लिए यह संभव है. 

ये शर्त है किसी खेल के ओलंपिक में शमिल होने की
उललेखनीय है कि कबड्डी पिछले कई सालों से एशियन गेम्स का हिस्सा है, लेकिन 1936 के बर्लिन ओलंपिक में वह एक प्रदर्शन खेल के तौर पर शामिल किया गया था. वहीं ओलंपिक में प्रमुख खेल के तौर शामिल होने के लिए खेल कम से कम 75 देशों और चार महाद्वीपों में खेला जाता हो यह जरूरी है. वहीं महिला खेल के लिए उसे 40 देशों और तीन महाद्वीप में खेला जाना जरूरी है. इस समय 40 देशों की राष्ट्रीय कबड्डी टीमहै.  वहीं 2016 में अहमदाबाद में हुए विश्व कप में 12 देशों में भाग लिया था. 

ईरान ने जीता था इस बार एशियन गेम्स में गोल्ड
इंडोनेशिया में हुए 2018 के एशियाई खेलों में ईरान ने गोल्ड मेडल जीता था और वह भारत के अलाव  इस खेल में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली टीम बनी थी. टीम इंडिया को इस बार कास्य पदक से संतोष करना पड़ा था.  वहीं महिला टीम को भी ईरान की टीम ने ही फाइनल में मात देकर गोल्ड मेडल जीता था, जिससे भारतीय महिला टीम को सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा था. 

ये वीडियो भी देखें:

Trending news