close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: भारत की एयर स्ट्राइक से पाकिस्तान में मचा हड़कंप

पाकिस्तान की सरकार से लेकर वहां के मीडिया तक को ये समझ में नहीं आ रहा है कि भारत की इस कार्रवाई का कैसे जवाब दिया जाए. पाकिस्तान में लगातार इमरजेंसी बैठकों का दौर चल रहा है. 

ZEE जानकारी: भारत की एयर स्ट्राइक से पाकिस्तान में मचा हड़कंप

भारतीय वायुसेना के इस हवाई हमले से पूरे पाकिस्तान में हड़कंप मचा हुआ है. पाकिस्तान की सरकार से लेकर वहां के मीडिया तक को ये समझ में नहीं आ रहा है कि भारत की इस कार्रवाई का कैसे जवाब दिया जाए. पाकिस्तान में लगातार इमरजेंसी बैठकों का दौर चल रहा है. वहां की संसद का संयुक्त सत्र भी बुला लिया गया है. और एक बार फिर से खोखली धमकियों और झूठ का सहारा लिया जा रहा है. पाकिस्तान ने भारत द्वारा हमला करने की बात स्वीकारी है. लेकिन इस बात से इनकार किया है कि भारत ने उसके किसी आतंकवादी ठिकाने को निशाना बनाया है. 

भारत के इस हवाई हमले के बाद पाकिस्तान क्या कर रहा है, ये हम आपको आगे बताएंगे. लेकिन उससे पहले आपको ये दिखाना ज़रूरी है कि कैसे पाकिस्तान के मंत्री ही ये तय नहीं कर पा रहे हैं कि उन्हें बोलना क्या है? इस हमले के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और पाकिस्तान के रक्षा मंत्री परवेज़ खट्टक की एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई. लेकिन इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में दोनों होमवर्क करके नहीं आए थे. इसलिए जब पाकिस्तानी मीडिया ने सवाल पूछने शुरू किए, तो दोनों ऐसे बयान देने लगे, जो एक दूसरे से मेल नहीं खाते थे. पहले आप पाकिस्तान के इन दोनों मंत्रियों के अलग अलग बयान सुनिए. 

ये दोनों इमरान ख़ान की सरकार के वरिष्ठ मंत्री हैं. रक्षा मंत्री कह रहे हैं कि भारत के फाइटर Jets 4 से 5 किलोमीटर अंदर आए, जबकि पाकिस्तान के विदेश मंत्री कह रहे हैं कि भारत के विमान LoC से ही चले गए. रक्षा मंत्री कह रहे हैं कि भारतीय विमानों ने बम फेंके, जबकि विदेश मंत्री कह रहे हैं कि भारतीय जहाज़ों ने फायर किए. रक्षा मंत्री कह रहे हैं कि रात का वक्त था, इसलिए पता नहीं चला. जबकि विदेश मंत्री कह रहे हैं कि उनकी एयरफोर्स सतर्क थी. पाकिस्तान के रक्षा मंत्री कह रहे हैं कि आगे एयरफोर्स को साफ निर्देश दिए गए हैं कि अगर फिर हमला हुआ तो कार्रवाई की जाएगी. जबकि विदेश मंत्री कह रहे हैं कि उनकी वायुसेना की सतर्कता की वजह से हमला टल गया. 

यानी पाकिस्तान के इतने वरिष्ठ मंत्रियों को भी समझ में नहीं आ रहा है कि कहना क्या है और भारत की इस कार्रवाई का जवाब कैसे देना है? 

वैसे अगर आपने सुबह से टीवी चैनलों पर ये ख़बर देखी होगी तो आपको पता होगा कि आज दिन भर भारतीय हवाई हमले की इस ख़बर को लेकर Confusion था. भारत के विदेश मंत्रालय द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस करने के बाद ही ये साफ हुआ कि भारतीय एयर फोर्स ने पाकिस्तान में कहां हमला किया? लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि पाकिस्तान पर इस हमले की ख़बर, किसी चैनल ने नहीं बल्कि पाकिस्तान की फौज ने सबसे पहले दी. 

सबसे पहले पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने सुबह 5 बजकर 12 मिनट पर Twitter के ज़रिये ये ख़बर दी कि भारतीय एयर फोर्स ने हमला किया है. उन्होंने Tweet किया कि भारतीय एयरफोर्स ने Line of Control का उल्लंघन किया है. जिसके बाद पाकिस्तानी एयर फोर्स ने तुरंत कार्रवाई की और भारतीय विमान वापस चले गए हैं. 

