यात्रियों से भरी बस में 10 मिनट तक होती रही छेड़छाड़, किसी ने नहीं की महिला की मदद
X

यात्रियों से भरी बस में 10 मिनट तक होती रही छेड़छाड़, किसी ने नहीं की महिला की मदद

ब्रिटेन में एक महिला के साथ यात्रियों से भरी बस में 10 मिनट तक छेड़छाड़ होती रही, लेकिन कोई उसकी मदद को आगे नहीं आया. पीड़िता ने इस संबंध में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. पुलिस बस में लगे CCTV के आधार पर आरोपी की पहचान में जुट गई है.

यात्रियों से भरी बस में 10 मिनट तक होती रही छेड़छाड़, किसी ने नहीं की महिला की मदद

लंदन: महिलाओं (Women) को हर कदम पर छेड़खानी का सामना करना पड़ता है. पब्लिक ट्रांसपोर्ट में तो इसकी आशंका काफी ज्यादा बढ़ जाती है. ऐसी घटनाओं का दुखद पहलू ये होता है कि लोग मदद को आगे नहीं आते. ब्रिटेन (Britain) में रहने वाली एक महिला के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ. यात्रियों से भरी बस में एक शख्स उससे छेड़छाड़ करता रहा और लोग खामोशी साधे रहे. अब पुलिस आरोपी की तलाश में जुट गई है.

देखकर भी किया अनदेखा

'मिरर' की रिपोर्ट के अनुसार, 16 नवंबर को एक महिला ब्रिस्टल सिटी सेंटर से 76 नंबर की बस में सवार हुई थी. महिला की पिछली सीट पर एक शख्स बैठा हुआ था, जो करीब 10 मिनट तक उसे प्रताड़ित करता रहा. यह घटना शाम 5 बजे के आसपास हुई, उस समय बस यात्रियों से भरी हुई थी. इसके बावजूद लोग सबकुछ देखकर भी अनदेखा करते रहे.

ये भी पढ़ें -इस शख्स ने नौ महिलाओं से एक ही मंडप में की शादी, दिया ऐसा तर्क कि हजम करना मुश्किल

Police ने Public से मांगी मदद

बस में लगे CCTV में यह घटना कैद हो गई है. अब पुलिस फुटेज के आधार पर आरोपी की तलाश कर रही है. पुलिस ने आरोपी की तस्वीर जारी करते हुए लोगों से उसे पहचानने की अपील की है. एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘महिला की शिकायत पर हमने जांच शुरू कर दी है. आरोपी की तलाश की जा रही है और जल्द हो उसे पकड़ लिया जाएगा. CCTV फुटेज में फोटो साफ नहीं आई है, लेकिन फिर भी इससे आरोपी की पहचान में आसानी होगी’.  

वीडियो बनाने तक सीमित रहते हैं लोग

पीड़ित महिला ने अपनी शिकायत में बताया कि पिछली सीट पर बैठा शख्स उसे गलत तरह से छूता रहा. यह सब कुछ तब तक चला जब तक कि बस से उतर नहीं गई. महिला ने आरोपी का विरोध भी किया, लेकिन वो अपनी हरकतों से बाज नहीं आया. वैसे, ये कोई पहला मौका नहीं है. ऐसे मामले अक्सर सामने आते रहते हैं जब महिलाओं के साथ छेड़छाड़ होती देखने के बाद भी लोग मदद को आगे नहीं आते. उनका पूरा ध्यान बस वीडियो बनाने तक ही सीमित रहता है. 

 

Trending news