बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के अगले मुख्यमंत्री, फिर दिखा येदियुरप्पा का दम

कर्नाटक के अगले मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई होंगे. वो अब तक येदियुरप्पा की सरकार में गृह मंत्री थे, बसवराज एस बोम्मई येदियुरप्पा की पहली पसंद थे. मतलब साफ है कि भाजपा ने येदियुरप्पा को संतुष्ट करने वाला फैसला किया है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jul 27, 2021, 08:30 PM IST
  • बसवराज बोम्मई का मुख्यमंत्री बनना तय
  • येदियुरप्पा की पहली पसंद को मिलेगी कमान
बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के अगले मुख्यमंत्री, फिर दिखा येदियुरप्पा का दम

नई दिल्ली: बसवराज बोम्बई (Basavaraj Bommai) कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री होंगे. बीजेपी विधायक दल की बैठक में उन्हें नेता चुना गया है. आपको बता दें, बोम्मई लिंगायत समुदाय से आते हैं और वो येदियुरप्पा सरकार में गृह मंत्री थे, यही वजह है कि वो येदियुरप्पा की पहली पसंद थे.

बसवराज बोम्बई होंगे अगले सीएम

कर्नाटक के नये मुख्यमंत्री के चुनाव के लिए बेंगलुरू में विधायकों की बैठक हुई. कैपिटल होटल में 7 बजे के बाद शुरू हुई. इस बैठक में पर्यवेक्षक धर्मेंद्र प्रधान और जी किशन रेड्डी और कर्नाटक के प्रभारी अरुण सिंह शामिल हुए. इसी बैठक में बोम्मई को विधायक दल का नेता चुना गया.

पहले से ही ये लगभग तय था कि नया मुख्यमंत्री लिंगायत वर्ग से ही होगा. जिन दो नामों को ले कर चर्चा थी उनमें बसवराज बोम्मई और अरविंद बेलाड शामिल थे. बेलाड और येदियुरप्पा के बीच जबरदस्त विवाद था और कर्नाटक के गृह मंत्री बसवराज एस बोम्मई येदियुरप्पा की पहली पसंद थे. ऐसे में उनकी नाम पर मुहर लग गया.

हाल ही में येदियुरप्पा ने एक बयान में कहा था कि 'बोम्मई कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एसआर बोम्मई के बेटे हैं.' हालांकि वो अन्य सवालों से बचते नजर आए थे. हालांकि अब ये साफ हो गया कि कर्नाटक में येदियुरप्पा की पसंद भाजपा के लिए बेहद मायने रखती है.

बुधवार को होगा शपथ ग्रहण समारोह

कल यानी बुधवार 28 जुलाई को कर्नाटक में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया जाएगा. इस दौरान बसवराज बोम्बई (Basavaraj Bommai) पद एवं गोपनीयता की शपथ लेंगे. 61 वर्षीय बसवराज बोम्मई येदयुरप्पा के करीबी है और येदयुरप्पा के दोनों मंत्रिमंडल में मंत्री रहे है. पेशे से इंजीनियर है.

लिंगायत समुदाय से आने वाले नेताओं पर हर किसी की निगाहें टिकी थी, क्योंकि यह समुदाय राज्य की राजनीति में एक बड़ा स्थान रखता है. वहीं, येदियुरप्पा खुद भी इसी समुदाय से आते हैं. ऐसे में वो खुद ये चाहते थे कि उनकी कुर्सी पर बैठने वाला अगला नेता इसी समुदाय का हो और आखिरकार वही हुआ.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़