spacecraft

Jeff Bezos अप्रैल में देंगे तोहफा, Blue Origin के जरिए अंतरिक्ष की सैर कर सकेंगे यात्री

ब्लू ओरिजिन अपने एयरक्राफ्ट न्यू शेपर्ड फ्यूचर को 14वीं बार लॉन्च और लैंड कराने में कामयाब रही. इसे एनएस-14 नाम दिया गया था. इस सफल फ्लाइट में नए बूस्टर और नए अपग्रेड किए कैप्सूल का परीक्षण किया गया. 

Jan 16, 2021, 01:12 PM IST

DNA ANALYSIS: स्पेस में पहली बार प्राइवेट अंतरिक्ष यान, जानिए कैसी थी 27 घंटे की ऐतिहासिक यात्रा

Space-X के इस Spacecraft का नाम Re-Silience है. लगभग 27 घंटे में इसने पृथ्वी से ISS यानी International Space Station तक की अपनी यात्रा पूरी कर ली और ये स्पेस क्राफ्ट इस समय ISS से जुड़ चुका है. इस मिशन में अमेरिका के 3 अंतरिक्ष यात्री हैं और एक अंतरिक्ष यात्री जापान का है.

Nov 18, 2020, 09:31 AM IST

नासा के वैज्ञानिकों को दिखा कुछ ऐसा, सुलझ सकती है सूर्य के इर्द-गिर्द जीवन की पहेली

वैज्ञानिकों के मुताबिक यह दूर के सितारों का दृश्य हो सकता है जो हमें तारकीय गतिविधि और ग्रहों पर जीवन की स्थितियों को समझने में मदद कर सकता है.

Oct 11, 2020, 11:50 AM IST

कल्पना चावला के नाम पर रखा गया अंतरिक्ष यान का नाम, इस दिन होगी लॉन्चिंग

नासा के अनुसार, चावला ने एसटीएस-87 (1997) और एसटीएस-107 (2003) में उड़ान भरी थी और 30 दिन, 14 घंटे और 54 मिनट में अंतरिक्ष में प्रवेश किया था.

Sep 10, 2020, 04:53 PM IST

45 साल बाद समंदर में उतरा अंतरिक्ष यान SpaceX ड्रैगन

इस अंतरिक्ष यान में थे नासा के 2 यात्री

Aug 3, 2020, 08:20 AM IST

बेहद अलग है अंतरिक्ष की दुनिया, थर्मल ब्लैंकेट की पड़ती है जरूरत

नासा में थर्मल ब्लैंकेट बनाने वाली पॉला साइन का बैकग्राउंड फैशन डिजाइनिंग से संबंधित है.

Jul 13, 2020, 05:14 PM IST

ଦୁର୍ବଳ ହେବାରେ ଲାଗିଛି ପୃଥିବୀର ଚୁମ୍ବକୀୟ କ୍ଷେତ୍ର, ସାଟେଲାଇଟ ଏବଂ ମହାକାଶଯାନ ପ୍ରତି ରହିଛି ବିପଦ

ପୃଥିବୀର ଚୁମ୍ବକୀୟ କ୍ଷେତ୍ର ଦୁର୍ବଳ ହେଉଥିବା ନେଇ ଜଣାପଡିବା ପରେ ସାଟେଲାଇଟ ଏବଂ ମହାକାଶଯାନ ପ୍ରତି ବିପଦ ଦେଖାଦେଇଛି | 

मई 24, 2020, 08:47 PM IST

जानिए 'चंद्रयान -2' की लैंडिंग के अंतिम 15 मिनट क्यों और कैसे हैं महत्वपूर्ण?

Zee News के इस सेगमेंट में जानिए 'चंद्रयान -2' की लैंडिंग के आखिरी 15 मिनट क्यों और कैसे महत्वपूर्ण है। पूरी तरह विस्तार से जानने के लिए यह वीडियो देखें।

Jul 22, 2019, 02:15 PM IST

चंद्रयान 2: "जानिए इन सुपर महिलाओं को" भारत के दूसरे चंद्र मिशन के पीछे

भारतीय इतिहास के चंद्रयान -2 में पहली बार, भारत का दूसरा चंद्र मिशन भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) की दो महिला वैज्ञानिकों द्वारा अग्रणी है। मुथैया वनिता चंद्रयान -2 का नेतृत्व कर रही हैं और दूसरी ओर, रितु करिदल मिशन निदेशक के रूप में काम कर रही हैं। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ था जब महिला शक्ति इसरो के अति महत्वपूर्ण मिशन की ओर बढ़ रही हो। परियोजना निदेशक और मिशन निदेशक दोनों चंद्रयान -2 के लिए महिला हैं। मुथैया वनिता एक इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियर है, जो अब चंद्रयान -2 की सफलता और विफलता के लिए जिम्मेदार है। दूसरी ओर, मिशन निदेशक रितु कारिधल पहले मंगल मिशन के उप निदेशक के रूप में काम कर रही थीं।

