justice bobde

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से कहा, अदालतों में CISF तैनाती की संभावना पर गौर करें

सीजेआई ने कहा कि उन्होंने गृह मंत्रालय को अदालती सुरक्षा के लिए CISF का एक विशेष विंग बनाने को पत्र लिखा है. 

Jan 8, 2020, 02:21 PM IST

सुप्रीम कोर्ट ने हिन्दुओं को अल्पसंख्यक दर्जा देने से किया इंकार

देश के आठ राज्यों में हिन्दू अल्पसंख्यक हैं. इस वास्तविकता को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई याचिका हुई खारिज..

Dec 17, 2019, 03:19 PM IST

सुप्रीम कोर्ट में बंटा काम, तीन वरिष्ठ जजों के साथ जस्टिस बोबडे सुनेंगे जनहित याचिकाएं

सीजेआई बोबडे ने जनहित याचिकाओं और पत्र याचिकाओं को अपने खुद के पास रखा है. इसमें जस्टिस एनवी रमन्ना, जस्टिस अरुण मिश्रा और जस्टिस आरएफ नरीमन भी उनके साथ होंगे. 

Nov 30, 2019, 05:41 AM IST

जानिए देश के 47वें CJI शरद अरविंद बोबडे के बारे मे

रजन गोगोई 17 नवंबर को देश के सर्वोच्च न्यायालय के CJI  से सेवानिवृत्त हो गए और सोमवार को 47वें CJI के तौर पर एसए बोबडे ने शपथ ग्रहण किया. बतौर मुख्य न्यायाधीश बोबडे 17 महीने तक कार्यभार संभालेंगे. 

Nov 18, 2019, 11:25 AM IST

देश के 47वें मुख्य न्यायाधीश बने जस्टिस एसए बोबडे

जस्टिस एसए बोबडे देश के 47वें मुख्य न्यायाधीश बने. जस्टिस एसए बोबडे ने मुख्य न्यायाधीश पद की शपथ ली. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शपथ दिलाई. राष्ट्रपति भवन में शपथ ग्रहण समारोह हुआ. शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह, रंजन गोगोई के अलावा सुप्रीम कोर्ट के कई जज मौजूद रहे.

Nov 18, 2019, 11:14 AM IST

जानिए कौन हैं जस्टिस बोबडे, जो आज लेंगे मुख्य न्यायाधीश पद की शपथ

जस्टिस शरद अरविंद बोबडे भारत के 47वें प्रधान न्यायाधीश के रूप में सोमवार को शपथ ग्रहण करेंगे. एक बयान के मुताबिक, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भारत के प्रधान न्यायाधीश को सुबह 9.30 बजे पद की शपथ दिलाएंगे. 

Nov 17, 2019, 10:14 PM IST

ରାଷ୍ଟ୍ରପତି ମାରିଲେ ମୋହର, ଆସନ୍ତା ୧୮ରେ ପ୍ରଧାନ ବିଚାରପତି ଭାବେ ଶପଥ ନେବେ ଜଷ୍ଟିଷ ବୋବଡେ

ଜଷ୍ଟିଷ ଶରଦ ଅରବିନ୍ଦ ବୋବଡେ ହେବେ ସୁପ୍ରିମକୋର୍ଟର ୪୭ତମ ପ୍ରଧାନ ବିଚାରପତି(ସିଜେଆଇ)। ଆସନ୍ତା ନଭେମ୍ବର ୧୮ ତାରିଖରେ ସେ ଶପଥ ଗ୍ରହଣ କରିବେ । ରାଷ୍ଟ୍ରପତି ରାମନାଥ କୋବିନ୍ଦ ଆଜି ତାଙ୍କ ନାଁରେ ମୋହର ମାରିଛନ୍ତି ।

Oct 29, 2019, 11:42 AM IST

जस्टिस बोबडे से दो जजों की मुलाकात की खबरों को सुप्रीम कोर्ट ने किया खारिज

उच्चतम न्यायालय के सेक्रेटरी जनरल कार्यालय से जारी इस बयान में कहा गया है कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि एक बड़े समाचार पत्र ने यह बात कही. 

मई 5, 2019, 05:18 PM IST