close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की यात्रा के बाद उत्तर कोरिया ने कहा- अपराजेय है यह संबंध

उत्तर कोरिया की सरकारी मीडिया ने चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की प्योंगयांग की यात्रा सम्पन्न होने पर कहा कि उत्तर कोरिया और चीन के संबंध अपराजेय हैं. 

चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की यात्रा के बाद उत्तर कोरिया ने कहा- अपराजेय है यह संबंध
किम योंग और शी चिनफिंग ने मुलाकात की थी. (फाइल फोटो)

सियोलः उत्तर कोरिया की सरकारी मीडिया ने चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग की प्योंगयांग की यात्रा सम्पन्न होने पर कहा कि उत्तर कोरिया और चीन के संबंध अपराजेय हैं. प्योंगयोंग के सरकारी समाचार पत्र ‘रोदोंग सिनमम’ गुरुवार को प्रथम पृष्ठ पर एक तस्वीर छापी जिसमें किम और उनकी पत्नी री सोल जू चीनी राष्ट्रपति का स्वागत करते नजर आ रहे हैं.

‘केसीएनए’ समाचार एजेंसी की खबर के अनुसार किम ने कहा कि शी का दौरा दोनों देशों की विश्व के सामने उनकी ‘‘अपराजेय’’ और ‘‘अपरिवर्तनीय’’ दोस्ती को बढ़ावा देना का ‘‘महत्वपूर्ण अवसर’’ है.

गौरतलब है कि बीते 14 साल में पहली बार चीन का कोई राष्ट्रपति उत्तर कोरिया के दौरे पर आया था. शीत युद्ध-काल के सहयोगियों के बीच संबंध प्योंगयांग के परमाणु कार्यक्रम और बीजिंग द्वारा अमेरिका के प्रतिबंधों का समर्थन करने के बाद बिगड़ गए थे.

शी के इस समय दौरे से अमेरिका नाराज भी हो सकता है क्योंकि एक सप्ताह बाद ही जापान में जी-20 शिखर सम्मेलन होना है, जहां अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और शी के बीच मुलाकात की संभावना है.

विशेषज्ञों का कहना है कि शी के इस दौरे का उद्देश्य ट्रम्प को किम को दिए उनके समर्थन का संकेत देना है.

किम और शी के बीच हुई शिखर वार्ता पर ‘केसीएनए’ ने कहा कि जब "अंतरराष्ट्रीय और क्षेत्रीय स्थितियों में गंभीर एवं जटिल परिवर्तन हो रहे हैं, ऐसे में दोनों नेताओं ने "कोरियाई प्रायद्वीप की स्थिति सहित महत्वपूर्ण और क्षेत्रीय मामलों पर व्यापक बातचीत की." 

एजेंसी ने बताया कि दोनों ने अपने अधिकारियों के बीच उच्च-स्तरीय यात्राओं का आदान-प्रदान जारी रखने और सहयोग को "हर क्षेत्र में" मजबूत करने पर भी सहमति व्यक्त की.