NASA ने खोज निकाली एक अलग दुनिया, जहां समय का पहिया चलता है धरती से उलट

कोरोना संकट (Coronavirus) के बीच अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी NASA ने कुछ ऐसा खोज निकाला है, जिस पर एकदम से यकीन करना मुश्किल है.

NASA ने खोज निकाली एक अलग दुनिया, जहां समय का पहिया चलता है धरती से उलट
फाइल फोटो

वाशिंगटन: कोरोना संकट (Coronavirus) के बीच अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी NASA ने कुछ ऐसा खोज निकाला है, जिस पर एकदम से यकीन करना मुश्किल है. नासा के वैज्ञानिकों का कहना है कि उन्हें कुछ ऐसे साक्ष्य मिले हैं, जो समानांतर ब्रह्मांड (Parallel Universe) होने की तरफ इशारा करते हैं और वहां भौतिकी के नियम हमसे बिल्कुल विपरीत हैं. डेली स्टार (Daily Star) की रिपोर्ट के मुताबिक, भौतिक तरंगों को खोजने के एक प्रयोग में ऐसा कण मिले हैं, जो एक अलग दुनिया के हो सकते हैं, जो बिग बैंग के समय उत्पन्न हुई हो और यह 1960 के दशक के शुरुआती दिनों के विज्ञानिक टीवी शो और कॉमिक्स की कहानी जैसा लगता है.

अंटार्कटिका में किए जा रहे इस प्रयोग में शामिल वैज्ञानिकों ने नासा के अंटार्कटिक इंपल्सिव ट्रांसिएंट एंटीना (Antarctic Impulsive Transient Antenna) या ANITA को अंटार्कटिका से ऊपर ले जाने के लिए एक विशाल गुब्बारे का उपयोग किया, ताकि रेडियो नॉइज की वजह से परिणाम प्रभावित न हों. हाई एनर्जी वाले कण लगातार आउटर स्पेस से पृथ्वी की तरफ आते रहते हैं. इन कणों का पता केवल स्पेस से नीचे आते वक्त लगाया जा सकता है, लेकिन ANITA ने ऐसे भारी कणों, जिसे tau neutrinos भी कहते हैं, का पता लगाया जो पृथ्वी से ऊपर की तरफ आ रहे थे. यानी यह कण समय से पीछे चल रहे हैं, जो एक समानांतर ब्रह्मांड के साक्ष्य की तरफ इशारा करते हैं. हालांकि, सभी NASA की इस थ्योरी से संतुष्ट नहीं हैं. 

रिपोर्ट में कहा गया है कि 13.8 बिलियन साल पहले बिंग बैंग के समय दो ब्रह्मांड बने थे. पहला, जिसमें हम रहते हैं और दूसरा जहां समय विपरीत दिशा में चल रहा है. और यदि इस समानांतर ब्रह्मांड में लोग रहते हैं, तो वे हमारे ब्रह्मांड को उल्टा चलने वाला मानते होंगे. गौरतलब है कि ANITA को खासतौर पर ब्रह्मांड में पाए जाने वाले neutrinos particles के बारे में पता लगाने के लिए विकसित किया गया है.