ये सुबह 5 बजकर 12 मिनट का Tweet था. 

इसके बाद आसिफ गफूर की तरफ से सुबह 7 बजकर 6 मिनट पर दूसरा Tweet किया गया. उन्होंने लिखा कि भारतीय विमान मुज़फ्फराबाद सेक्टर से घुसे थे. पाकिस्तानी एयर फोर्स की समय रहते की गई प्रभावी कार्रवाई की वजह से उन्होंने जल्दबाज़ी में भागते हुए विस्फोटक छोड़ दिए, जो बालाकोट के पास गिरे. किसी भी तरह की Casualty या नुकसान नहीं हुआ है. 

यानी सुबह 7 बजते बजते पाकिस्तान ने ये घोषणा कर दी थी कि उन्हें कोई नुकसान नहीं हुआ. 

इसके बाद सुबह 8 बजकर 41 मिनट पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने कुछ तस्वीरें जारी कीं और ये लिखा कि भारतीय विमानों के विस्फोटक खुले में गिरे. इन तस्वीरों में कुछ पेड़ टूटे हुए दिखाई दे रहे हैं. 

पाकिस्तान की फौज में इस हमले के बाद कितनी हड़बड़ी है, इसका अंदाज़ा आप इस बात से लगा सकते हैं कि पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने करीब 10 बजे एक और Tweet किया. और इस Tweet में उन्होंने ये कहा कि भारत के विमान LOC पार करके 3 से 4 मील अंदर आए. और अपने विस्फोटक उन्होंने खुले में फेंक दिए. और कोई नुकसान नहीं हुआ. 

इसके बाद आज शाम को पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता आसिफ गफूर की एक प्रेस कॉन्फ्रेंस भी हुई. और अपनी इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी वो यही बातें करते रहे. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में पाकिस्तान की तरफ से कुछ नए दावे भी किए गए हैं. वो दावे क्या हैं, ये आपको बता देते हैं. 

पाकिस्तानी फौज का दावा है कि भारत ने कल रात एक नहीं बल्कि तीन तीन जगहों पर हमले की कोशिश की. 

पाकिस्तान का कहना है कि भारत के विमान सबसे पहले लाहौर सियालकोट बॉर्डर की तरफ बढ़ रहे थे, लेकिन जैसे ही पाकिस्तान एयर फोर्स ने उन्हें चुनौती दी, वैसे ही भारतीय विमान वापस चले गए. 

पाकिस्तान का ये भी दावा है कि इसके बाद भारतीय विमानों ने बहावलपुर की तरफ आने की भी कोशिश की, लेकिन उन्हें वहां भी नहीं आने दिया गया. 

और इसके बाद भारतीय विमान मुजफ्फराबाद सेक्टर से आए और ख़ैबर पख्तूनख्वा के बालाकोट में विस्फोटक छोड़े. 

वहां 4 बम गिरे और फिर भारतीय विमान वापस चले गए. 

पाकिस्तानी फौज का दावा है कि उन्हें भारत की इस कार्रवाई के बारे में पता चल गया था. उन्होंने ये भी दावा किया कि उनके Radar पर भारतीय विमान दिख रहे थे. 

लेकिन फिर सवाल ये है कि जब पाकिस्तान को सबकुछ पता चल गया था, तो फिर उन्होंने जवाबी कार्रवाई क्यों नहीं की? वैसे ये सवाल सिर्फ हमारे मन में ही नहीं है, बल्कि पाकिस्तानी मीडिया के मन में भी चल रहा है. आज जब पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे, तो उनसे ये सवाल पूछा गया कि आपने भारत के जहाज़ क्यों नहीं गिराए. इस सवाल का आसिफ गफूर के पास कोई जवाब नहीं था. उन्होंने कैसे ये बात पलटी आप खुद सुनिए. 

पाकिस्तान की बेचैनी... वहां की फौज के प्रवक्ता की प्रेस कॉन्फ्रेंस में भी दिखी. 

अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में उनका सबसे बड़ा Defence भारतीय न्यूज़ चैनलों की Reports थीं. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत ही भारतीय न्यूज़ चैनलों की Reports से ही हुई. भारतीय विदेश मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर उन्होंने कोई बात नहीं की. 

