भारतीय थल सेना का 73वां स्थापना दिवस आज, देश कह रहा- जय हिंद-जय हिंद की सेना

कभी ईस्ट इंडिया कंपनी की सैन्य ताकत के तौर पर भारतीय आर्मी का गठन 1776 में हुआ था. 15 जनवरी 1949 को थल सेना पूरी तरह ब्रिटिश हस्तक्षेप से मुक्त हुई और भारत के सैन्य गौरव हासिल हुआ. आजल उसी गौरव के पल को याद करने का दिन है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jan 15, 2021, 11:46 AM IST
  • 15 जनवरी 1949 सेना ब्रिटिश थल सेना से मुक्त हुई थी भारतीय सेना
  • राजनेताओं ने सेना के शौर्य और पराक्रम को किया नमन
भारतीय थल सेना का 73वां स्थापना दिवस आज, देश कह रहा- जय हिंद-जय हिंद की सेना

नई दिल्लीः भारतीय थल सेना शुक्रवार को अपना 73वां स्थापना दिवस मना रही है. 15 जनवरी 1949 को स्वतंत्र भारत की सैन्य ताकत के रूप में संगठित हुआ सेना पहली बार पूरी तरह ब्रिटश थल सेना से मुक्त हुई थी. यह वह दिन था जब भारत ने अपने शौर्य को सैन्य रूप में पहचाना था. 

जिस शक्ति के तौर पर भारत विश्व में पहचाना जाता है थल सेना उसी शक्ति की आत्मा का मूल है. इसमें शहीदों की शहादत के मूल्य का गौरव, मातृभूमि के प्रति जान लुटा देने की हिम्मत है और हर हाल में देश की रक्षा सर्वोपरि मानने की जुनून है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को इसी जज्बे को सलाम किया. पीएम मोदी ने कहा समस्त देशवासियों की ओर से भारतीय सेना को मेरा नमन. मां भारती की रक्षा में पल-पल मुस्तैद देश के पराक्रमी सैनिकों और उनके परिजनों को सेना दिवस की हार्दिक बधाई. हमारी सेना सशक्त, साहसी और संकल्पबद्ध है, जिसने हमेशा देश का सिर गर्व से ऊंचा किया है. समस्त देशवासियों की ओर से भारतीय सेना को मेरा नमन. 

ईस्ट इंडिया कंपनी ने किया था थल सेना का गठन
कभी ईस्ट इंडिया कंपनी की सैन्य ताकत के तौर पर भारतीय आर्मी का गठन 1776 में हुआ था. देश में उस वक्त कंपनी शासन था और  व्यापार के बहाने देश में घुस आई ब्रिटानी हुकूमत अपनी सुरक्षा के लिए फौज को जरूरी समझती थी. तब फौज में बड़े पैमाने पर भारतीयों की भी भर्ती हुई, लेकिन बड़े पदों पर अंग्रेज अफसरों को ही वरीयता मिलती थी.

भारतीय सैनिक शांतिकाल में उन अफसरों की जी हजूरी करने को मजबूर होते थे. इसके अलावा उनकी ताकत का प्रयोग अपने ही देशवासियों के विरुद्ध होता था. 1857 का पहला विद्रोह के कई कारणों में इस तरह का असंतोष भी एक कारण था. 

 

देश 1947 में आजाद हो गया, लेकिन सेना को संप्रुभता 15 जनवरी 1949 को दी गई. इस तरह से यह दिन देश के लिए सैन्य स्वतंत्रता का होता है. इसलिए भारतीय इतिहास में लोकतांत्रिक नजरिए से भी 15 जनवरी का दिन अपना खास महत्व रखता है. शुक्रवार को राजनेताओं ने भारतीय थल सेना के 73वें स्थापना दिवस की बधाई दी साथ ही देश के वीर जवानों की वीरता को सलाम किया. किसने क्या कहा, डालते हैं एक नजर-

राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति ने शहीदों को किया नमन
राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि हम उन बहादुरों को याद करते हैं जिन्होंने राष्ट्र की सेवा में सर्वोच्च बलिदान दिया. उन्होंने वीर सैनिकों की शहादत को भी नमन किया. उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने सेना दिवस के मौके पर कई ट्वीट करके जवानों तक अपना बधाई संदेश पहुंचाया. उन्होंने ट्वीट किया कि सेना दिवस के अवसर पर भारतीय सेना के अधिकारियों,सैनिकों,पूर्व सैनिकों को शुभकामनाएं देता हूं.