Jul 22, 2019, 02:15 PM IST

'चंद्रयान -2' की लैंडिंग के अंतिम 15 मिनट अधिक महत्वपूर्ण: इसरो

इसरो मून मिशन 'चंद्रयान 2' तकनीकी स्लैग के कारण 15 जुलाई को प्रारंभिक प्रयास के बाद छोड़ दिया गया था। भारत के महत्वाकांक्षी दूसरे चंद्रमा मिशन को दोपहर 2:43 बजे श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष स्टेशन से उतारने की उम्मीद है। चंद्रयान 2 सबसे शक्तिशाली जीएसएलवी-एमके- III रॉकेट डब will बाहुबली ’पर सवार होगा। रविवार को शाम 6:43 बजे लिफ्ट-ऑफ के लिए उल्टी गिनती शुरू हो गई और अंत में यह रॉकेट आसमान में चढ़कर खत्म हो जाएगा, इसके साथ एक "बिलियन सपने" लेकर, जैसा कि इसरो द्वारा देखा गया था। 15 जुलाई को, रॉकेट में तकनीकी समस्या के बाद श्रीहरिकोटा के अंतरिक्षयान से सुबह 1.55 बजे निर्धारित विस्फोट से 56 मिनट और 24 सेकंड पहले प्रक्षेपण को बंद कर दिया गया था। ग्लिच तब हुआ था जब लिक्विड-प्रोपेलेंट को रॉकेट के स्वदेशी क्रायोजेनिक अपर स्टेज इंजन में लोड किया जा रहा था। रविवार को, इसरो ने एक बयान में कहा कि सभी ग्लिच हटा दिए गए हैं और रॉकेट लॉन्च के लिए तैयार है। जबकि इसरो अंतिम तैयारी करता है और GSLV-Mk-III के टैंक में ईंधन भरता है।

Jul 22, 2019, 01:30 PM IST

दूसरे मून मिशन के लिए 3 घंटे से भी कम समय, श्रीहरिकोटा से चंद्रयान-2 उडान भरने के लिए तैयार

जैसा कि भारत महत्वाकांक्षी चंद्रमा मिशन के दो दौर के लिए तैयार है, चंद्रयान -2 चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव क्षेत्र का पता लगाने के लिए अपनी ऐतिहासिक उड़ान के लिए पूरी तरह तैयार है। श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र के दूसरे लॉन्च पैड से सोमवार को दोपहर 2:43 बजे तेज रॉकेट लॉन्च किया जाएगा। यदि मिशन सफल होता है, तो भारत को अमेरिका, रूस और चीन के बाद शीर्ष चार चंद्र अग्रदूतों में रखा जाएगा। 978 करोड़ रुपये का यह मिशन, जिसे मूल रूप से 15 जुलाई को 2.51 बजे सेट किया गया था, तकनीकी खराबी के कारण लॉन्च से ठीक 56 मिनट पहले पुनर्निर्धारित किया गया था। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के वैज्ञानिकों ने मिशन को समाप्त कर दिया, लेकिन तेजी से उपचारात्मक कार्रवाई की और तीन दिन पहले फिर से प्रक्षेपण की घोषणा की।

Jul 22, 2019, 01:05 PM IST

चंद्रयान -2 आज 2 बजकर 43 मिनट पर होगा लॉन्च, टिकी है सबकी निगाहें

चंद्रयान -2 अंतरिक्ष यान पृथ्वी की कक्षा में छह अतिरिक्त दिन और चंद्रमा के आसपास 15 कम दिन बिताएगा, इससे पहले कि यह दिन मूल रूप से योजनाबद्ध था, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिकों ने मिशन कैसे चिपक जाएगा, इसका विवरण देते हुए कहा है। एक सप्ताह की देरी के बावजूद इसकी समयसीमा। सोमवार को दोपहर 2.43 बजे लिफ्ट-ऑफ के लिए 20 घंटे की उलटी गिनती रविवार शाम को शुरू हुई, 15 जुलाई के प्रयास के बाद केवल 56 मिनट और 24 सेकंड के साथ घड़ी पर छोड़ दिया जाना था। इस देरी को GSLV-MkIII रॉकेट के इंजन में रिसाव से मजबूर होना पड़ा, जो चंद्रयान -2 को अंतरिक्ष में ले जाने के लिए है।

Jul 22, 2019, 12:35 PM IST

चांद पर उतरने की इजरायली योजना पर फिरा पानी, अंतरिक्ष यान हुआ दुर्घटनाग्रस्त

पूरे घटनाक्रम को प्रधानमंत्री बेंजामीन नेतन्याहू सहित कमरे में खचाखच भरे दर्शकों सहित लगभग पूरे देश ने देखा. इसका टीवी पर सीधा प्रसारण हो रहा था.

