close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पकड़ी गई ISIS आतंकी बगदादी की बहन, पति और बहू को भी हिरासत में लिया गया

4 नवंबर को बगदादी की बहन तुर्की के हत्थे चढ़ गई. बगदादी की बहन को तुर्की की सेना ने एक छापे के दौरान गिरफ्तार किया जब वो एक कंटेनर में छिपकर बैठी थी. 

पकड़ी गई ISIS आतंकी बगदादी की बहन, पति और बहू को भी हिरासत में लिया गया
65 साल की रसमिया अवाद जिसकी ये एक अकेली तस्वीर है.

अंकारा: 27 अक्टूबर को ISIS का सरगना बगदादी मारा गया. तीन दिन बाद 31 अक्टूबर को अमेरिका ने बगदादी को मारने का वीडियो जारी किया. कल यानी 4 नवंबर को बगदादी की बहन तुर्की के हत्थे चढ़ गई. बगदादी की बहन को तुर्की की सेना ने एक छापे के दौरान गिरफ्तार किया जब वो एक कंटेनर में छिपकर बैठी थी. 65 साल की रसमिया अवाद जिसकी ये एक अकेली तस्वीर है. उसके साथ उसके पति और बहू को भी गिरफ्तार किया गया है. 

सीरिया के अज़ाज़ शहर में एक रेड के दौरान तुर्की की सेना ने पकड़ लिया. रसमिया अवाद जब पकड़ी गई तब उसके साथ 5 बच्चे भी थे. तुर्की के एक अधिकारी ने कहा कि रसमिया अवाद का पकड़ा जाना एक बड़ी सफलता है. रसमिया से ISIS के काम करने के तरीके के बारे में जानकारी मिल सकती है. 

तुर्की के प्रेसीडेंसी के संचार निदेशक, फहरेतिन अल्टुन ने मंगलवार सुबह एक ट्वीट में कहा, "बगदादी की बहन की गिरफ्तारी हमारे आतंकवाद-रोधी अभियानों की सफलता का एक और उदाहरण है." उन्होंने कहा कि अपनी विचारधारा और जड़ों से स्वतंत्र, आतंक के खिलाफ तुर्की का संघर्ष अपनी पूरी ताकत के साथ चल रहा है. इस्तांबुल स्थित समाचारपत्र हुर्रियत ने तुर्की के एक सुरक्षा अधिकारी का हवाला देते हुए कहा, "हम आईएस के अंदरूनी कामकाज पर बगदादी की बहन से खुफिया जानकारी इकट्ठा करने की उम्मीद करते हैं."

LIVE टीवी: 

लेकिन विशेषज्ञों ने कहा है कि यह स्पष्ट नहीं है कि अवाद कितनी उपयोगी खुफिया जानकारी दे सकती है या उसने बगदादी के साथ कितना समय बिताया. हडसन इंस्टीट्यूट में आतंकवाद-रोधी विशेषज्ञ माइक प्रेगेंट ने बीबीसी न्यूज को बताया, "मुझे नहीं लगता है कि वह किसी भी आगामी हमले की योजना में शामिल रही होगी. हालांकि, उसे तस्करी के मार्गो के बारे में जानकारी हो सकती है. उसे ऐसे नेटवर्क की जानकारी हो सकती है जो बगदादी के भरोसेमंद था और जो उसे और उनके परिवार को एक जगह से दूसरी जगह तक जाने में मदद करता था."