• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 80,722 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 1,45,380: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 60,491 जबकि अबतक 4,167 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • देश भर में 532 घरेलू यात्री उड़ानें संचालित, 39,231 यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया गया
  • रेलवे ने 3060 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया; 40+ लाख यात्रियों को वापस घर पहुंचाया गया
  • एनपीपीए ने किफायती कीमतों पर एन -95 मास्क की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए एडवाइजरी जारी की, निर्माताओं ने कीमतें 47% तक कम कीं
  • लघु उद्योग इकाइयों को वित्तीय सहायता देने के लिए सरकार वित्तीय ऋण देने वाले नए संस्थानों की तलाश कर रही है: एमएसएमई मंत्री
  • यूजीसी के MOOCs प्लेटफ़ॉर्म पर एनिमेशन पाठ्यक्रम की शुरुआत , घर पर रह कर सीखें एक नया कौशल !
  • सुझाव: स्वास्थ्य में समग्र सुधार के लिए स्थानीय उत्पादित खाद्य पदार्थों को अपनी जीवन शैली का हिस्सा बनाएं

शनिवार से दूरदर्शन पर 'रामायण' का प्रसारण

पिछले लंबे समय से यह कयास तो लगाए ही जा रहे थे कि टीवी पर रामायण और महाभारत का प्रसारण किया जाने वाला है. अब आज सरकार ने इस बात पर मुहर भी लगा दी है. रामानंद सागर की रामायण हर मायनों में ऐतिहासिक थी जो आज भी लोगों के दिलों-दिमाग पर छाई हुई है. 

 शनिवार से दूरदर्शन पर 'रामायण' का प्रसारण

नई दिल्ली: कोरोना से बचाव के लिए पूरे देश में 14 अप्रैल तक के लिए लॉकडाउन कर दिया गया है. लोगों को घरों में रहने के लिए कहा गया है, इस बीच तमाम सितारे और खिलाड़ी भी अपने फैंस के साथ क्वारनटीन में वे कैसे समय बीता रहे हैं उसे फैंस के साथ साझा कर रहे हैं. 

इसी बीच लोगों की मांग को देखते हुए सुचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर लोगों को खुशखबरी दी है. प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि लोगों की मांग को देखते हुए शनिवार 28 मार्च से रामायण का फिर से प्रसारण दूरदर्शन नेशनल चैनल पर शुरू किया जा रहा है. रामायण दो समय पर प्रसारित किया जाएगा. जिसमें पहला एपिसोड सुबह 9-10 बजे और दूसरा रात के 9-10 बजे तक प्रसारित किया जाएगा.

लॉकडाउन में सितारों की 'कोरोना पिक्चर'.

लंबे समय से ट्वीटर पर कर रहा था ट्रेंड

पिछले कुछ दिनों से ट्वीटर पर रामायण और महाभारत काफी ट्रेंड कर रहा था और लोग इसके पुनः प्रसारण की मांग कर रहे थे. बता दें कि रामानंद सागर द्वारा निर्मित रामायण को हर घर में देखा जाता था और इतना ही नहीं इसमें काम करने वाले कलाकारों को किसी देवी या देवता से कम नहीं समझा गया था. रामायण के प्रसारण की घोषणा के बाद अब लोग महाभारत के भी प्रसारण किए जाने का इंतजार कर रहे हैं.