बाथरूम में छिपकर रोते हैं इस देश के राष्ट्रपति, समर्थकों के सामने खुद किया कबूल
X

बाथरूम में छिपकर रोते हैं इस देश के राष्ट्रपति, समर्थकों के सामने खुद किया कबूल

ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) का कहना है कि जब उन्हें कठिन फैसले लेने होते हैं, तो वो बाथरूम में जाकर रोते हैं. उनकी पत्नी को भी इसका आज तक पता नहीं चल सका है. बोल्सोनारो ने समर्थकों के सामने खुद इसका खुलासा किया है. 

बाथरूम में छिपकर रोते हैं इस देश के राष्ट्रपति, समर्थकों के सामने खुद किया कबूल

ब्रासीलिया: ब्राजील (Brazil) के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) को जब कठिन फैसले लेने होते हैं, तो वह बाथरूम में छिपकर रोते हैं. यह खुलासा खुद बोल्सोनारो ने किया है. बता दें कि अपने अजीबोगरीब बयानों को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहने वाले ब्राजील के राष्ट्रपति की लोकप्रियता निचले पायदान पर पहुंच गई है. वजह है कोरोना महामारी को लेकर उनका रुख. बोल्सोनारो ने कभी कोरोना को गंभीरता से नहीं लिया. हाल ही में उन्हें वैक्सीन नहीं लगवाने के चलते फुटबॉल मैच देखने से रोक दिया गया था.

Wife को नहीं होता पता

‘डेली मेल’ की रिपोर्ट के मुताबिक, राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) ने राजधानी ब्राजीलिया के एक चर्च के बाहर अपने समर्थकों के सामने कहा कि कठिन फैसले से पहले वो बाथरूम में छिपकर रोते हैं. उन्होंने कहा, ‘हम जानते हैं कि हमें क्या करना है. अपने सुरक्षा बलों को कहां भेजना है. मैं कितनी बार घर के बाथरूम में अकेले रोता हूं. मेरी पत्नी (मिशेल बोल्सोनारो) ने ये कभी नहीं देखा’. 

ये भी पढ़ें -जमीन के नीचे बसा है यह अनोखा टाउन, सब कुछ अंडरग्राउंड; मानो या न मानो सच है

फिर Election लड़ेंगे या नहीं?

उन्होंने आगे कहा कि मेरी पत्नी को लगता है कि मैं शक्तिशाली इंसान हूं. मुझे लगता है कि वह काफी हद तक सही भी है. तो आखिर ऐसा क्या होता कि मुझे इस तरह रोना पड़ता है? जब मुझे कठिन फैसले लेने होते हैं, तो मैं ऐसा करता हूं. हालांकि, राष्ट्रपति ने ये नहीं बताया कि वह 2022 में चुनाव (Brazil Elections 2022) लड़ेंगे या नहीं. उनका कार्यकाल जनवरी 2019 में शुरू हुआ था और अब उनकी पार्टी के प्रति लोगों में काफी गुस्सा है. कोविड-19 महामारी के दौरान, उनकी सरकार की अप्रूवल रेटिंग गिरकर 22 फीसदी तक पहुंच गई है, जो कि उनके पदभार संभालने के बाद से सबसे निचले स्तर पर है. 

Inflation ने भी तोड़े रिकॉर्ड

कोरोना के कहर के अलावा ब्राजील में महंगाई और बेरोजगारी भी उच्च स्तर पर हैं. एक सर्वे से पता चलता है कि जायर बोल्सोनारो अपने सबसे बड़े राजनीतिक विरोधी पूर्व वामपंथी राष्ट्रपति लुइज इनासियो लूला डा सिल्वा से अगला चुनाव हार सकते हैं. ब्राजील की सरकार कोरोना वायरस महामारी से किस तरह निपटी, इस मामले में जांच की जा रही है. सीनेट जल्द ही इस पर अपनी अंतिम रिपोर्ट पेश करेगी. बोल्सोनारो को इसमें 11 आपराधिक मामलों का सामना करना पड़ सकता है. 

 

Trending news