close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

30,000 विदेशी लड़ाके सीरिया और इराक गए: रिपोर्ट

साल 2011 से करीब 30,000 विदेशी लड़ाके इराक और सीरिया गए हैं जिनमें 250 अमेरिकी भी शामिल हैं। उनमें से ज्यादातर लोग दुर्दांत इस्लामिक स्टेट (IS) आतंकवादी संगठन में शामिल होने की फिराक में हैं।

30,000 विदेशी लड़ाके सीरिया और इराक गए: रिपोर्ट

न्यूयार्क : साल 2011 से करीब 30,000 विदेशी लड़ाके इराक और सीरिया गए हैं जिनमें 250 अमेरिकी भी शामिल हैं। उनमें से ज्यादातर लोग दुर्दांत इस्लामिक स्टेट (IS) आतंकवादी संगठन में शामिल होने की फिराक में हैं।

'न्यूयार्क टाइम्स' की खबर के मुताबिक पिछले 12 महीनों में स्वयंसेवियों की संख्या दोगुनी हो गई है जिससे इस बारे में पुख्ता सबूत मिलता है कि सीमा पर चौकसी सख्त करने, खुफिया जानकारी साझा करने और आतंकवाद रोधी कानूनों को लागू करना नये लड़ाकों की भर्ती को कम नहीं कर पा रहा है।

खुफिया और कानून प्रवर्तन अधिकारियों के हवाले से बताया गया है कि इराक या सीरिया में घुसे या घुसने की कोशिश कर रहे ऐसे लोगों की संख्या में 250 से अधिक अमेरिकी हैं जो पिछले साल के करीब 100 के आंकड़े से अधिक है।

खबर के मुताबिक अमेरिकी खुफिया विश्लेषकों ने एक गोपनीय रिपोर्ट तैयार की है जिसमें यह निष्कर्ष है कि करीब 30,000 विदेशी लड़ाके साल 2011 से 100 से अधिक देशों से इराक और सीरिया गए हैं। एक साल पहले इन्हीं अधिकारियों ने 80 देशों से करीब 15,000 लड़ाके के जाने का अनुमान लगाया था जिनमें से ज्यादातर आईएस में शामिल होने गए थे।

पेंटागन की रिपोटरें के मुताबिक गठबंधन सेना के हमलों में करीब 10,000 आईएस लड़ाके मारे गए हैं ब्रिटेन से 750 से अधिक लोगों ने सीरिया और इराक में आतंकवाद से जुड़ी गतिविधियों में भाग लेने के लिए यात्रा की।