close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

टाइगर वुड्स को मिलेगा अमेरिका का सबसे बड़ा मेडल, राष्ट्रपति ट्रंप करेंगे सम्मानित

दुनिया के नंबर एक गोल्फ खिलाड़ी टाइगर वुड्स को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप वाइट हाउस में अपने देश के सबसे बड़े नागरिक सम्मान ‘प्रेजिडेंशियल मेडल आफ फ्रीडम’ से सम्मानित करेंगे. 

टाइगर वुड्स को मिलेगा अमेरिका का सबसे बड़ा मेडल, राष्ट्रपति ट्रंप करेंगे सम्मानित
(फाइल फोटो)

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सोमवार को वाइट हाउस में दिग्गज गोल्फर टाइगर वुड्स को अपने देश के सबसे बड़े नागरिक सम्मान ‘प्रेजिडेंशियल मेडल आफ फ्रीडम’ से सम्मानित करेंगे. ट्रंप ने पिछले महीने मास्टर्स टूर्नामेंट जीतने पर भी वुड्स को बधाई दी थी. वुड्स को यह सम्मान सोमवार छह मई को दिया जाएगा. 43 साल के वुड्स ने अप्रैल में ही 10 साल के अंतराल के बाद अगस्ता में पांचवां मास्टर्स खिताब जीता था.

अमेरिका का सबसे बड़ा नागरिक सम्मान है यह
प्रेसिडेशियल मेडल ऑफ फ्रीडम अमेरिका का सबसे ऊंचा नागरिक सम्मान है. यह सम्मान हासिल करने वाले वुड्स चौथे गोल्फर हैं. 1963 में तत्तकालीन राष्ट्रपति जॉन एफ केनेडी ने इस सम्मान की शुरुआत की थी. यह सम्मान हासिल करने वाले अन्य गोल्फरों में जैक निकलॉस, अर्नाल्ड पाल्मर और पीजीए टूर के पहले अश्वेत खिलाड़ी चार्ली सिफोर्ड शामिल हैं.

यह भी पढ़ें: Golf: टाइगर वुड्स ने 11 साल बाद जीता मेजर खिताब, 14 करोड़ इनामी राशि पर कब्जा किया

क्या ट्रंप का यह फैसला नस्ली राजनिति से प्रेरित है?
ट्रंप के इस फैसले को हालांकि नस्ली राजनीति से जोड़कर देखा जा रहा है क्योंकि वुड्स अश्वेत गोल्फर हैं. वुड्स के पिता अश्वेत थे जबकि माता थाईलैंड मूल की हैं. उल्लेखनीय है कि अगले साल के आखिर में अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव होने हैं और ट्रम्प अपना दूसरा कार्यकाल हासिल करने की पूरी कोशिश करेंगे. ऐसा नहीं है कि राष्ट्रपति ट्रंप हमेशा ही अश्वेत खिलाड़ियों के समर्थक रहे हैं, लेकिन वे हमेशा से वुड्स के प्रशंसक रहे हैं. ट्रंप इससे पहले अश्वेत एनबीए खिलाड़ियों और अमेरिकी फुटबाल खिलाड़ियों से भिड़ चुके हैं. 

करियर का 15वां मेजर खिताब है वुड्स का
वुड्स ने अगस्ता नेशनल कोर्स पर पिछले महीने ही अपने करियर का 15वां मेजर खिताब जीता है. उन्होंने यहां 14 साल पहले 2005 में जीत दर्ज की थी. अब तक उन्होंने 1997, 2001, 2002 और 2005 में मास्टर्स खिताब जीता था.  पिछले 11 वर्ष वुड्स के लिए बेहद कठिन रहे. उन्हें कई बार अपनी पीठ का ऑपरेशन कराना पड़ा और कई व्यक्तिगत परेशानियों से भी जूझना पड़ा.  वुड्स ने कहा, "मैं जितनी भी परेशानियों से लड़ा, उसके बाद यह जीत हासिल करने को लेकर मैं अपने आप को भाग्यशाली मानता हूं."

(इनपुट भाषा/आईएएनएस)