कुल्‍लू में भारी बर्फबारी से हालात खराब, विश्‍व प्रसिद्ध प्राचीन गांव भी 5 दिन से अंधेरे में

कुल्लू जिले के अतिदुर्गम क्षेत्र विश्व प्रसिद्व प्राचीन गांव मलाणा (Malana Village) में भारी बर्फबारी से बिजली की तारें टूटने से पिछले 5 दिनों से अंधेरे में जीना पड़ रहा है. 

कुल्‍लू में भारी बर्फबारी से हालात खराब, विश्‍व प्रसिद्ध प्राचीन गांव भी 5 दिन से अंधेरे में

कुल्लू: कुल्‍लू (Kullu) जिले में भारी बर्फबारी के चलते प्रशासन की तरफ से एक बार फिर स्थानीय लोगों और पर्यटकों के लिए एडवाइजरी जारी कर दी है. कुल्लू जिले के ताजा हालात यह है कि 38 सड़कें बंद हैं और 34 ट्रांसफॉर्मर बंद हैं, जिससे दर्जनों पेयजल सप्‍लाई प्रभावित हो गई हैं. इससे ऊंचे ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली सप्लाई पूरी तरह से प्रभावित हो गई है. ऐसे में ग्रामीण क्षेत्रों में ट्रांसफॉर्मर बंद होने से अंधेरा छाया हुआ है.

 

 

वहीं, कुल्लू जिले के अतिदुर्गम क्षेत्र विश्व प्रसिद्व प्राचीन गांव मलाणा (Malana Village) में भारी बर्फबारी से बिजली की तारें टूटने से पिछले 5 दिनों से अंधेरे में जीना पड़ रहा है. क्षेत्र में पेयजल सप्लाई व यातायात पूरी तरह से प्रभावित है. 

उपायुक्त (कुल्लू) डॉक्टर रिचा वर्मा ने कहा कि कुल्लू जिले में मौसम खराब चल रहा है, जिसके चलते प्रशासन की तरफ से अगले तीन-चार दिनों के लिए मौसम खराब रहने की प्रशासन की तरफ से एडवाइजरी जारी कर दी है. उन्होंने कहा कि ऊंचे क्षेत्रों में भारी बर्फबारी हो रही है. इससे स्थानीय लोगों व पर्यटकों के लिए ऊंचे पर्यटन स्थलों पर न जाने को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है. ऊंचे पर्यटन स्थलों पर पर्यटकों के जाने के लिए पूर्णत पाबंदी लगा दी गई है.

उन्होंने कहा कि फिलहाल कुल्लू जिले में ताजा स्थिति के अनुसार, 38 सड़कें बंद हुई है और 34 ट्रांसफॉर्मर सहित दर्जनों पेयजल सप्‍लाई प्रभावित हुई हैं. उन्होंने कहा कि कुल्लू जिला में 2 नेशनल हाईवे, जिसमें और लोहरी नेशनल हाईवे 305 और मनाली रोहतांग नेशनल हाईवे 3 मनाली से आगे बंद है. ऐसे में जिला प्रशासन की मशीनरी सड़कों को बहाल करने में जुटी हुई है और बिजली विभाग के अधिकारी भी ट्रांसफार्मर को ठीक करने में जुटे हुए हैं. उन्होंने कहा कि प्रशासन की तरफ से फिलहाल 17 जनवरी तक एडवाइजरी जारी कर दी गई है. मौसम की स्थिति को देखते हुए उसके आगे की एडवाइजरी जारी की जाएगी.