लंदन ब्रिज हमले में इस्लामिक स्टेट का हाथ, आतंकी संगठन ने ली जिम्मेदारी

इस हमले में से दो लोगों की मौत हो गई थी. बता दें कि पुलिस ने हमलावर को मौके पर ही मार गिराया था. यह घटना शुक्रवार को फिशमॉन्‍गर हॉल में 1.58 बजे हुई. 

लंदन ब्रिज हमले में इस्लामिक स्टेट का हाथ, आतंकी संगठन ने ली जिम्मेदारी

लंदन : लंदन ब्रिज (London Bride) पर शुक्रवार (29 नवंबर) को हुए "आतंकवादी" हमले की जिम्मेदारी आईएसआईएस ने ली है. इस हमले में 28 साल के हमलावर उस्मान खान ने 5 लोगों को चाकू मारा था. इस्लामिक स्टेट ने इस हमले की जिम्मेदारी लेते हुए उस्मान खान को आईएस का लड़का बताया है. हालांकि आईएस ने इसका कोई सबूत नहीं दिया है. लेकिन उसका कहना है कि आतंकी संगठन ने अपने खिलाफ कार्रवाई करने वाले हर देश के खिलाफ जवाब देने के लिए ऐसे लड़ाके तैयार किए हैं.

इस हमले में से दो लोगों की मौत हो गई थी. बता दें कि पुलिस ने हमलावर को मौके पर ही मार गिराया था. यह घटना शुक्रवार को फिशमॉन्‍गर हॉल में 1.58 बजे हुई. लंदन मेट्रोपॉलिटन पुलिस कमिश्नर क्रेसिदा डिक ने बताया था कि पुलिस ने संदिग्ध को पांच मिनट के भीतर मार गिराया. लंदन पुलिस ने कहा था वह इस हमले को एक आतंकी घटना मानकर ही जांच कर रही है. बता दें कि हमलावर उस्मान खान को साल 2012 में आतंकी गतिविधियों के आरोप में गिरफ्तार किया था . जिसके बाद साल 2018 में वह रिहा हो गया था. 

समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया कि लंदन में चाकू से हमला करने वाला संदिग्ध पूर्व आतंकी दोषी भी था. 

लंदन मेट्रोपॉलिटन पुलिस कमिश्नर क्रेसिदा डिक ने कहा था, "दुखी मन से आपको सूचित करना चाहता हूं कि इस हमले में घायल हुए लोगों में से दो को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है." उन्‍होंने बताया कि पुलिसम ने हमलावर को मार गिराया है. पुलिस आयुक्त ने कहा, "हम घटना की बहुत तेजी से जांच कर रहे हैं. हम आपको अपडेट रखेंगे."

उन्‍होंने कहा था कि, "आने वाले दिनों में हम अधिक पुलिस, सशस्त्र और बिना शस्‍त्र के भी पुलिसकर्मियों की ज्‍यादा से ज्‍यादा जगहों पर तैनाती करेंगे. हमारे पुलिसकर्मी सड़कों पर गश्त करेंगे, ताकि लोगों की अधिक सुरक्षा सुनिश्‍चित की जा सके. "

लंदन के मेयर सादिक खान ने कहा था कि पुलिस वर्तमान के हमले के सिलसिले में किसी अन्य व्यक्ति की तलाश नहीं कर रही. घटना के वीडियो में नागरिकों को हमलावर को जमीन पर गिराते हुए और पुलिस के आने तक उसे पकड़े हुए देखा गया.  विशेषज्ञ ऑपरेशंस के सहायक आयुक्त नील बासु ने कहा था, "एक संदिग्ध व्यक्ति को सिटी ऑफ़ लंदन पुलिस के विशेषज्ञ सशस्त्र अधिकारियों ने गोली मार दी और मैं इस बात की पुष्टि कर सकता हूं कि इस संदिग्ध की मौत हो गई." उन्होंने कहा, मैं अब इस बात की पुष्टि करने की स्थिति में हूं कि इसे आतंकवादी घटना घोषित कर दिया गया है.  बसु ने कहा था कि संदिग्ध ने विस्‍फोटक जैकेट जैसा कुछ पहना हुआ था, लेकिन बाद में जांच में वह कोई "विस्फोटक उपकरण" साबित नहीं हुआ. 

लंदन हमले में मारे गए जैक मेरिट कैम्ब्रिज से स्नातक
लंदन ब्रिज पर शुक्रवार को हुए आतंकी हमले में मारे गए एक पीड़ित की पहचान जैक मेरिट (25) के तौर पर हुई है। मेरिट ने कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी से स्नातक किया था। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, शुक्रवार को कैदियों के पुनर्वास पर कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी के सम्मेलन के दौरान 28 वर्षीय उस्मान खान ने दो लोगों की हत्या कर दी थी।मेरिट, 'लर्निग टुगेदर' का कोर्स कोर्डिनेटर था। यह कैदियों के लिए एक पुनर्वास कार्यक्रम है। लंदन ब्रिज के फिशमॉन्गर्स हॉल में हो रहे सम्मेलन की मेजबानी मेरिट ही कर रहे थे। मेरिट के पिता ने अपने बेटे को एक 'बेहतरीन आत्मा' के तौर पर किया है। वहीं हमले में मारी गई अन्य महिला की अभी तक पहचान नहीं हुई है।

(इनपुट एएनआई और आईएएनएस से भी)