मुख्यमंत्री रघुवर दास की पुलिस कंप्लेंट की हेमंत सोरेन ने

बात ही कुछ ऐसी नज़र आती है कि अगर सच है तो कंप्लेंट तो बनती है. लेकिन क्या ये शिकायत सही है?..  

मुख्यमंत्री रघुवर दास की पुलिस कंप्लेंट की हेमंत सोरेन ने

रांची. एक तरफ चुनावों का दौर चल रहा है. प्रदेश विधानसभा के लिए मतदान चल रहा है दूसरी तरफ पुलिस स्टेशन में एफआईआर भी हो रही है मुख्यमंत्री के खिलाफ. ये एफआईआर लिखाई है झारखंड मुक्ति मोर्चा के सबसे बड़े नेता हेमंत सोरेन ने.

क्या है शिकायत सोरेन की

सोरेन किस बात से कुपित हो गए हैं मुख्यमंत्री रघुवर दास से - ये तो साफ तौर पर अनुमान करना आसान नहीं है, क्योंकि इस पुलिस कंप्लेंट की जड़ चुनावी भी हो सकती है और पार्टी विरोध पर आधारित भी. फिलहाल इस एफआईआर में हेमंत सोरेन की शिकायत है कि मुख्यमंत्री ने उनके खिलाफ जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया है 

''अपमानित किया मुख्यमंत्री ने''

जेएमएम के अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने अपनी पुलिस कंप्लेंट में ये शिकायत भी की है कि मुख्यमंत्री ने उनको अपमानित किया है जिसके कारण एक पूर्व मुख्यमंत्री ने वर्तमान मुख्यमंत्री पर केस कर दिया है. हेमंत सोरेन का आरोप है कि उनको सीएम रघुवर दास ने अपमानित किया है. 

क्या थे जातिसूचक शब्द 

अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि मुख्यमंत्री ने किन जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करके हेमंत सोरेन जैसे बड़े नेता का अपमान किया है. जानकारी के अनुसार जेएमएम नेता ने भी अपनी लिखित शिकायत में उन शब्दों का स्पष्ट विवरण नहीं दिया है जो कि उनके आरोप के अनुसार उनके लिए सीएम ने बोले थे.

''चुनावी सभा में बोला था मुख्यमंत्री ने''

 हैरानी की बात ये है कि झारखंड मुक्ति मोर्चा नेता हेमंत सोरेन के अनुसार उनके खिलाफ इन अपमानजनक शब्दों का प्रयोग मुख्यमंत्री रघुवर दास ने उनसे व्यक्तिगत मुलाक़ात के समय नहीं किया था बल्कि सार्वजनिक तौर पर किया था. यदि ये बात सच है तो मामला और भी गंभीर हो जाता है. सोरेन के अनुसार मुख्यमंत्री ने मिहिजाम में बुधवार को एक चुनावी सभा में रघुवर दास ने उनके लिए जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया था.