झारखंड चुनाव: अमित शाह ने कहा चार महीने में बनवाएंगे अयोध्या में भव्य मंदिर

झारखंड में आज चार चरणों के मतदान खत्म हो चुके हैं. अब आखिरी चरण में बाकी बची 16 सीटों पर 20 दिसंबर को वोटिंग है. इस बीच भाजपा के स्टार प्रचारक गृहमंत्री अमित शाह झारखंड के पाकुड़ में चुनाव प्रचार में पहुंचे थे. वहां पहुंचकर गृहमंत्री शाह ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर के मुद्दे को भुनाया और कहा कि अगले चार महीने में यहां विशाल मंदिर बनाया जाएगा.  

झारखंड चुनाव: अमित शाह ने कहा चार महीने में बनवाएंगे अयोध्या में भव्य मंदिर

रांची: झारखंड के चुनावी चक्कर में सभी दल घनचक्कर होते जा रहे हैं. सोमवार को चौथे चरण का मतदान समाप्त होने के बाद अब आखिरी चरण की 16 सीटों पर 20 दिसंबर को चुनाव होना है. इस बीच सभी पार्टियां उसपर नजरें गड़ाई हुई हैं.

भगवा झंडे के प्रचार-प्रसार में निकले गृहमंत्री अमित शाह ने पाकुड़ में जनसभा को संबोधित  करते हुए अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के आधिकारिक फैसले पर लोगों को आश्वासन दिलाया कि यहां एख भव्य मंदिर बनने जा रहा है. उन्होंने कहा कि अगले 4 महीने के भीतर अयोध्या का राम मंदिर बन कर तैयार हो जाएगा. 

शाह ने कहा कि मंदिर नहीं बनने देना चाहती थी कांग्रेस और उनके वकील 

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि "पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या पर अपना सुप्रीम फैसला सुनाया जो पिछले सौ वर्षों से दुनियाभर के भारतीयों की ईच्छा थी. सभी चाहते थे कि राममंदिर उनके जन्मस्थान पर ही बनना चाहिए.

उन्होंने इस मसले पर रोड़ा अटकाने के लिए कांग्रेस और कुछ वकीलों को जिम्मेदार बताया." गृहमंत्री अमित शाह ने कांग्रेस नेता व वकील कपिल सिब्बल पर तंज कसते हुए कहा कि "वे कहते थे कि अभी केस मत चलाइए. मैं उनसे पूछना चाहता हूं क्यों भई, आपके पेट में दर्द क्यों हो रहा है ?"

"कांग्रेस ने न विकास किया और न ही लोगों की भावनाओं का सम्मान किया"

भाजपा के स्टार प्रचारकों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद दूसरे नंबर पर गृहमंत्री अमित शाह ही हैं. चुनाव प्रचार में जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने राम मंदिर निर्माण मुद्दे को खूब कैश किया. कांग्रेस की खिल्ली भी खूब उड़ाई. उन्होंने कहा कि कांग्रेस न विकास कर सकती है और न देश को सुरक्षित ही रख सकती है. और तो और उनको देश की भावनाओं का सम्मान करना भी नहीं आता. 

उन्होंने भाजपा के मुख्यमंत्री रघुबर दास की तारीफ करते हुए कहा कि यहां जबरन धर्म परिवर्तन कराया जाता था. यह एक बड़ा मुद्दा बन चुका था. लेकिन भाजपा की सरकार आने के बाद से सीएम रघुबर दास ने आदिवासी समाज की खूब मदद की और धर्म परिवर्तन को रोकने में बड़ी भूमिका निभाई. 
 
पाकुड़ के लोगों को कहा कि फिर कोई मीर जाफर न ले आना

रैली में शाह ने पाकुड़ की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि यह वीरों की भूमि है. यहां अंग्रेजों को देश छोड़ने की चेतावनी दी गई थी. संथाल हूल की लड़ाई में अंग्रेजों से लड़ते-लड़ते कई आदिवासियों ने जान गंवा दिए, लेकिन अंग्रेजों के दांत खट्टे भी कर दिए थे.

मीर जाफर जो अंग्रेजों की कठपुतली बन चुका था, उसके भी कृत्यों को उजागर किया गया. इस बात पर पाकुड़ के लोगों को आगाह करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसा फिर से न करना कि कोई मीर जाफर चुन कर आ जाए. 

झारखंड में पांचवे चरण की 16 सीटों पर 20 दिसंबर को वोटिंग होगी और इसके तीन बाद यानी 23 दिसंबर को चुनाव परिणाम घोषित हो जाएंगे. तमाम दलों के पास यह आखिरी मौका है दम लगाने का जो शायद झारखंड का सिरमौर कौन का असल चुनाव कर दे.