• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 97,581 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 1,98,706: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 95,527 जबकि अबतक 5,598 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • पीएम ने एमएसएमई को सशक्त बनाने के लिए चैंपियन नामक प्रौद्योगिकी मंच लॉन्च किया
  • कोविड-19 के बीच सुरक्षित यात्रा सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने घरेलू यात्रियों के लिए दिशानिर्देश जारी किए
  • कैबिनेट ने कृषि और संबद्ध गतिविधियों के लिए अल्पावधि ऋण को चुकाए जाने की समय सीमा बढ़ाने को मंजूरी दी
  • कैबिनेट ने संकटग्रस्त MSME के लिए 20,000 करोड़ रुपये के प्रावधान को मंजूरी दी, इससे संकट में फंसे 2 लाख एमएसएमई को मदद मिलेगी
  • कैबिनेट ने एमएसएमई ने परिभाषा के संशोधन को मंजूरी दी, मध्यम उद्यमों के लिए टर्नओवर की सीमा को संशोधित कर 250 करोड़ किया गया
  • ECLGS/MSME से संबंधित प्रश्नों और अन्य उपायों के लिए DFS ने ट्विटर हैंडल @DFSforMSMEs का शुभारंभ किया
  • वन नेशन वन कार्ड योजना में 3 और राज्य शामिल किए गए: खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री
  • डीआरडीओ ने पीपीई और अन्य सामग्रियों के कीटाणुशोधन के लिए अल्ट्रा स्वच्छ विकसित किया

मूत्र से भरी बोतलें फेंक कर क्या दिल्ली में कोरोना फैलाने की साजिश कर रहे हैं जमाती?

 दिल्ली के द्वारका के सेक्टर 16B के दिल्ली सरकार के क्वारंटाइन सेंटर में यूरिन से भरी बोतलें फेंकी गई हैं. फ्लैट नम्बर 109 से 112 में रुके जमातियों पर यूरिन से भरी यह बोतलें फेंकने का आरोप है. यह घटना मंगलवार शाम 6 बजे की है. क्या ये दिल्ली में कोरोना फैलाने की साजिश है?

मूत्र से भरी बोतलें फेंक कर क्या दिल्ली में कोरोना फैलाने की साजिश कर रहे हैं जमाती?

नई दिल्ली: भारत ने कोरोना वायरस पर नियंत्रण पाना शुरू कर दिया था. यहां इसके मामले आना भी कम हो गए थे. अचानक एक दिन निजामुद्दीन के जमातियों की देशभर में फैलने की घटना सामने आ गई. इसके बाद एकाएक कोरोना संबंधित मामलों में काफी तेजी आ गई. जमाती जहां-जहां भी क्वारंटाइन में रखे गए हैं, वहां से उनके परेशान करने की खबरें लगातार सामने आ रही हैं. उन्होंने अस्पतालों में नर्सों से बदमिजाजी की तो कई जगहों पर अनाप-शनाप हरकतें भी कीं. दिल्ली में ऐसा ही एक मामला फिर सामने आया है. 

यूरिन भरी बोतलें फेंकी गईं
ऐसे समय जब कोरोना वायरस की महामारी को रोकने के लिए दिल्‍ली सहित पूरे देश में युद्ध स्‍तर पर प्रयास किए जा रहे हैं, दिल्ली के द्वारका के सेक्टर 16B के दिल्ली सरकार के क्वारंटाइन सेंटर में यूरिन से भरी बोतलें फेंकी गई हैं. फ्लैट नम्बर 109 से 112 में रुके जमातियों पर यूरिन से भरी यह बोतलें फेंकने का आरोप है. यह घटना मंगलवार शाम 6 बजे की है. यह बोतलें फ्लैट के पीछे पानी के पम्प के पास बरामद हुईं.

माना जा रहा है कि  यूरिन फेंककर कोरोना फैलाने की कोशिश की गई. क्वारंटाइन सेंटर में तैनात सिविल वॉलिंटियर्स ने यह जानकारी दी. दिल्ली के द्वारका नार्थ पुलिस थाने में क्‍वेरेंटीन सेंटर के असिस्टेंट डायरेक्टर की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है.

सीएम योगी का सख्त एक्शन, नोएडा लखनऊ समेत 15 जिलों के कोरोना हॉटस्पॉट इलाके सील

नर्सों को कर रहे थे परेशान
इसके पहले गाजियाबाद के एमएमजी में भर्ती जमाती लगातार अस्पताल स्टाफ के साथ दुर्व्यवहार कर रहे थे. शिकायत मिली थी कि ये लोग नर्सों के सामने ही कपड़े बदलने के लिए कपड़े खोल देते थे. अस्पताल के सीएमएस रविंद्र राणा ने बताया था कि तबलीगी जमात से जुड़े जो कोरोना संदिग्ध भर्ती किए गए थे, उनका व्यवहार बहुत गलत है. रविंद्र राणा ने बताया कि जमाती लगातार अश्लील अश्लील कर रहे थे. ये लोग अस्पताल स्टाफ के साथ दुर्व्यवहार करते हैं, नर्सों के सामने ही कपड़ा बदलने लगते थे और छोटी-छोटी बात पर हंगामा करते थे.

दिल्ली में जमातियों ने टेस्ट से किया था इनकार

दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से निकाले गए लोग देश के विभिन्न राज्यों के अस्पतालों में भर्ती कराए गए थे. इनमें से बड़ी संख्या में दिल्ली और गाजियाबाद में भी जमात में शामिल होने वाले लोग भर्ती है. दिल्ली में इलाज करा रहे जमातियों ने टेस्ट कराने से इनकार किया था. इसके बाद दारुल उलूम फिरंगी महल लखनऊ ने एक फतवा जारी किया था, जिसमें इस्लाम को मानने वालों को कोरोना का टेस्ट कराने के लिए कहा गया है.

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने WHO को दिए जाने वाले पैसे पर लगाई रोक