पाकिस्तान की सेना लगातार ये दावा करती रही कि वो इंटरनेशनल मीडिया को उस घटनास्थल पर लेकर जाना चाहते हैं, जहां ये कार्रवाई हुई. लेकिन खराब मौसम की वजह से वो किसी को वहां नहीं ले जा पा रहे हैं. हालांकि इस बीच हमें ये ख़बर भी मिली कि पाकिस्तानी सेना ने इस घटनास्थल की सफाई कर दी है. यहां किसी को भी जाने नहीं दिया जा रहा है. और साथ ही पाकिस्तानी फौज ने आतंकवादियों के शव भी यहां से हटा दिए हैं.

हालांकि पाकिस्तानी फौज की तरफ से एक बार फिर से ये धमकी दी गई है कि इस कार्रवाई पर पाकिस्तान की तरफ से भी प्रतिक्रिया दी जाएगी. और प्रतिक्रिया ऐसी होगी कि भारत आश्चर्य चकित रह जाएगा. 

अब आपको ये बताते हैं कि इस कार्रवाई के बाद पाकिस्तान में कैसे हड़कंप मचा हुआ है? 

पाकिस्तान में सुबह से इमरजेंसी बैठकों का दौर चल रहा है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने एक इमरजेंसी बैठक बुलाई. जिसमें पाकिस्तान के विदेश, रक्षा और वित्त मंत्री शामिल हुए. इसके अलवा सभी सेनाओं के अध्यक्ष और कई और अधिकारी भी इस मीटिंग में शामिल हुए. और आगे की रणनीति तय की गई. 

इसके अलावा पाकिस्तान ने कल अपनी National Command Authority की बैठक भी बुलाई है. 

पाकिस्तानी सरकार ने कल संसद का संयुक्त सत्र बुलाया है, और वो इस मामले को सयुंक्त राष्ट्र के सामने भी उठा सकता है. 

यानी पाकिस्तान पूरी तरह से बौखलाया हुआ है. हालांकि आज पाकिस्तान की संसद में Shame Shame के नारे भी लगे. भारत की कार्रवाई के बाद पाकिस्तान में विपक्षी पार्टियों के सांसद अपनी ही सरकार के खिलाफ Shame Shame के नारे लगा रहे थे. 

पाकिस्तान जानता है कि वो सीधी लड़ाई यानी Conventional Warfare में भारत को नहीं हरा सकता. इसलिए वो Sub Conventional Warfare यानी आतंकवादियों के ज़रिए भारत पर हमले करता है. साथ ही वो परमाणु हमलों की धमकी भी देता रहता है. लेकिन इस बार भारत ने पाकिस्तान के Sub Conventional Warfare का जवाब पाकिस्तान की हवाई सीमा के अंदर घुसकर दिया है. पाकिस्तान पहले से ही आर्थिक रूप से बहुत ज्यादा परेशान है और कंगाल होने की कगार पर है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पूरी दुनिया में घूम घूमकर कर्ज़ मांग रहे हैं. 

पाकिस्तान के दो पड़ोसी देश यानी अफगानिस्तान और ईरान भी पाकिस्तान की आतंकवादी हरकतों से परेशान हैं. और इन दोनों ही सीमाओं पर लगातार झड़पें हो रही हैं. ऐसे में अगर पाकिस्तान भारत से सीधी लड़ाई का मोर्चा भी खोलता है तो उसके लिए ये आत्महत्या करने जैसा होगा. पाकिस्तान की कमज़ोर अर्थव्यवस्था युद्ध का भारी खर्च नहीं उठा सकती. जबकि भारत के लिए ऐसा युद्ध मुंहमांगी मुराद जैसा होगा. क्योंकि Conventional Warfare में भारत न केवल सैनिक ताकत में पाकिस्तान से बहुत आगे है बल्कि हमारी मज़बूत आर्थिक स्थिति भी हमारे पक्ष में है. 

आज वैसे सबके मन में ये सवाल भी है कि अगर पाकिस्तान ने भी भारत पर कोई हवाई हमला कर दिया तो फिर भारत क्या करेगा? भारत के Radar किसी पाकिस्तानी एयरक्राफ्ट को भारतीय सीमा से काफी पहले ही Detect कर लेंगे. और उन्हें रोकने के लिए Air Defence Missile System सरहद पर तैनात हैं. पाकिस्तान की सीमा की तरफ.. श्रीनगर से गुजरात के भुज तक, भारत के एयर बेस हैं. जिन पर सुखोई-30, मिग-21 और जैगुआर जैसे Front line Aircrafts तैयार हैं. यानी पाकिस्तान का कोई एयरक्राफ्ट भारतीय वायुसीमा के अंदर प्रवेश नहीं कर पाएगा. 

वैसे पुलवामा हमले के बाद आपने ये नोट किया होगा कि पाकिस्तान के नेताओं से लेकर पत्रकारों तक, सभी लोग भारत को परमाणु हमले की धमकियां दे रहे थे. ये पाकिस्तान की पुरानी आदत रही है. पाकिस्तान, भारत को बार बार परमाणु हमले की खोखली धमकियां देता रहा है. लेकिन इस बार भारत पर पाकिस्तान की इन धमकियों का कोई असर नहीं पड़ा. और भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान की सरहद के अंदर घुसकर हमला किया.

अब आपको ये बता देते हैं कि इस हवाई हमले के बाद भारत ने कैसे पूरी दुनिया को इस बात की जानकारी दी. 

सबसे पहले भारतीय विदेश मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके पूरे देश और दुनिया को इस हमले की जानकारी दी. 

इसके बाद विदेश मंत्रालय ने करीब 35 देशों के राजदूतों से मुलाकात की और उन्हें इस हमले की जानकारी दी. और उन्हें ये बताया कि ये हमला क्यों ज़रूरी था. 

इन 35 देशों में अमेरिकी महाद्वीप, मध्य एशिया, अफ्रीका, और यूरोप के देश शामिल थे. 

अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, चीन और Russia के राजदूतों को भी इस हवाई हमले की पूरी जानकारी दी गई. 

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अमेरिका के Secretary of State, Mike Pompeo को इस हमले के बारे में जानकारी दी है. 

आज की कार्रवाई के बाद भारतीय वायुसेना की तारीफ हो रही है. लेकिन ये बात भी ध्यान में रखनी होगी कि भारत ने कूटनीतिक स्तर पर भी पाकिस्तान को पूरी दुनिया से अलग थलग कर दिया. इसीलिए भारत के हवाई हमले के बाद पाकिस्तान खुद को एक पीड़ित के तौर पर दिखा रहा है, लेकिन दुनिया उसके साथ खड़ी नज़र नहीं आ रही. 

आज चाहे चीन हो, अमेरिका हो, Russia हो या फिर सऊदी अरब, कोई भी देश पाकिस्तान के साथ नहीं बल्कि भारत के साथ खड़ा होना चाहता है. जिन अरब देशों पर पाकिस्तान ये फख्र करता है कि वो इस्लामिक भाईचारे के नाते हर वक्त उसके साथ खड़े रहेंगे, अब भारत की कूटनीति की वजह से वो देश भी पाकिस्तान के साथ नहीं बल्कि भारत के साथ हैं. 

इस्लामिक देशों का एक संगठन है जिसका नाम है Organisation of Islamic Cooperation यानी OIC.
ये संयुक्त राष्ट्र के बाद दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा संगठन है. इसमें 57 इस्लामिक देश शामिल हैं. 
इस बार इस संगठन की बैठक अबु धाबी में 1 और 2 मार्च को होने वाली है. 
और भारत के लिए गर्व की बात ये है कि इस संगठन की इस बार की बैठक में Guest of Honour भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज हैं.

पुलवामा हमले के बाद देश का सबसे बड़ा मुद्दा था... पाकिस्तान को ठोस जवाब .

विपक्ष ने पुलवामा हमले के बाद से ही लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पाकिस्तान पर कार्रवाई की मांग की थी . 

लेकिन अब देश के सबसे ज्वलंत मुद्दे पर बीजेपी ने विपक्ष की सभी पार्टियों को निरुत्तर कर दिया है . 

आज कश्मीर के क्षेत्रीय दलों को छोड़कर भारत के सभी राजनीतिक दलों ने एक स्वर में सरकार और सेना की प्रशंसा की है . 

पाकिस्तान पर कार्रवाई का मुद्दा देश के मन पर इतना हावी हो गया है कि अब राम मंदिर जैसे बड़े मुद्दे पर चर्चा तक नहीं हो रही. आज सुप्रीम कोर्ट में इस मामले पर एक अहम सुनवाई थी. लेकिन इसके बाद भी राम मंदिर के मुद्दे पर देश में कोई राजनीतिक चर्चा नहीं हुई. पराक्रम और प्रतिशोध के इस माहौल में अब सिर्फ एक ही मुद्दा बचा है.