Apr 12, 2019, 09:48 AM IST

चांद के रहस्यों का पता लगाएगा चीन, जिस हिस्से को दुनिया ने नहीं देखा वहां पर उतारा स्पेसक्राफ्ट

एक चीनी चंद्र रोवर ने चंद्रमा की दूसरी ओर की सतह पर उतरने में गुरुवार को सफलता हासिल कर ली और इसके साथ ही वह रोवर पृथ्वी से चंद्रमा की विमुख फलक पर पहुंचने वाला विश्व का पहला यान बन गया है.

Jan 3, 2019, 03:41 PM IST

वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष में 6 घंटे तक की चहलकदमी, अंतरिक्षयान में आई यह खराबी

अगस्त के अंत में अंतरिक्ष स्टेशन पर प्रेशर लीक महसूस हुआ था जिसके बाद पता चला कि समस्या सोयुज में है. रिसाव की जगह को खोजने के कुछ घंटों के अंदर छेद को सील कर दिया.

Dec 11, 2018, 01:46 PM IST

लॉकहीड मार्टिन ने प्रस्तुत की चंद्रमा की सतह पर अंतरिक्ष यान उतारने संबंधी अवधारणा

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि भविष्य में मंगल की यात्रा के लिए प्रारंभिक चरण के रूप में वह 1972 के बाद पहली बार चंद्रमा पर अंतरिक्ष यात्रियों को भेजने की योजना बना रही है.

Oct 4, 2018, 07:52 PM IST

नासा के रडार पर आया भारत का 'लापता' चंद्रयान-1, चंद्रमा की परिक्रमा करता दिखा

नासा ने भूमि आधारित राडार तकनीक का इस्तेमाल कर इस बात का दावा किया है कि भारत की ओर से चंद्र मिशन पर भेजे गए अंतरिक्ष यान ‘चंद्रयान-1’ को चंद्रमा की परिक्रमा करते हुए देखा गया है जिसे लापता मान लिया गया था. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) का चंद्रयान-1 के साथ 29 अगस्त, 2009 को संपर्क खत्म हो गया था. इसे 22 अक्तूबर, 2008 को प्रक्षेपित किया गया था.

Mar 10, 2017, 10:10 PM IST

चीन ने अपना मानवयुक्त यान अंतरिक्ष में भेजा, 30 दिन प्रयोगशाला में रहेंगे अंतरिक्षयात्री

चीन ने अब तक के सबसे लंबे मानवयुक्त अंतरिक्ष अभियान के तहत दो अंतरिक्ष यात्रियों के साथ एक अंतरिक्ष यान प्रक्षेपित किया और इसके साथ ही वह वर्ष 2022 तक अपना स्थायी अंतरिक्ष स्टेशन स्थापित करने के लक्ष्य के एक कदम करीब पहुंच गया। यह यान बाद में पृथ्वी की परिक्रमा कर रही चीन की दूसरी अंतरिक्ष प्रयोगशाला में मिलेगा।

Oct 17, 2016, 08:49 AM IST

चीन ने अंतरिक्ष यान के लिए उच्च तापमान सहने वाला पदार्थ विकसित किया

चीन ने राकेटों और अंतरिक्ष यानों में इस्तेमाल के लिए उच्च तापमान बरदाश्त करने वाला एक बेहद हल्का एयरोजेल विकसित किया है और माना जाता है कि अब तक मानव ने इससे हल्का कोई ठोस पदार्थ विकसित नहीं किया है।

Aug 12, 2016, 09:04 PM IST

'न्यू होराइजन्स' स्पेसक्राफ्ट ने प्लूटो ग्रह की नई तस्वीर भेजी

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के नए होराइजंस स्पेसक्राफ्ट ने प्लूटो के विशाल चंद्रमा कैरन की अब तक की सबसे बेहतरीन उच्च गुणवत्ता वाली तस्वीरें भेजी हैं। इस तस्वीर की खुबसूरती को देख वैज्ञानिक भी अचंभे में हैं।

Oct 2, 2015, 07:38 PM IST