क्या चीन ने बना ली कोरोना की वैक्सीन? छात्रों को मुफ्त में दे रहा टीका

वॉल स्ट्रीट जर्नल ने कंपनी की वेबसाइट और इस वैक्‍सीन के लिए आवेदन करने वाले कुछ छात्रों का हवाला देते हुए कहा है कि चाइना नेशनल बायोटेक ग्रुप कंपनी (CNBG) के इस कदम का मकसद चीन में बनाए गए टीके को लेकर जनता में भरोसा बढ़ाना है.

क्या चीन ने बना ली कोरोना की वैक्सीन? छात्रों को मुफ्त में दे रहा टीका
(रॉयटर्स)

बीजिंग: चीन की सरकारी कंपनी सिनोफार्म उन स्‍टूडेंट्स को मुफ्त में COVID-19 वैक्सीन दे रही है, जो हायर स्‍टडीज के लिए विदेश जा रहे हैं. Sinopharm एक ग्रुप कंपनी लिमिटेड है जो वर्तमान में कोरोना वायरस के 2 वैक्‍सीन विकसित कर रही है.

वॉल स्ट्रीट जर्नल ने कंपनी की वेबसाइट और इस वैक्‍सीन के लिए आवेदन करने वाले कुछ छात्रों का हवाला देते हुए कहा है कि चाइना नेशनल बायोटेक ग्रुप कंपनी (CNBG) के इस कदम का मकसद चीन में बनाए गए टीके को लेकर जनता में भरोसा बढ़ाना है.

ये भी पढ़ें: भारत ने पाकिस्तान के इस दावे को किया खारिज, बताया काल्पनिक और गुमराह करने वाला

वैक्‍सीन के लिए शुरू किया रजिस्‍ट्रेशन 
कंपनी ने छात्रों को ये वैक्‍सीन मुफ्त में बांटने की घोषणा एक वेबसाइट पर की, जहां से छात्र इस वैक्‍सीन को पाने के लिए साइन अप कर सकते हैं. इस वेबसाइट ने सोमवार को कहा कि 4,81,613 लोगों ने वैक्सीन ले ली है, जबकि 93,653 और लोगों ने वैक्‍सीन के लिए आवेदन किया हुआ है. 

सोमवार को ये जानकारी देने के बाद मंगलवार को वेबसाइट डाउन हो गई. इसे लेकर कारण बताया गया कि वेबसाइट पर काम चल रहा (Under Maintenance) है. हालांकि, कंपनी ने इस बारे में अब तक कोई टिप्‍पणी नहीं की है. 

5 वैक्‍सीन पर चल रहा है काम 
चीन ने जुलाई में एक वैक्सीन इमरजेंसी यूज प्रोग्राम शुरू किया था. इसमें सरकारी फार्मास्युटिकल दिग्‍गज कंपनी चाइना नेशनल फार्मास्युटिकल ग्रुप और यूएस-लिस्‍टेड Sinovac Biotech की एक यूनिट द्वारा विकसित किए गए 3 प्रायोगिक वैक्‍सीन ऑफर किए गए थे. वहीं चौथा वैक्‍सीन CanSino Biologics द्वारा विकसित किया जा रहे, जिसे जून में चीनी सेना के उपयोग के लिए अप्रूव किया गया था.

इतना ही नहीं अबू धाबी स्थित ग्रुप 42 नाम की आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और क्लाउड कंप्यूटिंग कंपनी CNBG के साथ साझेदारी में एक वैक्सीन बना रही है, जो क्‍लीनिकल ट्रायल के तीसरे फेस में है.