जॉन कैरी ने उत्तर कोरिया से कहा- ईरान से सीख लेनी चाहिए

अमेरिका के विदेश मंत्री जॉन कैरी ने आज कहा कि जब दुनिया परमाणु हथियारों से छुटकारा पाने की कोशिश कर रही है, तब परमाणु हथियारों के लिए उत्तर कोरिया का जूनुन भड़काउपूर्ण और बहुत ही चिंताजनक है। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि उत्तर कोरिया इसे नहीं रोकता है तो उसके गंभीर परिणाम होंगे। 

जॉन कैरी ने उत्तर कोरिया से कहा- ईरान से सीख लेनी चाहिए

वियनतियेन : अमेरिका के विदेश मंत्री जॉन कैरी ने आज कहा कि जब दुनिया परमाणु हथियारों से छुटकारा पाने की कोशिश कर रही है, तब परमाणु हथियारों के लिए उत्तर कोरिया का जूनुन भड़काउपूर्ण और बहुत ही चिंताजनक है। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि उत्तर कोरिया इसे नहीं रोकता है तो उसके गंभीर परिणाम होंगे। 

एशिया प्रशांत सुरक्षा सम्मेलन में भाग लेने के लिए लाओस की राजधानी वियनतियेन पहुंचे कैरी ने कहा कि उत्तर कोरिया की हरकतें न केवल इस क्षेत्र बल्कि अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा के लिए भी गंभीर खतरा है। इस सम्मेलन में उत्तर कोरिया भी हिस्सा ले रहा है। कैरी ने कहा कि उत्तर कोरिया को ईरान से सीख लेनी चाहिए जो अमेरिका का कट्टर दुश्मन है लेकिन उसके साथ भी अमेरिका एवं अन्य देशों ने उसके परमाणु कार्यक्रम की समाप्ति के लिए एक समझौता किया है।

उन्होंने कहा, ‘हजारों सालों के लंबे इतिहास वाले शक्तिशाली और सुविकसित देश ईरान ने फैसला किया है कि वह अपने उपर लगे आर्थिक प्रतिबंधों को हटवाने के लिए परमाणु हथियारों की दिशा में नहीं बढ़ेगा। अन्य देश यह कर सकते हैं। उत्तर कोरिया दुनिया में अकेला एकमात्र देश है जो जिम्मेदारी की ओर अंतरराष्ट्रीय कदम का उल्लंघन कर रहा है, अपना हथियार विकसित करना जारी रखे हुए है, अपनी मिसाइलों का निर्माण जारी रखे हुए है, भड़काऊ हरकतें जारी रखे हुए है।’ 

उत्तर कोरिया का कहना है कि उसे अमेरिकी खतरे से निबटने के लिए परमाणु हथियारों की जरूरत है। अमेरिका के करीब 28,500 सैनिक दक्षिण कोरिया में हैं जो दक्षिण कोरिया के साथ नियमित रूप से सैन्याभ्यास करते हैं। उत्तर कोरिया की मांग है कि अमेरिका अपने सैनिक दक्षिण कोरिया से हटाए तथा संयुक्त अभ्यास बंद करे क्योंकि यह आक्रामक अभ्यास है।