'अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प रूस के लिए काम कर रहे थे या नहीं', एफबीआई ने शुरू की जांच

ट्रम्प ने एफबीआई के तत्कालीन प्रमुख जेम्स बी कोमी को अचानक निलंबित कर दिया था जो ट्रम्प के अभियान में रूसी सरकार के कथित हस्तक्षेप की जांच कर रहे थे.

'अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प रूस के लिए काम कर रहे थे या नहीं', एफबीआई ने शुरू की जांच
'न्यूयॉर्क टाइम्स' ने अज्ञात सूत्रों के हवाले से अपनी एक खबर में कहा कि एफबीआई ने ट्रम्प के खिलाफ जांच शुरू की थी. (फाइल फोटो)

वॉशिंगटनः एफबीआई ने इस बात की जांच शुरू कर दी है कि क्या अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प रूस के लिए काम कर रहे थे या नहीं. गौरतलब है कि ट्रम्प ने मई 2017 में संघीय जांच ब्यूरो (एफबीआई) के तत्कालीन प्रमुख जेम्स बी कोमी को अचानक निलंबित कर दिया था जो राष्ट्रपति पद के लिए ट्रम्प के अभियान में रूसी सरकार के कथित हस्तक्षेप की जांच कर रहे थे. 'न्यूयॉर्क टाइम्स' ने अज्ञात सूत्रों के हवाले से अपनी एक खबर में कहा कि एफबीआई ने ट्रम्प के खिलाफ जांच शुरू की थी. 

डोनाल्ड ट्रंप पर बरसे FBI के पूर्व प्रमुख, कहा- 'शासन और विधि को कर रहे हैं कमजोर'

कानून लागू करने वाली एजेंसियां यह पता लगाना चाहती थी कि क्या अमेरिकी राष्ट्रपति ने जानबूझकर रूस के लिए काम किया या अनजाने में वह मॉस्को के चंगुल में फंस गए थे. समाचार पत्र ने शुक्रवार को अपनी एक खबर में कहा कि ट्रम्प के अपने कृत्य राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए एक संभावित खतरा उत्पन्न कर सकते हैं. 'न्यूयॉर्क टाइम्स' ने कहा, ''सार्वजनिक रूप से इस बात का कोई सबूत सामने नहीं आया है कि ट्रम्प ने गुप्त रूप से रूसी सरकार के अधिकारियों से कोई सम्पर्क किया या उनसे कोई निर्देश लिया.'' बहरहाल व्हाइट हाउस ने 'न्यूयॉर्क टाइम्स' की इस खबर को बकवास करार दिया है.

अमेरिका में मध्यावधि चुनाव से पहले फेसबुक ने ब्लॉक किए 115 अकाउंट

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव ने कहा, ''यह बकवास है. जेम्स कॉमी को पक्षपातपूर्ण रवैये के चलते निलंबित किया गया और उनके डिप्टी एंड्रयू मैककेबे जो उस समय के प्रभारी थे, सब जानते हैं कि वह महा झूठे हैं, जिसे एफबीआई ने निलंबित किया था. पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा जिन्होंने रूस और अन्य विदेशी विरोधियों को अमेरिका को प्रभावित करने दिया उससे अलग राष्ट्रपति ट्रम्प वास्तव में रूस के साथ कठोर रहे हैं.'' एफबीआई ने ट्रम्प के खिलाफ जांच के सिलसिले में काई टिप्पणी नहीं की है.