इस देश ने बना ली कोरोना की वैक्सीन, नाम दिया Ox1Cov-19; पहला परीक्षण शुरू

दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 के इलाज के लिए एक वैक्सीन की परीक्षण के तहत सोवेटो शहर के एक निवासी पर इसका पहला प्रयोग किया गया है. 

इस देश ने बना ली कोरोना की वैक्सीन, नाम दिया Ox1Cov-19; पहला परीक्षण शुरू

जोहानिसबर्ग: दक्षिण अफ्रीका (South Africa)  में कोविड-19 (COVID-19) के इलाज के लिए एक वैक्सीन की परीक्षण के तहत सोवेटो शहर के एक निवासी पर इसका पहला प्रयोग किया गया है. वैज्ञानिक इस महामारी का इलाज खोज रहे हैं जिसने पूरी दुनिया में लाखों लोगों की जान ले ली है. ब्रिटेन में ऑक्सफोर्ड जेन्नेर इंस्टीट्यूट में इस संभावित वैक्सीन को विकसित किया गया है. सोवेटो शहर के निवासी म्हलोंगो (24) समेत 2,000 दक्षिण अफ्रीकी नागरिक अंतरराष्ट्रीय अध्ययन में भाग लेंगे. 

विट्स विश्वविद्यालय में वैक्सीन विज्ञान प्रमुख और दक्षिण अफ्रीका आयुर्विज्ञान अनुसंधान के वैक्सीन और संक्रामक रोग विश्लेषणात्मक अनुसंधान ईकाई के निदेशक शबीर माधी ने मंगलवार को प्रायोगिक आधार पर टीका लगाया. टीका लगाए जाने के बाद म्होलोंगो ने कहा कि वह कोविड-19 के बारे में जानना चाहते हैं और इस वायरस का इलाज ढूंढने में डॉक्टरों की मदद करना चाहते हैं. 

माधी ने कहा, "कोविड-19 वैश्विक महामारी के इस चरण में यह दक्षिण अफ्रीका और अफ्रीका के लिए ऐतिहासिक क्षण है. दक्षिण अफ्रीका में सर्दी शुरू होने और सरकारी अस्पतालों पर दबाव बढ़ने के मद्देनजर हमें पहले के मुकाबले अब टीके की अधिक जरूरत है." 
 
दक्षिण अफ्रीका के अलावा ब्राजील के 5 हजार, ब्रिटेन के चार हजार और अमेरिका के कई हजार लोग इस वैक्सीन के परीक्षण में हिस्सा लेंगे. कुल मिलाकर 30 हजार लोगों पर टेस्टिंग की जानी है. फिलहाल पूरी दुनिया में 100 से अधिक कोरोना वैक्सीन पर परीक्षण जारी है. 

अफ्रीकी महाद्वीप में 'ऑक्स1सीओवी-19' नाम की यह पहली वैक्सीन है जिसका इस संक्रामक रोग के इलाज के लिए परीक्षण किया जा रहा है. दक्षिण अफ्रीका में मार्च से लेकर अब तक संक्रमण के कम से कम 1,00,000 मामले सामने आए हैं और 2,000 से अधिक लोग कोरोना वायरस के कारण जान गंवा चुके हैं. 

ये भी देखें: