close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अगर आप घूमने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो टिकट लेने से पहले इसे जरूर पढ़ें

मेक माई ट्रिप ने गलत PNR नंबर दे दिया जिसकी वजह से वीजा कैंसिल हो गया. अब ट्रैवल एजेंसी टिकट के चार लाख रुपये भी नहीं लौटा रही है.

अगर आप घूमने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो टिकट लेने से पहले इसे जरूर पढ़ें
कंपनी बार-बार कह रही है कि जांच पूरी होने के बाद जवाब देंगे.

सुबोध मिश्रा, नई दिल्ली: अगर आप विदेश घूमने का प्लान बना रहे हैं और आपने अपनी सारी तैयारी भी कर ली है, लेकिन अचानक आपको पता चले कि जिस ट्रैवल कंपनी से आपने विश्वास के साथ अपना टिकट करवाया था उसी की लापरवाही के चलते आपका वीजा कैंसिल हो गया है तो आप क्या करेंगे. मुम्बई के कांदिवली के एक परिवार के साथ कुछ इसी तरह की घटना घटी जब ये परिवार अपनी छुट्टियां मनाने स्पेन जाना चाहता था और उसके साथ Make My Trip ट्रैवल एजेंसी ने इसी तरह का धोखा दिया.

संजय जैन पेशे से चार्टड अकाउंटेंट हैं और अपनी पत्नी और 2 बच्चों समेत मुम्बई के कांदिवली इलाके में रहते हैं. देखने में ये परिवार तो काफी खुशहाल है लेकिन पिछले ही दिनों इनके साथ हुए एक मामले ने इन्हें झकझोर कर रख दिया है और ये विदेश घूमने के नाम से भी डरते हैं. दरअसल, संजय जैन का आरोप है कि उन्होंने Make My Trip  नाम की ट्रैवेल कंपनी के जरिये स्पेन घूमने के लिए परिवार सहित खुद का टिकट कराया था. इसके अलावा वीजा बनाने की अलग से फीस भी दी थी. लेकिन उन्हें तब झटका लगा जब गलत जानकारी देने पर उनको वीजा कैंसिल होने की खबर मिली. जब संजय ने पता किया तो वो हैरान हो गए कि जो टिकट उन्हें दिया गया और जिस टिकट की जानकारी वीजा ऑफिस में दी गयी दोनों के ही PNR नंबर अलग थे जिसकी वजह से ऐसा हुआ.

MMT के जरिए अगर बुक किया है Jet Airways का टिकट तो जानें कब मिलेगा रिफंड

इस घटना से संजय जैन की पत्नी संगीता काफी दुखी हैं. उनका कहना है कि उन्होंने अपनी शादी की 25वीं सालगिरह को लेकर अपने परिवार के साथ काफी प्लान किये थे लेकिन सब खत्म हो गया. हद तो तब हो गई जब टिकट के लिए दिए 4 लाख रुपये हमने रिफंड मांगे तो कंपनी ने 20 हजार रुपये ही वापस करने की बात कही. 

इस मामले में जब Make My Trip से बात करने की कोशिश की तो उन्होंने मेल के जरिये  बताया कि उन्हें फरवरी में एक नोटिस मिला था जिसके लिए उन्होंने कस्टमर डिटेल्स मांगी है और इस मामले में वे आंतरिक जांच भी कर रहे हैं. लेकिन उसको सॉल्व करने में कितना वक्त लगेगा ये जानकारी नहीं दी.