अमर बलिदानी सैनिकों की पुण्य स्मृति को शतश: वंदन, आप के परिजनों के धैर्य को नमन करता हूं. देश की सीमाओं की रक्षा हो या आपदा राहत,राष्ट्र आपके शौर्य और साहस पर सदैव विश्वास करता है. एक और ट्वीट में उपराष्ट्रपति ने लिखा कि हमारी सशस्त्र सेनाओं के लिए आवश्यक उपकरण उपलब्ध कराना, उनका और उनके परिजनों का सम्मान करना कृतज्ञ राष्ट्र का दायित्व है. जय हिंद. 

केंद्रीय गृहमंत्री ने किया ट्वीट
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सेना को पराक्रम और शौर्य का प्रतीक बताया. उन्होंने ट्वीट में लिखा कि भारतीय सेना शौर्य और पराक्रम की प्रतीक है. देश के बहादुर सैनिकों के अदम्य साहस और बलिदान को नमन करता हूं. भारतीय सेना शौर्य और पराक्रम की प्रतीक है. देश के बहादुर सैनिकों के अदम्य साहस और बलिदान को नमन करता हूं.

राष्ट्र के प्रति उनकी नि:स्वार्थ सेवा और समर्पण पर सभी देशवासियों को गर्व है.  हमारे वीर जवानों, पूर्व सैनिकों और उनके परिवारों को ‘थल सेना दिवस’ की हार्दिक शुभकामनाएं

रक्षामंत्री ने भी सेना के शौर्य को याद किया
रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भी सेना और सैनिकों के शौर्य और पराक्रम को याद किया उन्होंने ट्वीट किया कि आर्मी दिवस के मौके पर भारतीय सेना के सैनिकों और उनके परिवारों को नमन करता हूं.
राजनाथ सिंह ने ट्वीट में लिखा - 'Greetings to Indian Army personnel and their families on the occasion of Army Day. The nation salutes the Indian Army’s indomitable courage, valour and sacrifices. India is proud of their selfless service to the nation'

सीएम योगी और सीएम केजरीवाल ने भी दी बधाई
उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ ने सेना दिवस की बधाई दी. उन्होंने ट्वीट किया कि अदम्य साहसी, अति अनुशासित, अद्भुत पराक्रमी भारतीय सेना के वीर जवानों, पूर्व सैनिकों व उनके परिजनों को सेना दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं. मातृभूमि की रक्षा हेतु प्रति पल अपना सर्वस्व अर्पण करने को तत्पर भारतीय सेना के जवानों की कर्तव्यनिष्ठा व निःस्वार्थ सेवा भावना पर हमें गर्व है. 


इसके अलावा दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी सेना को शुभकामनाएं भेंट कीं. उन्होंने ट्वीट किया कि अदम्य साहस और शौर्य के साथ देश की रक्षा करने वाले हमारे वीर जवानों और सभी देशवासियों को सेना दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं.

यह भी पढ़िएः Farmer Protest: कृषि कानूनों पर SC की कमेटी से भूपेंद्र सिंह मान ने खुद को किया अलग

देश और दुनिया की हर एक खबर अलग नजरिए के साथ और लाइव टीवी होगा आपकी मुट्ठी में. डाउनलोड करिए ज़ी हिंदुस्तान ऐप, जो आपको हर हलचल से खबरदार रखेगा... नीचे के लिंक्स पर क्लिक करके डाउनलोड करें-

Android Link - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.zeenews.hindustan&hl=en_IN

iOS (Apple) Link - https://apps.apple.com/mm/app/zee-hindustan/id1527717234

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़