जेपी नड्डा की चेतावनी- TMC के गुंडों ने रेप और एसिड अटैक किया, चुप नहीं रहेंगे

पश्चिम बंगाल में पीड़ित बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिवारवालों से बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मुलाकात की. उन्होंने कहा कि टीएमसी के गुंडों ने रेप और एसिड अटैक किया, हम चुप नहीं रहेंगे.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : May 4, 2021, 11:54 PM IST
  • पीड़ित परिवारों से मिले बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा
  • कहा, 'TMC के गुंडों ने रेप, एसिड अटैक किया'
जेपी नड्डा की चेतावनी- TMC के गुंडों ने रेप और एसिड अटैक किया, चुप नहीं रहेंगे

कोलकाता: बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा दो दिनों के दौरे पर आज पश्चिम बंगाल पहुंचे और बंगाल हिंसा में पीड़त बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिवार से मिले. बीजेपी का दावा है कि नतीजों के बाद की हिंसा में उसके 11 कार्यकर्ताओं की जान गई है.

TMC के कार्यकर्ताओं पर रेप का आरोप

भारतीय जनता पार्टी ये भी आरोप लगा रही है कि TMC के कार्यकर्ताओं ने बीजेपी महिला कार्यकर्ताओं से गैंगरेप की कोशिश की और तेजाब से हमला किया. नड्डा ने भाजपा कार्यकर्ताओं के पीड़ित परिजनों के घर जाकर मुलाकात की.

जेपी नड्डा ने TMC पर तानाशाही का आरोप भी लगाया है. नड्डा ने ये भी कहा कि उन्होंने आजाद भारत में चुनाव नतीजों के बाद इतनी असहिष्णुता आजतक नहीं देखी.

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि 'आजाद भारत में चुनाव के नतीजों के पश्चात इतनी असहिष्णुता हमने आज तक नहीं देखी है. करोड़ों भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता खड़े हैं. उनकी शहादत जाया नहीं जाएगी. उनकी विचारधारा की लड़ाई हम आगे लड़कर निर्णायक मोड़ तक पहुंचाएंगे.'

टीएमसी ने आरोपों पर पेश की सफाई

TMC ने इन आरोपों से इनकार करते हुए बीजेपी को ही हिंसा का जिम्मेदार बताया. बता दें, बंगाल हिंसा पर CBI जांच की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट में बीजेपी ने याचिका दायर की है. पश्चिम बंगाल हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट में भी सुनवाई हुई. बीजेपी ने अपनी याचिका में हिंसा की सीबीआई जांच की मांग की.

राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग तेज

वहीं बंगाल में हिंसा और बिगड़ते हालात को देखते हुए राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग तेज हो गई है. इंडिक कलेक्टिव संस्था की ओर से भी सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की गई. पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की गई.

पश्चिम बंगाल की हिंसा पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ को फोन करके चिंता जताई. राज्यपाल ने उन्हें बताया कि नतीजों के बाद हिंसक झड़प बेरोकटोक जारी है. राज्यपाल ने प्रधानमंत्री की गंभीर चिंताओं को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ साझा किया. इसके बाद ममता बनर्जी ने शाम 5 बजे अपने आवास पर अहम बैठक बुलाई.

इसे भी पढ़ें- ममता बनर्जी की तुलना किम जोंग उन से किसने कर दी? जानिए यहां

जिसमें राज्य के मुख्य सचिव, गृह सचिव, डीजीपी और कोलकाता पुलिस कमिश्नर शामिल हुए. ये समीक्षा बैठक करीब 45 मिनट तक चली. बता दें, बुधवार को जिस समय ममता बनर्जी शपथ लेंगी बीजेपी उस वक्त देश भर में धरना देगी. बीजेपी का ये धरना बंगाल हिंसा के खिलाफ होगा.

इसे भी पढ़ें- 'दीदी ओ दीदी': बंगाल में लोकतंत्र है या ठोकतंत्र? राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग तेज

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़