हॉकी गोलकीपर को मिली रियायत, निलंबन घटाकर 13 महीने किया गया

नाडा के डोपिंग रोधी अनुशासन पैनल ने गोलकीपर को अस्थायी रूप से न्यूनतम दो साल के लिए निलंबित किया था.

हॉकी गोलकीपर को मिली रियायत, निलंबन घटाकर 13 महीने किया गया
इस हॉकी खिलाड़ी ने जानबूझकर प्रतिबंधित पदार्थ नहीं लिया जिसके बाद निलंबन घटा दिया गया. (फोटो साभार: facebook/Akashchikte)

नई दिल्ली: हॉकी गोलकीपर आकाश चिक्ते (Akash Chikte) के दो साल के डोप निलंबन को गुरुवार को घटाकर 13 महीने कर दिया गया. राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी (NADA) ने निष्कर्ष निकाला कि इस हॉकी खिलाड़ी ने जानबूझकर प्रतिबंधित पदार्थ नहीं लिया जिसके बाद निलंबन घटा दिया गया.

पूर्व भारतीय खिलाड़ी चिक्ते को पिछले साल 27 फरवरी को बेंगलुरू में सीनियर राष्ट्रीय टीम के हॉकी शिविर के दौरान प्रतियोगिता के इतर परीक्षण में प्रतिबंधित एनाबोलिक स्टेरायड (नोरानड्रोस्टेरोन) के इस्तेमाल के लिए नाडा के डोपिंग रोधी अनुशासन पैनल ने अस्थायी रूप से न्यूनतम दो साल के लिए निलंबित किया था. गुरुवार को यहां सुनवाई के बाद हालांकि डोपिंग रोधी अपील पैनल ने चिक्ते की सजा को घटा दिया.

डोपिंग रोधी अपील पैनल ने अपने फैसले में कहा, ‘‘सभी रिकार्ड को देखने के बाद अनुशासनात्मक पैनल इस निष्कर्ष पर पहुंचता है कि अपीलकर्ता ने जानबूझकर डोपिंग रोधी नियमों का उल्लंघन नहीं किया है.’’

पैनल ने इसके बाद चिक्ते के निलंबन की सजा को दो साल से घटाकर 13 महीने कर दिया.

(इनपुट-भाषा)

(इनपुट-भाषा)