Tokyo Olympics: कमेंटेटर ने कोरियन प्लेयर की छोटी आंखों को लेकर की नस्लभेदी टिप्पणी, मिली ऐसी सजा

दक्षिण कोरिया (South Korea) के  टेबल टेनस (Table Tennis) प्लेयर जिओंग यंग-सिक (Jeoung Young-Sik) पर एक जर्नलिस्ट ने नस्लभेदी बयान (Racial Comment) दिया, जिसको लेकर काफी बवाल मचा.

Tokyo Olympics: कमेंटेटर ने कोरियन प्लेयर की छोटी आंखों को लेकर की नस्लभेदी टिप्पणी, मिली ऐसी सजा
जिओंग यंग-सिक और दिमोसथेनसिस कारमिरिस (फोटो-Twitter)

नई दिल्ली: अक्सर कहा जाता है कि स्पोर्ट्स के जरिए दुनियाभर के लोगों को एकजुट किया जा सकता है. यहां किसी तरह के भेदभाव की कोई जगह नहीं होती, लेकिन टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में एक ऐसा मामला सामने आया है जिससे नस्लवाद (Racism) को एक बार फिर हवा मिली है.

कोरियन प्लेयर नस्लवाद के शिकार

सीनियर जर्नलिस्ट दिमोसथेनसिस कारमिरिस (Dimosthenis Karmiris) ने ग्रीस के टीवी चैनल 'ईआरटी' (ERT) पर नस्लभेदी टिप्पणी की, जिसके बाद बवाल मच गया. कारमिरिस एक गेस्ट के तौर पर टीवी पर लाइव थे. उन्होंने दक्षिण कोरिया (South Korea) के टेबल टेनस (Table Tennis) प्लेयर्स पर गलत कमेंट किया. 
 

यह भी पढ़ें- सूर्यकुमार यादव भारतीय टेस्ट टीम से काट सकते हैं इन 3 खिलाड़ियों का पत्ता 
 

कोरियन खिलाड़ी की जीत

दरअसल दक्षिण कोरिया (South Korea) के  जिओंग यंग-सिक (Jeoung Young-Sik) ने ग्रीस (Greece) के खिलाड़ी पानागिओटिस गिओनिस ( Panagiotis Gionis) को टेबल टेनिस मेंस सिंग्स (Table Tennis Men's Singles) के तीसरे राउंड में 4-3 से हराया. इसके बाद दिमोसथेनसिस कारमिरिस का हैरान करने वाला बयान आया.
 


जिओंग यंग-सिक (फोटो-Twitter)

 

इस नस्लभेदी बयान पर मचा बवाल

जब जर्नलिस्ट दिमोसथेनसिस कारमिरिस (Dimosthenis Karmiris) से साउथ कोरियन प्लेयर जिओंग यंग-सिक (Jeoung Young-Sik) के हुनर के बारे में पूछा गया तो उन्होंने अपने जवाब से हर किसी को हैरान कर दिया.  उन्होंने कहा, 'कोरियन टेनिस नहीं खेलते, उनकी आंखें इतनी छोटी होती हैं कि मुझे समझ में नहीं आता कि वो गेंद को आगे और पीछे होते हुए कैसे देखते हैं.' इतना कहते हुए कारमिरिस लाइव टीवी पर ठहाके लगाने लगे.
 

 
 

जर्नलिस्ट पर गिरी गाज

दिमोसथेनसिस कारमिरिस (Dimosthenis Karmiris) का ये नस्लभेदी बयान (Racial Comment) सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा, लोग इस जर्नलिस्ट पर कार्रवाई करने की मांग करने लगे. मामला बिगड़ता देख चैनल ईआरटी (ERT) ने कारमिरिस को हटा दिया.

'नस्लभेदी टप्पणी की कोई जगह नहीं'

ग्रीस (Greece) के चैनल ईआरटी (ERT) ने बयान जारी करते हुए कहा, 'पब्लिक टेलीविजन पर नस्लभेदी टप्पणी की कोई जगह नहीं है. ईआरटी और दिमोसथेनसिस कारमिरिस (Dimosthenis Karmiris) के बीच करार आज खत्म कर दिया गया है.'

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.