सूडान : नील नदी में नौका डूबने से 22 स्कूली बच्चों की मौत

सूडान की राजधानी खार्तूम से करीब 750 किलामीटर दूर हुए इस हादसे के वक्त नौका में 40 से ज्यादा बच्चे सवार थे. 

सूडान : नील नदी में नौका डूबने से 22 स्कूली बच्चों की मौत
बच्चे नौका में सवार होकर नदी पार करके स्कूल जा रहे थे, तभी यह हादसा हुआ (फाइल फोटो)

खार्तूम : सूडान की नील नदी में बुधवार एक नौका के डूब जाने से कम से कम 22 बच्चों की मौत हो गई. जिस वक्त यह हादसा हुआ उस दौरान बच्चे स्कूल जा रहे थे. मृतकों में एक महिला भी शामिल है. बताया जा रहा है कि नाव के इंजन में आई खराबी के कारण यह हादसा हुआ. 

सूना समाचार एजेंसी ने खबर दी है कि सूडान की राजधानी खार्तूम से करीब 750 किलामीटर दूर हुए इस हादसे के वक्त नौका में 40 से ज्यादा बच्चे सवार थे. 

बता दें कि नील नदी दुनिया की सबसे लंबी नदीं है. यह अफ्रीका की सबसे बड़ी झील विक्टोरिया से निकलकर सहारा मरुस्थल के पूर्वी भाग को पार करती हुई उत्तर में भूमध्यसागर में गिरती है. यह भूमध्य रेखा के निकट भारी वर्षा वाले क्षेत्रों से निकलकर दक्षिण से उत्तर में युगाण्डा, इथियोपिया, सूडान एवं मिस्र से होकर बहते हुए काफी लंबी घाटी बनाती है. 

यह भी कहा जा रहा है कि नाव में क्षमता से अधिक सामान और लोग सवार थे. नाव में अनाज की 10 बोरी और आलू के 30 कट्टे भी रखे हुए थे. सूडान में जून से नंवबर तक मॉनसून सीजन होता है और मॉनसून के कारण यहां नदी का जल स्तर बढ़ा हुआ है. यहां संयुक्त राष्ट्र बाढ़ के खतरों को देखते हुए लगातार चेतावनी जारी करता रहता है. खार्तूम में भारी बारिश के चलते 25 अगस्त तक के लिए स्कूल बंद कर दिए गए हैं.