भाजपा ने केजरीवाल को बताया पलटूराम, शक्तिमान की धुन पर लॉन्च किया गीत

दिल्ली के चुनाव में पोस्टर-ट्विटर वॉर तो जारी ही है, कई बार इनके कंटेंट इतने मजेदार होते हैं कि कहना ही क्या. इसी तरह चुनावी गीत की भी खास भूमिका होती है, लेकिन उपलब्धियों और खामियों को बताने का तरीका भी गीत-संगीत के जरिए हो तो प्रचार और मजेदार हो जाता है. इस वक्त भाजपा और आप दोनों के चुनावी गीत चर्चा में हैं.

भाजपा ने केजरीवाल को बताया पलटूराम, शक्तिमान की धुन पर लॉन्च किया गीत

नई दिल्लीः सारी दुनिया एक तरफ, दिल्ली का चुनाव एक तरफ. मतलब अलग ही लेवल और अलग ही अंदाज है यहां का. इस चुनावी दंगल में सिर्फ दांव-पेंच और उठा-पटक ही नहीं बल्कि गीत-संगीत और भरपूर मनोरंजन भी हासिल होता है. सोशल मीडिया के कारण चुनाव अभियान वैसे भी काफी रोचक हो चले हैं तो दूसरी और राजनेता भी इसे मजेदार बनाने में जी-जान लगा देते हैं.

दिल्ली के चुनाव में पोस्टर-ट्विटर वॉर तो चल ही रही है, कई बार इनके कंटेंट इतने मजेदार होते हैं कि कहना ही क्या. इसी तरह चुनावी गीत की भी खास भूमिका होती है, लेकिन उपलब्धियों और खामियों को बताने का तरीका भी गीत-संगीत के जरिए हो तो प्रचार और मजेदार हो जाता है.

भाजपा ने सीएम को बताया पलटूराम, जारी किया गीत
इस समय सोशल प्लेटफॉर्म पर नया सेंशेसन है दिल्ली का चुनाव और इसकी वजह है भाजपा और आप के बीच चुनावी लड़ाई. कांग्रेस तो खैर समझ ही नहीं पा रही है कि दोनों में से किसका विरोध करें, लेकिन भाजपा को साफ-साफ पता है कि उसे करना क्या है? भाजपा का फिलहाल टारगेट 3 से 43 होना है और इसके लिए वह पैंतरे आजमा रही है.

दिल्ली भाजपा ने सोशल मीडिया पर सीएम केजरीवाल की पोलखोल के लिए एक वीडियो अपलोड किया है. वीडियो में शक्तिमान के टाइटल गीत के आधार पर पलटूराम लिखा गया है और सीएम केजरीवाल को पलटूराम बताया गया है. शक्तिमान पर आधारित गीत होने के कारण यह बचपन की यादों सरीखा है, इसलिए लोग इसे पसंद कर रहे हैं. दूसरी बात यह है कि पलटूराम गीत के जरिए चुनावी अभियान में संगीत और मनोरंजन का एक बार फिर तड़का लगा है. 

इससे पहले केजरीवाल ने जारी किया था चुनावी गीत
आम आदमी पार्टी ने इससे पहले अपनी पार्टी का चुनावी गीत जारी किया था. लागे रहो केजरीवाल गीत में उन्होंने आप के पांच साल का रिपोर्टकार्ड था. बकौल पार्टी गीत में केजरीवाल व आप सरकार के अब तक किए कामों का लेखा-जोखा है. इसके अलावा चुनावी वादे पूरे करने, बिजली हॉफ, पानी माफ जैसे नारे को भी गीत का हिस्सा बनाया गया है. सोशल मीडिया पर आते ही गीत वायरल हो गया.  

लेकिन इसी गीत पर हो गया विवाद
दरअसल, इस गीत के आने के बाद इसके वीडियो का दूसरा वर्जन भी लॉन्च किया गया. उसमें दिखाया गया है कि दिल्ली भाजपा प्रमुख मनोज तिवारी विधानसभा चुनावों के लिए आम आदमी पार्टी के प्रचार गीत की धुन पर डांस कर रहे हैं. हालांकि वह डांस नहीं कर रहे हैं, बल्कि वीडियो एडिट किया गया है. इसमें तिवारी के पहले के गाए हुए गानों के वीडियो डाले गए हैं.

इसमें ‘लगे रहो केजरीवाल’ गाना बज रहा है. इसीके बाद यह गीत विवाद का विषय बन गया. मनोज तिवारी ने कहा, आम आदमी पार्टी को चुनावों के लिए अपने थीम सांग के लिए मेरे वीडियो का इस्तेमाल का अधिकार किसने दिया. दरअसल यह वीडियो आप के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया था. 

तिवारी का 'बेबी बीयर पी के' गीत है चर्चा में
इसके पहले भाजपा नेता मनोज तिवारी का पुराना गीत 'बेबी बीयर पी के' के भी खूब प्रचारित किया जा रहा है. हालांकि यह सीधे तौर पर आम आदमी पार्टी की ओर से नहीं शेयर किए जा रहे हैं, लेकिन इसमें आईटी सेल का हाथ होने से इनकार नहीं किया जा सकता है. दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी राजनीति में आने से पहले भोजपुरी गायक रहे हैं.

आप पर लगा टिकट बेचने का आरोप, संजय सिंह ने सफाई दी