close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दक्षिण अफ्रीका: गुप्ता परिवार को अखबार और चैनल शुरू करने की सलाह मैंने दी- जैकब जुमा

पूर्व राष्ट्रपति जुमा ने इसकी पुष्टि की कि उन्होंने ही गुप्ता परिवार को मीडिया एम्पायर खड़ा करने की सलाह दी थी.

दक्षिण अफ्रीका: गुप्ता परिवार को अखबार और चैनल शुरू करने की सलाह मैंने दी- जैकब जुमा
फोटो साभार-Reuters

जोहानिसबर्ग: दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति जैकब जुमा ने कहा कि उन्होंने ही भारतीय मूल के गुप्ता परिवार को 'प्रगतिशील मीडिया ताकत' की स्थापना के लिए दि न्यू एज न्यूजपेपर और एएनएन7 टीवी चैनल शुरू करने के लिए प्रोत्साहित किया था.पूर्व राष्ट्रपति जुमा ने इसकी पुष्टि की कि उन्होंने ही गुप्ता परिवार को मीडिया एम्पायर खड़ा करने की सलाह दी थी.अब वह एम्पायर ध्वस्त हो चुका है.जुमा ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका में वैकल्पिक मीडिया का विचार उनका था क्योंकि देश की मीडिया बहुत ज्यादा 'नकारात्मक व भेदभावपूर्ण थी.'

जुमा के कार्यकाल में हुई गड़बड़ियों के आरोपों की जांच कर रहे जोंडो आयोग के सामने सोमवार को अपनी गवाही में जुमा ने यह बात कही. जोहानिसबर्ग के बिजनेस डे अखबार की रिपोर्ट के अनुसार जुमा ने आयोग को बताया कि उन्होंने ऐसा इसलिए किया क्योंकि दक्षिण अफ्रीकी मीडिया नकारात्मक और अनुचित थी.उन्होंने कहा, "मुझे लगता कि मैंने जो किया वह बहुत सही था.

इसमें कोई कानून नहीं तोड़ा गया था।" उन्होंने गुप्ता मीडिया व उनके चैनल एएनएन7 की तारीफ करते हुए उन्हें प्रगतिशील और भ्रष्टाचार से मुक्त बताया. जुमा ने खुलासा करते हुए कहा कि उन्होंने ही न्यू एज अखबार का नाम रखा था.

उन्होंने जोर देकर कहा कि उन्होंने गुप्ता परिवार के साथ कभी कुछ भी गैरकानूनी नहीं किया.जुमा ने कहा कि गुप्ता परिवार उनकी तुलना में पूर्व राष्ट्रपति थाबो मबेकी और नेल्सन मंडेला के अधिक करीबी थे. जुमा का मानना है कि गुप्ता मीडिया संगठनों को स्थापित करने में उनकी भूमिका थी, जिसके कारण उस परिवार को निशाना बनाया गया.

जुमा की टिप्पणी पूर्व संचार प्रमुख थेम्बा मासेको द्वारा दिए गए बयान के बाद आई है.थेम्बा ने कहा था कि पूर्व राष्ट्रपति ने सरकारी विज्ञापन को दि न्यू एज में छपवाने के लिए गुप्ता मीडिया के अजय गुप्ता से मुलाकात करने से पहले उन्हें बुलाया था और गुप्ता परिवार की मदद करने के लिए कहा था.

जुमा ने मंत्रियों की भर्ती में गुप्ता परिवार की किसी भी तरह की भूमिका से इनकार किया. जुमा ने पिछली फरवरी में राष्ट्रपति पद से इस्तीफा दे दिया था.उनकी जगह सिरिल रामफोसा ने ली. रपटों के मुताबिक, मूलरूप से उत्तर प्रदेश का रहने वाला गुप्ता परिवार 1993 में दक्षिण अफ्रीका चला गया था.