पुलवामा हमले का अमेरिका में हो रहा विरोध, ट्रंप से की मांग- मसूद अजहर पर कार्रवाई करें

पुलवामा हमले का अमेरिका में हो रहा विरोध, ट्रंप से की मांग- मसूद अजहर पर कार्रवाई करें

इंडो-अमेरिकन कश्मीर फोरम अमेरिका में रहने वाले कश्मीरी पंडितों का प्रतिनिधित्व करता है.

वॉशिंगटन: एक हिंदू-अमेरिकी हिमायती समूह और कश्मीरी पंडितों के एक संगठन ने अमेरिका से आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और उसके नेता मसूद अजहर के खिलाफ कार्रवाई का आग्रह किया है. इसके साथ ही उन्होंने ऐसे आतंकवादी संगठनों को भौतिक और राजनयिक कवच प्रदान करने में पाकिस्तान, सऊदी अरब तथा चीन की कथित भूमिका की निंदा किए जाने का भी अनुरोध किया है. यह अनुरोध जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकवादी हमले के कुछ दिनों बाद किया गया है. इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे.

दोनों समूहों ने अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता के लिए खास अमेरिकी राजदूत सैम ब्राउनबैक को संयुक्त हस्ताक्षर वाला एक पत्र सौंपा. इसमें ट्रम्प प्रशासन से अंतरराष्ट्रीय और घरेलू दोनों स्तर पर कार्रवाई करने का आग्रह किया है ताकि आतंकवादी संगठन की निंदा हो सके.

पत्र में कहा गया है कि हम अमेरिकी सरकार से अनुरोध करते हैं कि वह पाकिस्तान, सऊदी अरब, और चीन द्वारा मसूद अजहर जैसे आतंकवादियों को भौतिक और राजनयिक सुरक्षा प्रदान करने में उनकी भूमिका की सभी अंतरराष्ट्रीय मंचों पर निंदा करे. इस पत्र पर इंडो-अमेरिकन कश्मीर फोरम और हिंदू अमेरिकन फाउंडेशन ने संयुक्त रूप से हस्ताक्षर किए हैं.

इंडो-अमेरिकन कश्मीर फोरम अमेरिका में रहने वाले कश्मीरी पंडितों का प्रतिनिधित्व करता है वहीं हिंदू अमेरिकन फाउंडेशन हिंदू-अमेरिकी समुदाय के लिए एक गैर-लाभकारी संगठन है. 

ये भी देखे

Trending news