भगवान गणेश को विज्ञापन में मेमने का मांस खाते दिखाया, भारत ने जताया विरोध

इस विज्ञापन में गणेश के अलावा यीशु, बुद्ध, थॉर और जीउस को खाने की एक मेज की चारों ओर बैठकर मेमने का मांस खाते हुए देखा जा सकता है.

भगवान गणेश को विज्ञापन में मेमने का मांस खाते दिखाया, भारत ने जताया विरोध
ऑस्ट्रेलिया में दिखाया गया विवादित ऐड (फोटो-वीडियो से लिया गया)

नई दिल्ली: ऑस्‍ट्रेलिया में एक विज्ञापन में भगवान गणेश को मेमने मांस खाते हुए दिखाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. ऑस्ट्रेलिया में रह रहे हिंदुओं की आपत्ति के बाद अब भारत ने भी ऑस्ट्रेलिया के सामने कूटनीतिक विरोध दर्ज कराया है. ऑस्ट्रेलिया के 3 सरकारी विभागों, फॉरेन अफेयर्स, कम्युनिकेशंस और ऐग्रिकल्चर डिपार्टमेंट को कैनबरा स्थित भारतीय उच्चायोग ने 'मीट ऐंड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया' के विवादित ऐड को लेकर विरोधपत्र भेजते हुए इस मामले में ऐक्शन लेने को कहा है.

भारतीय उच्चायोग ने बताया कि सिडनी में भारत के महावाणिज्य दूत ने इस मामले को सीधे मीट ऐंड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया के समक्ष उठाते हुए उनसे इस ऐड को हटाने की मांग की है. भारत के जरिए दिए गए विरोधपत्र में कहा गया है कि इस विज्ञापन से भारतीय समुदाय की धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं.

ये भी पढ़ें- VIDEO : भगवान गणेश को इस विज्ञापन में दिखाया मांस खाते हुए, भड़के लोग

इस विज्ञापन में गणेश के अलावा यीशु, बुद्ध, थॉर और जीउस को खाने की एक मेज की चारों ओर बैठकर मेमने का मांस खाते हुए देखा जा सकता है. विज्ञापन में कहा गया है कि ‘मेमने के मांस को हम सभी खा सकते हैं.’ इंडियन सोसाइटी ऑफ वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के प्रवक्ता नितिन वशिष्ठ ने विज्ञापन को असंवेदनशील करार दिया है. 

एबीसी न्यूज के अनुसार वशिष्ठ ने कहा, ‘‘उन्हें मेमने का मांस खाते हुए और अपने लिए नयी मार्केटिंग नीति पर विचार करते हुए दिखाया गया है. समुदाय के लिहाज से वह बहुत ही असंवेदनशील है.’ लोगों ने इस विज्ञापन को लेकर सोशल मीडिया पर अपना गुस्‍सा दिखाया है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मीट एंड लाइवस्टॉक ऑस्ट्रेलिया (एमएलए) की ओर से जारी विज्ञापन को पहले ही ऑस्ट्रेलियाई मानक ब्यूरो के संज्ञान में लाया जा चुका है.